हम बता रहे हैं कुछ एसेंशियल ऑयल जो इंटीमेट हाइजीन को बनाए रखने में कर सकते हैं आपकी मदद

Published on: 27 October 2021, 21:00 pm IST

एसेंशियल ऑयल आपके आसपास के माहौल को महका सकते हैं। पर क्या ये आपके इंटीमेट एरिया की गंध को भी कंट्रोल कर सकते हैं? जानना चाहती हैं, तो इसे पढ़िए-

एसेंशियल ऑयल्स जो इंटीमेट हाइजीन को बनाए रखने में कर सकते हैं आपकी मदद। चित्र : शटरस्टॉक

हम सब ने कभी न कभी अपनी योनि में कुछ असुविधा या अलग तरह की गंध महसूस की होगी, खासकर पीरियड्स के बाद। हालांकि योनि की अपनी एक गंध होती है, जो एक सामान्य बात है।
आपके प्यूबिक एरिया में दुर्गंध आना और उसमें समय-समय पर होने वाले छोटे-छोटे बदलाव पूरी तरह से सामान्य है। ये गंध आपके मासिक धर्म चक्र, आपकी स्वच्छता की आदतों या आपकी यौन गतिविधि का परिणाम हो सकती हैं।

यदि आप इस गंध में एक महत्वपूर्ण परिवर्तन देखती हैं, तो इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। ऐसे में आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए। मगर हमारे पास कुछ ऐसे एसेंशियल ऑयल हैं, जिनका इस्तेमाल करने से इस स्थिति की नौबत ही न आए।

ये एसेंशियल ऑयल आपकी वेजाइनल हाइजीन और गंध को मैंटेन करने में मदद करेंगे। मगर इनका इस्तेमाल करने से पहले अपनी स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह ज़रूर लें। क्योंकि यह एरिया बेहद संवेदनशील होता है।

vaginal itching ke liye gharelu upaayटी ट्री ऑयल वेजाइनल इचिंग से भी छुटकारा दिला सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

तो चलिये जानते हैं कुछ एसेंशियल ऑयल के बारे में जो आपके इंटीमेट एरिया की गंध को नियंत्रित कर सकते हैं

1. टी ट्री एसेंशियल ऑयल

टी ट्री ऑयल में अद्भुत रोगाणुरोधी और एंटिफंगल गुण होते हैं। जो कई बीमारियों को दूर करने में सक्षम हैं। टी ट्री ऑयल योनि में यीस्ट संक्रमण के लिए एक प्रभावी उपचार है। इसलिए इसे रोकने के लिए यह सुरक्षित रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है।

वाकई, टी ट्री ऑयल कवक से लड़ने में फायदेमंद है, जो कि कैंडिडा अल्बिकन्स सहित यीस्ट संक्रमण का कारण बनता है। इसकी वजह से वेजाइनल इन्फेक्शन के 85% से 90% मामले होते हैं। आप गरम पानी में टी ट्री ऑयल की कुछ बूंदें डालकर इसे वेजाइनल वॉश की तरह इस्तेमाल कर सकती हैं।

2. लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

योनि गंध के लिए लैवेंडर ऑयल का उपयोग लोकप्रिय है। यह न केवल एक प्रभावी स्त्री गंध उपाय और डियोडोराइज़र है, बल्कि यह बैक्टीरियल वेजिनोसिस के इलाज में भी मदद कर सकता है क्योंकि इसमें प्राकृतिक रोगाणुरोधी और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।

एनसीबीआई के अनुसार लैवेंडर ऑयल का उपयोग वेजाइनल डिस्चार्ज के ट्रीटमेंट के लिए किया जा सकता है। आप इसका प्रयोग अपने वेजाइनल हाइजीन को मेंटेन करने के लिए कर सकती हैं।

lavender oil aapki vaginal health ke liye faydemand hai लैवन्डर ऑयल आपकी वेजाइनल हेल्थ के लिए फायदेमंद है। चित्र : शटरस्टॉक

3. ऑरिगेनो एसेंशियल ऑयल

ऑरिगेनो एसेंशियल ऑयल थाइमोल और कार्वाक्रोल से भरपूर होता है, ऐसे रसायन में शक्तिशाली एंटीफंगल गुण होते हैं। ऑरिगेनो एक शक्तिशाली जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, एंटीसेप्टिक और एंटी इंफ्लेमेटरी एजेंट भी है। जर्नल ऑफ एप्लाइड माइक्रोबायोलॉजी में प्रकाशित 2017 के एक अध्ययन में पाया गया कि अजवायन का तेल ई.कोलाई जैसे बैक्टीरिया और कैंडिडा अल्बिकन्स जैसे कवक से बचाने में प्रभावी है।

यह भी पढ़ें : अपने पीरियड्स को आरामदायक बनाना चाहती हैं? तो इन बातों का ज़रूर रखें ध्यान

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें