वैलनेस
स्टोर

पीरियड्स की ऐंठन और दर्द से नेचुरली राहत दिलाता है थाइम ऑयल, जानिए क्‍या है यह

Published on:31 December 2020, 19:56pm IST
आप अपने पीरिडस के दौरान कितनी बार दर्द निवारक गोलियों का सेवन करती हैं? अगर आप नियमित रूप से ऐसा करती हैं, तो शायद आप थाइम ऑयल के बारे में नहीं जानती।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 61 Likes
थाइम ऑयल पीरियड्स के दर्द से छुटकारा दिला सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

जीवन में ऐसी कई चीजें हैं जिन्हें आप बदल नहीं सकती हैं, उनमें से एक पीरियड्स होना भी है। आप अपने पीरियड्स को लेकर कुछ खास नहीं कर सकती हैं, लेकिन आप निश्चित रूप से अपने पीरिड्स के दर्द से राहत पाने के लिए काफी कुछ कर सकती हैं। अभी तक आप पीरीयड्स की दर्दनाक ऐंठन से राहत पाने के लिए दर्द निवारक गोलियां और हीटिंग पैड्स का सहारा ले रही होंगी।

लेकिन इन दर्द निवारक गोलियों के कई साइड इफेक्टक्स भी होते हैं, विशेष तौर पर जब आप इसका लंबे समय तक सेवन करती हैं। तो ऐसे में आपको क्या करना चाहिए?

इन साइड इफेक्ट्स से बचने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि इनकी जगह पर किसी ऐसी चीज का इस्तेमाल किया जाए, जो पीरियड्स के दर्द से राहत पाने में स्वाभाविक रूप से मदद कर सके। साथ ही यह अधिक प्रभावकारी भी हो।

तो ऐसे में थाइम ऑयल आपके लिए काफी लाभकारी साबित हो सकता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि थाइम का तेल एक दर्द निवारक औषधि की तरह आपके पीरीयड्स के दौरन होने वाली दर्दनाक ऐंठन से राहत पाने में मदद कर सकता है।

पीरियड्स में सबसे ज्‍यादा मुश्किल होता है दर्द को बर्दाश्‍त करना। चित्र: शटरस्‍टॉक

कैस्पियन जर्नल ऑफ इंटरनल मेडिसिन पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पाया गया कि थाइम ऑयल दर्द निवारक दवाओं का एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है। इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि यह काफी सस्ता है, और यह स्थानीय और ऑनलाइन स्टोर में आसानी से उपलब्ध है। यह बिना किसी दुष्प्रभाव के पीरियड्स की ऐंठन में तेजी से राहत प्रदान करता है। यहां हम आपको इस तेल के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं।

एक दर्द निवारक की तुलना में थाइम का तेल अधिक प्रभावी होता है

बाबोल यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस द्वारा किए गए एक अध्ययन में 18 से 24 वर्ष की आयु के बीच 84 प्रतिभागियों का अध्ययन किया गया। प्रतिभागियों को बेतरतीब ढंग (randomly) से थाइम ऑयल, इबुप्रोफेन और एक प्लेसबो दिया गया। शोधकर्ताओं ने पाया कि थाइम-ऑयल वाले समूह ने इबुप्रोफेन या प्लेसेबो की तुलना में कम दर्द की सूचना दी।

थाइम ऑयल में भी एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं

अगर जापान की नारा वूमन यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन की मानें तो, थाइम ऑयल साइक्लोऑक्सीजिनेज-2 एंजाइम की गतिविधि को रोकता है, जो शरीर में सूजन संबंधी समस्याओं के लिए जिम्मेदार होते हैं। एंजाइम की गतिविधी में कमी आने पर दर्द भी कम हो जाता है। यही कारण है जो थायम ऑयल एक बेहतरीन दर्द निवारक घटक बनता है।

अगर दर्द आपके डेली रूटीन को बाधित कर रहा है तो डॉक्‍टर से सलाह लें। चित्र: शटरस्टॉक।

अगर दर्द आपके डेली रूटीन को बाधित कर रहा है तो डॉक्‍टर से सलाह लें। चित्र: शटरस्टॉक।

लेकिन ध्यान दें कि …

चूंकि यह एक आवश्यक तेल है, इसलिए आपको इसका उपयोग करते समय सावधानी बरतने की आवश्यकता है। आपको इसे हमेशा दूसरे तेलों के साथ उपयोग करना चाहिए। तो जब यह आपके पास है, तो सभी दर्द निवारक दवाओं को साइड करें, और बेहतर तरीके से राहत पाने के लिए थाइम ऑयल का इस्तेमाल करें।

यह भी पढ़ें – हां ये सच है, आप एक सेशन में भी कई बार ले सकती हैं ऑर्गेज्‍़म का आनंद, जानिए इसका वैज्ञानिक कारण

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।