बार-बार पेशाब आना हो सकता फाइब्रॉएड का संकेत? जानिए इस स्थिति के बारे में सब कुछ

पेशाब लीक होना या बार-बार पेशाब आना यह बताता है कि आपके भीतर कुछ सही नहीं है। इसलिए इस पर तुरंत विशेषज्ञ से परामर्श करें।
घरेलू उपायों से यूरीन पास करने की बार-बार इच्छा को ठीक किया जा सकता है। चित्र:शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 29 July 2022, 20:27 pm IST
ऐप खोलें

कुछ महिलाओं को बार-बार पेशाब आने की इच्छा होती है और इसका एक कारण फाइब्रॉएड भी हो सकता है। बार-बार पेशाब आने के साथ-साथ भारी रक्तस्राव, पेट की सूजन, गंभीर ऐंठन और कम ऊर्जा का स्तर भी फाइब्रॉएड बढ़ने के कुछ लक्षण हैं। फाइब्रॉएड कभी-कभी यूरिन लीकेज का कारण बन सकता है, जो अक्सर वृद्ध लोगों में होता है।

यूरिन लीकेज या इनकोंटीनेंस – दो प्रकार का होता है, एक मूत्राशय के साथ और दूसरा आंत्र के साथ। और जब फाइब्रॉएड की बात आती है, तो आमतौर पर मूत्राशय प्रभावित होता है। फाइब्रॉएड भी आंत्र प्रणाली को प्रभावित कर सकते हैं, लेकिन यह उनके आकार और स्थान पर निर्भर करता है। हालांकि, यह काफी दुर्लभ है और ऐसे मामलों में लोग असंयम के बजाय कब्ज का अनुभव करते हैं।

जब आपके स्वास्थ्य की बात आती है तो ऐसी स्थितियों से अवगत होना महत्वपूर्ण है। यह आपके स्वास्थ्य पर नज़र रखने में मदद करेगा, और यदि आप किसी ऐसे लक्षण का अनुभव करती हैं जिसके लिए तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता है, तो आप आसानी से डॉक्टर से परामर्श कर सकती हैं।

फाइब्रॉएड के कारण बार-बार पेशाब आने की इच्छा क्यों होती है?

खैर, फाइब्रॉएड गर्भाशय की दीवार के आसपास बढ़ते हैं, और वे आसपास के अंगों पर दबाव डाल सकते हैं। यदि फाइब्रॉएड बड़े हो रहे हैं और कई ट्यूमर हैं, तो वे गर्भाशय का विस्तार कर सकते हैं, जिससे मूत्राशय में कंप्रेशन हो सकता है। एक संकुचित मूत्राशय में मूत्र धारण करने के लिए कम जगह होगी। यही कारण है कि इस स्थिति वाली महिलाओं को बार-बार पेशाब करने की इच्छा होती है।

बार – बार पेशाब आना सही नहीं है। चित्र- शटरस्टॉक।

गर्भाशय की दीवार की सतह पर उगने वाले सबसेरोसल फाइब्रॉएड अन्य अंगों में फैल सकते हैं। यदि फाइब्रॉएड की वृद्धि के कारण गर्भाशय का आकार बदल जाता।

फाइब्रॉएड का इलाज क्या है?

फाइब्रॉएड परेशान कर सकता है, और सर्जरी कुछ लोगों के लिए एक बुरा सपन है। मगर फाइब्रॉएड और इसके साथ आने वाली समस्याओं से छुटकारा पाने के और भी तरीके हैं।

सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले कम-आक्रामक फाइब्रॉएड उपचारों में से एक यूटेराइन फाइब्रॉएड एम्बोलिज़ेशन (यूएफई) है। यह एक विशेष अल्ट्रासाउंड तकनीक है जो फाइब्रॉएड को तोड़ने में मदद करता है, इसलिए इसका आसानी से इलाज किया जा सकता है।

प्रक्रिया के दौरान, डॉक्टर मरीज की ऊपरी जांघ को सुन्न कर देगा। उसके बाद एम्बोलिक एजेंटों को आपकी गर्भाशय धमनी में एक छोटे कैथेटर के माध्यम से इंजेक्ट किया जाएगा जो आपके गर्भाशय में बढ़ने वाले फाइब्रॉएड में रक्त और पोषक तत्वों के प्रवाह देने में मदद करेगा।

पेशाब में जलन यूटीआई का भी संकेत हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

रक्त और पोषक तत्वों की कमी के कारण ये फाइब्रॉएड कुछ ही हफ्तों में टूटकर कर मर जाएंगे।

मूत्राशय की समस्या

फाइब्रॉएड की अनुपस्थिति में, मूत्राशय और गर्भाशय पर दबाव कम हो जाएगा और वे अंततः अपने मूल आकार और नियमित कार्यों में वापस आ जाएंगे। थोड़ी असुविधा होती है क्योंकि विशेषज्ञ न्यूनतम इनवेसिव तकनीकों का उपयोग करते हैं जो उन्हें बिना किसी निशान और बिना टांके के स्थिति को ठीक करने की अनुमति देता है।

बार-बार पेशाब आने के उपाय

मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए पैल्विक फ्लोर व्यायाम में शामिल हों
यूरिनरी इन्फेक्शन से बचने के लिए हाइड्रेशन लेवल बनाए रखें
अधिक मात्रा में कैफीन या कार्बोनेटेड पेय पदार्थ लेने से बचें

यदि आप फाइब्रॉएड के किसी भी लक्षण का अनुभव कर रही हैं, तो यह जानने के लिए अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें कि आपके लिए सबसे अच्छा क्या है।

यह भी पढ़ें : क्या वाकई एंटीबायोटिक लेने से कम किया जा सकता है एसटीआई का जोखिम? जानिए क्या कहती है स्टडी

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story