त्योहारों के मौसम में अपनी वेजाइनल हाइजीन को न करें नजरअंदाज, हम बता रहे हैं इसके लिए 6 जरूरी टिप्स

Published on: 3 November 2021, 20:30 pm IST

आपने त्यौहारों के लिए घर का कोना-कोना चमका दिया है। पर इस व्यस्तता में आप अपने आप को ही भूल गई हैं। खासतौर से अपने शरीर के उस हिस्से को जिसे हमेशा एक्स्ट्रा केयर की जरूरत होती है।

vaginal hygiene maintain karne ke liye tips
अपनी वेजाइनल हाइजीन को न करें नजरअंदाज. चित्र : शटरस्टॉक

दिवाली का समय है और हमें पता है कि आप घर की सफाई करने में व्यस्त होंगी। मगर ऐसे में क्या आपने खुद के हाइजीन के बारे में सोचा है? हम बता रहें वेजाइनल हाइजीन (Vaginal Hygiene) को मेंटेन करने के कुछ टिप्स।

कई महिलाएं आज तक स्त्री स्वच्छता बनाए रखने के बारे में बात करने या सुझाव साझा करने से परहेज करती हैं। हालांकि, अपने जननांग और प्रजनन पथ को स्वस्थ रखने के लिए योनि की स्वच्छता के बारे में जानना महत्वपूर्ण है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस उम्र की हैं, योनि स्वच्छता के बारे में कुछ चीज़ों का ध्यान हर स्त्री को रखना चाहिए।

वेजाइनल हेल्थ (Vaginal Health) से जुड़ी समस्याओं को नजरअंदाज करने से भविष्य में कई समस्याएं हो सकती हैं। खराब हाइजीन आपकी सेक्स ड्राइव को प्रभावित करने से लेकर प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है। यहां तक कि यह ऑर्गेज़्म तक पहुंचने की क्षमता को भी प्रभावित कर सकता है। इसलिए जानिए वे टिप्स जिन्हें त्योहारी व्यस्तता के बावजूद आपको नजरंदाज नहीं करना है।

कभी-कभी आपकी योनि को भी मदद की जरूरत होती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

1. खुद को महीन पार्टिकल से दूर रखें

हम जानते हैं दिवाली की सफाई के दौरान आपको घर के हर हिस्से को साफ करना है। पर इसके लिए सही उपकरणों का चुनाव करना जरूरी है। साथ ही सफाई के दौरान सही कपड़े पहनना भी जरूरी है। अगर आपके घर में सफेदी या पेंट का काम चला है, तो अपने आप को महीन पार्टिकल से दूर रखें। अगर ये आपके कपड़ों, हाथों या किसी भी माध्यम से आपकी योनि तक पहुंचे तो आपके लिए खतरनाक हो सकते हैं।

2. अंडरगारमेंट्स को सूखा रखें

मौसम बदलने लगा है। अब घर के हर हिस्से में पहले की तरह धूप नहीं पहुंच पाती है। इसके बावजूद यह जरूरी है कि आप अपने अंडरगारमेंट को पूरी तरह सुखा कर ही पहनें।

पेशाब करने के बाद योनि को न पोंछने से पैंटी गीली हो सकती है। इससे न केवल दुर्गंध आ सकती है, बल्कि आपको योनि में संक्रमण का खतरा भी हो सकता है। इसलिए, हमेशा सलाह दी जाती है कि उस क्षेत्र को टॉयलेट पेपर या मुलायम कपड़े से पोंछ लें। ताकि आपका अंडरवियर हमेशा सूखा रहे। याद रहे कि आगे से पीछे की तरफ पोंछें।

3. सैनिटरी पैड बदलना न भूलें

घर की साफ – सफाई और काम की भाग दौड़ में सैनिटरी पैड (Sanitary Pads) बदलना न भूलें। यदि आपके पीरियड्स चल रहे हैं, तो आपको 5 से 6 घंटों के बाद पैड ज़रूर बदलना चाहिए। यही बात उन दिनों पर भी लागू होती है जब आपका फ्लो हल्का होता है।

हालांकि, अगर आपको मासिक धर्म के दौरान भारी प्रवाह होता है, तो हर 3-4 घंटे में सैनिटरी पैड बदलना जरूरी है। यदि आप टैम्पोन का उपयोग कर रही हैं, तो इसे हर चार से छह घंटे में बदलें। इसके अलावा, मासिक धर्म के दौरान हर बार जब आप वाशरूम जाती हैं, तो उस क्षेत्र को साफ करें।

vaginal hygiene
पैड बदलना न भूलें । चित्र : शटरस्टॉक

4. योनि को धोते समय साबुन के इस्तेमाल से बचें

योनि को साफ करने के लिए साबुन या सुगंधित वॉश के प्रयोग से बचें। ग्लिसरॉल, परफ्यूम और एंटीसेप्टिक जैसे हानिकारक रसायनों से बने साबुन का उपयोग योनि में स्वस्थ बैक्टीरिया संतुलन को प्रभावित कर सकता है।

इसके अलावा, यह योनि क्षेत्र में पीएच को भी बदल सकता है, जिससे जलन हो सकती है और अस्वास्थ्यकर बैक्टीरिया का विकास हो सकता है। इसके बजाय सादे साबुन और पानी का उपयोग करें, योनि के आसपास के क्षेत्र को धोने के लिए गुनगुने पानी को प्राथमिकता दें।

5. फेमिनिन हाइजीन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल न करें

योनि को स्वस्थ रखने के लिए सुगंधित वाइप्स, योनि सुगंध या स्क्रब जैसे स्त्री स्वच्छता उत्पादों का उपयोग करना एक अच्छा विचार नहीं है। वास्तव में, ये उत्पाद स्थिति को खराब कर सकते हैं और आपको संक्रमण का खतरा बना सकते हैं। इसके अलावा, योनि स्क्रब का उपयोग करने से त्वचा छिल सकती है, जिससे आपके संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

6. सेक्स के बाद खुद को अच्छे से साफ करें

सेक्स करने के बाद हर बार योनि को साफ करने की आदत डालें। ऐसा इसलिए है क्योंकि शरीर के तरल पदार्थ और कंडोम के कण जलन पैदा कर सकते हैं। इसके अलावा, सेक्स सेशन के बाद सफाई न करने से आपको योनि में संक्रमण होने का खतरा हो सकता है।

इसलिए यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई) जैसे संक्रमणों से बचने के लिए सेक्स के बाद हमेशा पानी से योनि को साफ करें।

तो लेडीज दिवाली खुलकर एंजॉय कीजिये, मगर हाइजीन का ख्याल रखना न भूलें!

यह भी पढ़ें : जानिए क्या हो सकता है आपके वेजाइनल डिस्चार्ज में खून आने का कारण

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें