वैलनेस
स्टोर

कहीं आप भी सेक्‍सुअल शेम की शिकार तो नहीं! जानिए क्‍या है ये और इससे कैसे बाहर आना है

Published on:8 February 2021, 19:00pm IST
हम ऐसे माहौल में पले-बड़े हैं जहां सेक्स को अपराध समझा जाता है। यह शारीरिक ज़रुरत है, इसमें शर्माने वाली कोई बात नहीं है! आइये जानते हैं कि सेक्सुअल शेम क्या है और आपको क्यों इसे त्याग देना चाहिए।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
सेक्‍सुअल शेम से बाहर आना जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कोई भी व्यक्ति जो भारत में पला बढ़ा है, वह यह स्वीकार करेगा कि सेक्स के बारे में हमेशा धीमे स्वर में बात की जाती है। सेक्स करना, हालांकि स्वाभाविक हो सकता है, लेकिन इसे हमेशा एक नकारात्मक रूप में देखा जाता है। हमें सिखाया जाता है कि सेक्स के बारे में बात करना या उसमें लिप्त होना एक पाप है। इसने हम में से बहुतों को, ऐसा करने या सोचने के लिए अपराधी बना दिया है।

हालांकि, सच्चाई इससे बहुत अलग है। यौन इच्‍छा सामान्य ही नहीं, बल्कि स्वस्थ भी होती हैं। इसके बारे में शर्मिंदा होने की कोई बात नहीं है।

कैजुअल सेक्स में लिप्त होने से लेकर एक ही सेक्स पार्टनर के साथ अपनी कामुकता को दर्शाना, दोनों ही आपके हाथों में है। यह आपका शरीर है और आपको इसके बारे में चुनाव करने का पूरा अधिकार है।

हम आधुनिकता के मामले में इतने आगे आ गए हैं, लेकिन शायद ही कोई सेक्सुअल शेम के बारे में बात करता है।

अमूमन, सेक्सुअल शेम केवल एक जेंडर तक सीमित नहीं होती। पर यह महिलाओं में ज्यादा देखी जाती है। पुरुष कई महिलाओं के साथ सो सकते हैं और अपनी मर्दानगी प्रदर्शित कर सकते हैं। पर अगर यह एक महिला द्वारा किया जाता है, तो समाज उसे कुछ अपमानजनक शब्दों के साथ लेबल कर देता है। सेक्स के बारे में चर्चा न करना सेक्सुअल शेम को और बढ़ावा देता है।

अगर आप एक-दूसरे से प्‍यार करते हैं तो असहमति का सम्‍मान करना भी सीखें। चित्र : शटरस्‍टॉक
अगर आप एक-दूसरे से प्‍यार करते हैं तो असहमति का सम्‍मान करना भी सीखें। चित्र : शटरस्‍टॉक

इससे पहले कि हम सेक्सुअल शेम के अन्य पहलुओं पर चर्चा करें, हमें इसकी परिभाषा देखनी चाहिए। सीधे शब्दों में कहें तो जब कोई अपनी शारीरिक ज़रूरतों के कारण खुद को गलत ठहराने लगता है, तो इसे सेक्सुअल शेम कहते हैं।

सेक्सुअल शेम की शुरुआत कैसे होती है

यौन संकोच का बीज हमारे दिमाग में तब डाला जाता है जब हम छोटे बच्चे होते हैं। हम अपने माता-पिता, रिश्तेदारों, समाज और संस्कृति से सूक्ष्म संदेश प्राप्त करते हैं कि सेक्स बुरा है। हम में से ज्यादातर लोगों ने शायद इस बात को स्वीकार भी कर लिया है कि सेक्स करना बुरा है।

सेक्सुअल शेम तब और भी ज्यादा बढ़ जाती है जब, हम अपनी रोज़मर्रा की ज़रूरतों में इसे शामिल करने लगते हैं और यह समझने लगते हैं कि ऐसी भावनाएं वाकई गलत हैं।

हम बता रहें हैं ऐसे पांच संकेत जिनकी मदद से आप अपने अंदर सेक्सुअल शेम को समझ सकती हैं

अगर आप अपने बारे में इन्सिक्योर हैं

अगर आप खुद के लुक्स को लेकर के असुरक्षित हैं और खुद के जननांगों के साथ कंफर्टेबल महसूस नहीं करती हैं, तो आप शर्म की भावना से ग्रसित हैं और सेक्स के दौरान बॉडी इन्सिक्योर फील कर सकती हैं।

आपको बॉडी शेमिंग से बाहर आने की जरूरत है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपको बॉडी शेमिंग से बाहर आने की जरूरत है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अजीब बॉडी लैंग्वेज

आपकी बॉडी लैंग्वेज आपके बारे में बहुत कुछ कहती है, जब यौन शर्म की बात आती है। अगर आप अपनी बाहों को अक्सर अपने छाती की ओर ढक लेती हैं या संभोग के दौरान अपने पार्टनर से नज़रें नहीं मिला पाती हैं, तो आप अपनी भावनाओं को खुल कर व्यक्त करने में असमर्थ हैं और इससे आपके रिश्ते पर असर पड़ सकता है।

यौन असंतोष

जब आप शर्म की भावनाओं का अनुभव करती हैं, तो आप सेक्स का उतना आनंद नहीं उठा सकती जितना आप चाहती हैं। आपकी यौन भावनाएं दमित रहेंगी और यह सेक्स को प्रभावित करेंगी। इसके अलावा, शर्म करने से आपके लिए अपने साथी के साथ संवाद करना मुश्किल हो सकता है और सेक्स को कम आनंददायक बना सकता है।

इंटिमेसी में परेशानी

जब आप अपने यौन जीवन पर पहरे बैठा देती हैं, तो आप अपने साथी के साथ शारीरिक और भावनात्मक अंतरंगता का आनंद नहीं ले सकतीं। आप खुद को सीमाओं में बांध सकती हैं जो अंतरंगता को सीमित करके एक रिश्ते को प्रभावित करेगा।

गैसलाइटिंग एक साइकोलॉजिकल टर्म है, जिसमें आपका पार्टनर आपके ब्रेन को कंट्रोल करने की कोि‍शिश करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
अपराध बोध, ग्‍लानि या गिल्‍ट, ऐसी भावना है जो आपके आत्मविश्वास को नष्ट कर सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आपको सेक्स के बारे में सोचना बुरा लगता है

यदि आप सेक्स करने के बाद पछतावे की भावना का अनुभव करती हैं, तो इस बात की अधिक संभावना है कि आपको सेक्सुअल शेम है। यह न केवल आपके आत्मविश्वास के लिए हानिकारक है, बल्कि आपके रोमांटिक रिश्ते को भी प्रभावित करता है।

तो क्‍या सेक्‍सुअल शेम की भावना को दूर किया जा सकता है?

आपको अपने डर और शर्म का खुशी से सामना करना होगा। आप वाइब्रेटर का उपयोग करके खुद को उत्तेजित कर सकती हैं, अक्सर हस्तमैथुन कर सकती हैं और बिना अपराधबोध के अपनी कामुकता महसूस कर सकती हैं। पर आप ऐसा तभी कर सकती हैं जब आप शर्म को छोड़ने के लिए तैयार हों।

आप खुद को किताबों से शिक्षित भी कर सकती हैं। ध्यान रखें कि शुरुआत में यह मुश्किल हो सकता है। तो, अपने आप को इसके बारे में अवगत करवाने की कोशिश करें, क्योंकि उपचार में समय लगता है।

उन तरीकों के बारे में सोचें और विश्लेषण करें जिससे आप सेक्स के दौरान खुद को वापस पा सकती हैं। क्या आप ऐसी यौन इच्छा अनुभव करती हैं, जिन्हें आप पूरा करना चाहती हैं? क्या आप इस बारे में बात करने से बच रही हैं कि आप क्या चाहती हैं क्योंकि आपके पास अपने बारे में असुरक्षाएं हैं?

किसी भी रिश्‍ते में संवाद बहुत जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक।
किसी भी रिश्‍ते में संवाद बहुत जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक।

यदि आपने इन प्रश्नों का उत्तर ‘हां’ में दिया है, तो इसका मतलब है कि आपको इस बात पर ध्यान देने की आवश्यकता है कि आप क्या चाहती हैं और क्या महसूस करती हैं।

दूसरी बात जो आपको ध्यान में रखनी है वो यह है कि रूढ़िवादी विचारों और विचारधाराओं से बचें। क्योंकि ऐसे लोग हमेशा मिलेंगे जो यह कहेंगे कि औरतों को अपनी इच्छाओं के बारे में बात नहीं करनी चाहिए मगर पुरुषों के लिए सब जायज़ हैं। ये समझने की कोशिश करें कि आपको क्या अच्छा लगता है और आपको क्या चाहिए।

आप एक अच्छे मनोचिकित्सक की मदद भी ले सकती हैं जो आपकी इस यात्रा को बेहतर तरीके से नेविगेट करने में मदद कर सकता है। यह यौन शर्म को ख़त्म करने की प्रक्रिया को सरल बना सकता है।

यह भी पढ़ें – लॉन्ग टर्म रिलेशनशिप में सेक्सुअल कंसेंट कितनी ज़रूरी है? क्या ये वाकई मायने रखती है?

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।