स्तनों पर होने वाली इन 3 समस्याओं से परेशान न हों, बस बचाव और उपचार पर ध्यान दें

निपल्स के आसपास होने वाले बाल से लेकर उस पर नजर आने वाले हल्के-छोटे दाने तक, सभी कुछ नॉर्मल है। और ज्यादातर महिलाएं इनका सामना करती हैं। 

गर्भावस्था के दौरान आपके ब्रेस्ट साइज़ मे होते है कई बदलाव इसीलिए ऐसे मे मेटेरनिटी ब्रा या आरामदायक ब्रा का करे उपयोग। चित्र- शटरस्टॉक।
ब्रेस्ट इम्प्लांटेशन बन सकता है कैंसर की वजह। चित्र- शटरस्टॉक।
शालिनी पाण्डेय Updated on: 3 July 2022, 19:43 pm IST
  • 120

स्तन एक महिला के शरीर के बेहद सेंसिटिव हिस्सों में से एक है। पर कई कारणों से ब्रेस्ट पर स्किन डिजीज़ हो सकती हैं। इसे छुपाने या इसके बारे में सोचकर घबराने की जरूरत नहीं है। ये समस्याएं बेहद आम हैं और इन सभी का उपचार संभव है। इसलिए जरूरी है कि आप स्तनों पर होने वाली इन समस्याओं और इनके उपचार के बारे में जानें।  

स्तनों पर होने वाली ये 3 समस्याएं हैं बेहद आम 

1 ब्रेस्ट पर उभरे पिम्पल्स 

निप्पल और एरोला दर्दनाक धक्कों और फुंसियों की जगह हो सकते हैं। ये अक्सर मुंहासों, अंतर्वर्धित बालों, बंद ग्रंथियों या फोड़े के कारण होते हैं। यदि कुछ दिनों में यह समस्या अपने आप दूर नहीं होती है, तो निदान और उपचार के लिए पेशेवर से परामर्श किया जाना चाहिए।

ब्रेस्ट पर उभरे मुंहासों से बचने के लिए ढीले-ढाले, सांस लेने वाले कपड़े पहनें, ब्रा और शर्ट को धोकर धुप में सुखाएं। ताकि पसीने से उपजे रोगाणु ख़त्म हो सकें और स्तनों पर पिंपल्स से बचा जा सके। मेडिकेटेड बॉडीवॉश भी इसमें आपकी मदद कर सकता है। ब्रेस्ट पर पिम्पल्स से छुटकारा पाने इन बातों का ध्यान जरूर रखें:

कसरत के लिए साफ कपड़े पहनें

कसरत के दौरान पसीने को पोंछने के लिए एक साफ तौलिये का उपयोग करें

मुंहासे-प्रवण (pimple prone) क्षेत्रों को सैलिसिलिक एसिड पैड से पोंछे या व्यायाम के तुरंत बाद स्नान करें

जब संभव हो, उपकरण साझा नहीं करें

वर्कआउट करने से पहले किसी भी मेकअप को हटाएं

एक तेल मुक्त सनस्क्रीन का उपयोग करना

2 ब्रेस्ट पर बाल 

ब्रेस्ट पर उगे बाल आपकी बॉडी में हो रहे हार्मोनल चैंजेस की वजह से होता है। सिर्फ प्यूबर्टी के वक़्त ही नहीं बल्कि प्रेगनेंसी के समय भी कुछ महिलाओं को ऐसा होता है। क्योंकि उस समय भी महिलाएं काफी हार्मोनल चैंजेस से गुज़र रही होती हैं। यह होना एकदम नार्मल है।

यह सबकी अपनी चॉइस होती है। अगर आपको ऐसा लगता है की यह बाल आपको अच्छे नहीं लगते और आप इन्हे हटाना चाहती हैं तो आप किसी भी तरह से इन्हें हटा सकती हैं। आप वैक्स , प्लकिंग , रेजर या लेज़र ट्रीटमेंट भी करवा सकती हैं। जो भी तरीका आपको अपने लिए सही लगता है आप वह कर सकती हैं। 

ब्रेस्ट पर हो सकता है स्किन एक्जिमा

बस जो महिलाएं ब्रैस्ट फीडिंग करने वाली हों वो रेजर का उपयोग न करें क्योंकि रेजर के इस्तेमाल के बाद कड़क और मोटे बाल आते हैं और वह बच्चे के लिए अच्छे नहीं हैं। अगर आपको ब्रैस्ट पर बाल प्रेगनेंसी की वजह से या फिर अचानक हार्मोनल चैंजेस की वजह से हुए होते हैं, तो यह हॉर्मोन्स बैलेंस होने के बाद अपने आप हल्के या खत्म भी हो जाते हैं। तो आप इसको भी लेकर चिंतित न हों। 

3 स्तन एक्जिमा 

स्तन एक्जिमा (एटोपिक जिल्द की सूजन) एक ऐसी स्थिति है जिसके कारण आपकी त्वचा शुष्क, फीकी, खुजलीदार और ऊबड़-खाबड़ हो जाती है। यह आपके निपल्स के आसपास के डार्क एरिया में, आपके स्तनों के बीच, आपके स्तनों के नीचे, आपके स्तनों के किनारों पर या आपकी छाती पर कहीं और दिखाई दे सकता है।

एक्जिमा स्किन बैरियर फंक्शन को नुकसान पहुंचाता है। नतीजतन, आपकी त्वचा अधिक संवेदनशील हो जाती है और संक्रमण और ड्राइनेस का खतरा बढ़ जाता है।

पगेट की स्तन की बीमारी स्तन कैंसर का एक दुर्लभ रूप है। जिसमें निप्पल की त्वचा शामिल होती है और यह एरोला तक फैल सकती है। इसमें स्तन एक्जिमा जैसे कई लक्षण होते हैं, जो कभी-कभी गलत निदान का कारण बन सकते हैं। इन लक्षणों में शामिल हैं:

निप्पल क्षेत्र में खुजली, झुनझुनी या मलिनकिरण।

परतदार, रूखी या मोटी त्वचा।

एक चपटा या मुड़ा हुआ (उल्टा) निप्पल।

निप्पल की त्वचा से पीला या खूनी रिसाव।

एक्जिमा बहुत आम है, और आपकी त्वचा का कोई भी हिस्सा इसे विकसित कर सकता है, जिसमें आपके स्तन भी शामिल हैं। लगभग 15% से 30% बच्चों में एक्जिमा होता है, और 2% से 10% वयस्कों को होता है। इसलिए परेशान न हों, और बस उपचार पर ध्यान दें। 

यह भी पढ़ें:क्या आपको भी लगता है कि आपके दोस्त आपको हल्के में ले रहे हैं, तो अपनाएं ये 6 सुझाव 

  • 120
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory