ऑर्गेज्म तक पहुंचने के लिए बिस्तर पर अपने पार्टनर के साथ जरूर करें इन चीजों पर बात

हर महिला का प्लेजर पॉइंट अलग अलग होता है। किसी को निप्पल तो कुछ महिलाओं को क्लिटोरी या जी स्पॉट से ऑर्गेज्म तक पहुंचने में आसानी होती है। इस बारे में पार्टनर से बात करना जरुरी है।
intimate couple
ऑर्गेज्म तक पहुंचने के लिए जरुरी है इन मुद्दों पर बातचीत करना। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 19 Mar 2023, 08:00 pm IST
  • 126

सेक्सुअल प्लेजर और ऑर्गेज्म तक पहुंचने के लिए पार्टनर से इस बारे में बातचीत करना बहुत जरुरी है। यदि आप अपने पार्टनर से सेक्सुअल एक्टिविटीज के बारे में खुलकर बात नहीं कर पाती तो हो सकता है अपने आज तक उचित ऑर्गेज्म प्राप्त न किया हो। क्युकी अपने कम्फर्ट जोन और प्लेजर पॉइंट के बारे में पार्टनर से शेयर करना बहुत जरुरी है। हर महिला का प्लेजर पॉइंट अलग अलग होता है। किसी को निप्पल तो कुछ महिलाओं को क्लिटोरी या जी स्पॉट से ऑर्गेज्म तक पहुंचने में आसानी होती है।

महिलाओं को कभी भी ऑर्गेज्म के साथ समझौता नहीं करना चाहिए। अपने पार्टनर से ऑर्गेज्म की डिमांड करना और अपने प्लेजर को लेकर खुलकर बातचीत करना पूरी तरह से उचित है। क्युकी प्लेजर स्ट्रेस को कम करते हुए मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायेमंद होता है साथ ही सेहत को बनाये रखने में भी मदद करता है। तो चलिए आज हेल्थ शॉट्स के साथ जानते हैं की आपको किन बातों पर पार्टनर से बात करने की आवश्यकता है।

यहां हैं ऑर्गेज्म में मददगार वे जरूरी बातें जिन पर आपको पार्टनर से संवाद की जरूरत है

1. नेल्स को कट करना है जरुरी

फोरप्ले के दौरान आमतौर पर लोग फिंगरिंग करते हैं। इससे महिलाओं को पेनिट्रेशन के दौरान दर्द नहीं होता साथ ही यह उन्हें प्लेजर तक पहुंचने में मदद करता है प्ररन्तु फिंगरिंग करते वक़्त हाइजीन का ख्याल रखना बहुत जरुरी है। हमारे नाख़ून और हथेलियों पर हजार तरह के जर्म्स और बैक्टीरिया मौजूद होते हैं।

वेजाइना की स्किन काफी सेंसिटिव होती है ऐसे में बड़े नाख़ून होने से स्किन पर कट लग सकता है। साथ ही फीगरिंग के दौरान वेजाइना के अंदर भी कट लगने का खतरा होता है। ऐसी असुविधाओं से बचने के लिए पार्टनर को बताएं की उनके बड़े नाख़ून आपके ऑर्गेज्म के बिच रुकावट बनते हैं और आपकी हाइजीन भी डिस्टर्ब हो रही है। उन्हें नाख़ून काटने की सलाह दें।

morning sex ke kya hai fayade
सेक्स आपको आपके पार्टनर के साथ आपके इमोशन को और मजबूत करने में मदद करता है। चित्र अडोबी स्टॉक

2. ओरल सेक्स के बारे में बात करें

कई बार महिलाएं अपने पार्टनर को ब्लो जॉब देती हैं, परन्तु अपने प्लेजर के बारे में खुलकर बात नहीं कर पातीं। यदि आपको लगता है की लिकिंग से बेहतर ऑर्गेज्म प्राप्त होगा और आप इसे एन्जॉय करना चाहती हैं। तो बेफिक्र होकर अपने पार्टनर से इसपर बातचीत करें। हालांकि हाइजीन का ध्यान रखना बहुत जरुरी है तो लिकिंग से पहले अपनी वेजाइना को साफ़ करना न भूलें।

3. कंडोम और ल्यूब को स्किप न करें

यदि आपका पार्टनर बिना कंडोम के सेक्स करना पसंद करता है और आप उनसे इस बारे में बात नहीं कर पाती तो आज ही इस झिझक को छोड़ दें क्युकी आपकी ये भूल सेहत को बुरी तरह प्रभावित कर सकती है। कॉन्ट्रासेप्टिक पिल्स का सेवन आपकी सेहत के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं है। बार-बार इसका सेवन आपके फर्टिलिटी को प्रभावित करता है। इसलिए अपने पार्टनर को बिना कंडोम के सेक्स करने की अनुमति न दें।

इसके साथ ही यदि आपको पेनिट्रेशन के दौरान दर्द महसूस होता है या आप सेक्स को उतना इंजॉय नहीं कर पा रही हैं तो अपने पार्टनर से ल्यूब इस्तेमाल करने के लिए कहें। उचित प्लेजर प्राप्त करने का जितना हक आपके पार्टनर का है उतना ही आपका भी, तो अपने प्लेजर की मांग करना कहीं से भी गलत नहीं है।

यह भी पढ़ें : Endometriosis awareness month : यहां हैं पीरियड के दौरान होने वाली 5 गंभीर समस्याएं, जिनके लिए डॉक्टर से मिलना जरूरी है

4. ओरल सेक्स करने में होती है हिचक तो खुलकर करें बात

यदि आप अपने पार्टनर को ब्लोजॉब देने के लिए तैयार नहीं हैं, तो इस बारे में अपने पार्टनर से खुलकर बात करें। मजबूरी में ब्लोजॉब देने की जरूरत नहीं है। आपको किस चीज से परेशानी है इस विषय पर अपने पार्टनर से चर्चा करें और धीरे-धीरे कंफर्टेबल होने की कोशिश करें।

यदि आपको हाइजीन से समस्या है या ब्लोजब देते वक्त आपको स्मेल आती है। तो ओरल सेक्स के पहले बेझिझक होकर अपने पार्टनर को उनके प्राइवेट पार्ट्स को साफ करने के लिए कह सकती हैं। जो ओरल सेक्स में बहुत ज्यादा मायने रखता है।

does sex affect skin
सेक्स के बारे में बातचीत करें। चित्र शटरस्टॉक।

5. पोजीशन और एंगल के बारे में बात करना है जरूरी

कई बार आपके पार्टनर को किसी और पोजीशन में बेहतर प्लेजर महसूस होता है और आपको किसी और इस स्थिति में झिझक और शर्म की वजह से महिलाएं अक्सर अपने पार्टनर के अनुरूप सेक्स करती हैं। हां बिल्कुल आपको अपने पार्टनर को भी सेटिस्फाइड करना जरूरी है, परंतु सेक्स के दौरान क्यों न दोनों लोग अपनी-अपनी मन पसंदीदा पोजीशंस ट्राई करें। डिअर लेडीज इसके लिए आपको अपने पार्टनर से बात करना होगा।

पहले समझे कि आप को किस एंगल और किस पोजीशन में ज्यादा प्लेजर महसूस हो रहा है। फिर उसी अनुसार अपने पार्टनर से इस विषय पर बात करें और सेक्स के दौरान उनसे एंगल और पोजीशन बदलने को कहें। ऐसा करने से आपके पार्टनर को भी अच्छा महसूस होगा क्योंकि आप भी सेक्स में पार्टिसिपेट कर रही हैं। आमतौर पर महिलाएं बेड पर बिल्कुल भी डोमिनेटिंग नहीं होती।

यह भी पढ़ें : टेस्टोस्टेरोन बढ़ाकर आपकी लिबिडो और सेक्स पॉवर दोनों के लिए काम करते हैं चिया सीड्स, जानिए इसके फायदे

  • 126
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख