और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

वेजाइना में सूखेपन के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं इन दो विटामिन की कमी, आइये बात करते हैं विस्तार से

Updated on: 21 December 2020, 19:09pm IST
इंटिमेट हिस्से में सूखेपन की शिकायत अधिकांश महिलाओं में होती है। आइये जानते हैं इसका कारण और इससे निजात पाने के उपाय।
विदुषी शुक्‍ला
  • 79 Likes
वेजाइनल ड्राइनेस कई वजहों से हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक
वेजाइनल ड्राइनेस कई वजहों से हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

वेजाइनल ड्राईनेस यानी योनि का सूखापन न सिर्फ सेक्स को दर्दनाक बनाता है, बल्कि बहुत सी समस्याओं का कारण भी बन सकता है। योनि में खुजली, जलन जैसी समस्याएं भी रूखेपन के कारण पैदा हो सकती हैं। लेकिन हर सेक्सुअल समस्या की तरह ही महिलाएं इस समस्या के बारे में खुलकर बात करने से बचती हैं। इस झिझक और शर्म को पीछे छोड़कर इस विषय में बात करते हैं क्योंकि यह आपकी सेहत का सवाल है।

क्यों होती है वेजाइनल ड्राईनेस?

हमारे शरीर में लगभग सभी अंगों के चारों ओर म्यूकस की परत मौजूद है। हमारी नाक, सांस की नली और फूड पाइप के साथ-साथ वेजाइना में भी यह म्यूकस की परत होती है। यह परत ही वेजाइना को लुब्रिकेशन प्रदान करती है। सेक्सुअली उत्तेजित होने पर वेजाइना में लुब्रिकेशन बढ़ जाता है। ताकि पेनेट्रेशन के दौरान कोई समस्या न आये।

योनि का गीला होना समस्‍या नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक
योनि का गीला होना समस्‍या नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

शरीर में एस्ट्रोजन की कमी के कारण योनि में सूखापन हो जाता है। यूं तो मेनोपॉज के दौरान एस्ट्रोजन की कमी आम है, लेकिन अगर आप कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेती हैं, तो भी यह समस्या हो सकती है। अगर मेनोपॉज की उम्र से पहले ही आपको अत्यधिक वेजाइनल ड्राईनेस हो रही है, तो शरीर मे पोषण की कमी दोषी है।

इसके पीछे आपके शरीर में इन दो विटामिन की कमी हो सकती है-

1. विटामिन ई

विटामिन ई एक ताकतवर एंटीऑक्सीडेंट है, जो सेल्स को डैमेज से बचाता है। यह वेजाइना की मांसपेशियों में खून की सप्लाई को बढ़ा देता है, जिससे रूखेपन से राहत मिलती है।
असल में विटामिन ई फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान को कम करता है और सेल्स की मरम्मत करता है। विटामिन ई के लिए बादाम, नारियल का तेल, मूंगफली, टमाटर और सूरजमुखी के बीज अच्छे स्रोत हैं। इन्हें अपनी डाइट में शामिल करें। और आपको फर्क दिखने में कम से कम एक महीना लगेगा।

जैसे आपके चेहरे पर उम्र के बदलाव दिखते हैं, वैसे ही आपकी वेजाइना पर भी होते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
वेजाइना में सूखेपन के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं इन दो विटामिन की कमी। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. विटामिन डी

वेजाइना का ph पानी से कम होता है, जो हल्का एसिडिक होता है। विटामिन डी इस ph को कम रखने में सहायक है। विटामिन डी की कमी के कारण वेजाइना का ph संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे रूखेपन की समस्या हो सकती है।
ईरानियन जर्नल ऑफ मिडवाइफरी रिसर्च में प्रकाशित स्टडी के अनुसार विटामिन डी वेजाइना की एपिथेलियल टिश्यू की मरम्मत करता है। यही कारण है कि विटामिन डी वेजाइनल ड्राईनेस से राहत देता है।

योनि के रूखेपन से निपटने के लिए इन दोनों विटामिन को अपने आहार में शामिल करें। अगर रूखेपन के कारण सेक्स के दौरान दर्द होने लगे तो गाइनेकोलॉजिस्ट से जाकर मिलें। याद रखें आपकी वेजाइना का स्वास्थ्य बहुत महत्वपूर्ण है, शर्माएं नहीं, अपनी वेजाइना का ख्याल रखें।

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।