डियर लेडीज, अनसेफ सेक्स भी आपकी प्रजनन क्षमता को जोखिम में डाल सकता है

Published on: 9 December 2021, 20:00 pm IST

असल में प्रेगनेंट होने के लिए आपको हेल्दी सेक्स सेशन की जरूरत होती है। पर क्या आप जानती हैं कि पूर्व में बनाया गया असुरक्षित यौन संबंध आपकी प्रजनन क्षमता को भी नुकसान पहुंचा सकता है!

sex me dard
जानिए पार्टनर के साथ सेक्स करने से क्यों होता है दर्द ! चित्र: शटरस्टॉक

फैलोपियन ट्यूब वे चैनल हैं जो महिला प्रजनन प्रणाली में अंडाशय से गर्भाशय तक ओओसीट को ले जाते हैं। ट्यूबल संक्रमण, जिसे सल्पिंगिटिस भी कहा जाता है, तब होता है जब योनि संभोग के माध्यम से प्राप्त बैक्टीरिया के कारण फैलोपियन ट्यूब संक्रमित या उसमें सूजन आ जाती है। यह महिलाओं में इनफर्टिलिटी का प्रमुख कारणों में से एक है। और यह संक्रमण असुरक्षित यौन संबंधों के माध्यम से भी हो सकता है। 

जानिए इसके प्राथमिक कारण क्या हैं?

ट्यूबल संक्रमण का मुख्य कारण बैक्टीरिया है जो एक महिला की प्रजनन प्रणाली में प्रवेश कर सकता है:

1असुरक्षित यौन संबंध

2 यौन संचारित रोगों।  उदाहरण के लिए: क्लैमाइडिया और गोनोरिया।  

अन्य कारण ऐसी घटनाएं हो सकती हैं, जहां गर्भाशय ग्रीवा द्वारा बनाए गए बैरियर डिस्टर्ब हो जाते गर्भपात, या प्रसव ऐसे उदाहरण हो सकते हैं, जहां बैक्टीरिया प्रजनन प्रणाली में प्रवेश कर सकते हैं।

प्रजनन क्षमता पर ट्यूबल संक्रमण का प्रभाव

फैलोपियन ट्यूब के क्षतिग्रस्त होने से गर्भवती होने की संभावना प्रभावित होती है। दुर्भाग्य से, कई महिलाओं को यह भी एहसास नहीं होता है कि सल्पिंगिटिस है, क्योंकि ज्यादातर मामलों में उल्लेखनीय लक्षण नहीं हो सकते हैं। यदि समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो संक्रमण फैलोपियन ट्यूब को स्थायी नुकसान पहुंचाएगा।

Waqt aa gaya hai ki aap apne sexual health ka khyal rakhe
फैलोपियन ट्यूब के क्षतिग्रस्त होने से गर्भवती होने की संभावना प्रभावित होती है। चित्र-शटरस्टॉक।

लंबी अवधि की जटिलताओं में ट्यूबों के निशान और ब्लॉकेज शामिल हो सकते हैं। इसलिए प्रत्येक मेंस्ट्रुअल साइकिल में जारी हुए एग स्पर्म से नहीं मिल सकते हैं। जिससे इनफर्टिलिटी हो सकती है। गर्भाशय और अंडाशय जैसे अन्य क्षेत्रों में भी संक्रमण फैलने का खतरा होता है।

इसलिए, रोकथाम के लिए नियमित रूप से एसटीआई स्क्रीनिंग परीक्षणों से गुजरने की सलाह दी जाती है। नीचे दिए गए लक्षणों पर गौर करें।

ट्यूबल संक्रमण के लक्षण 

  1. एबनॉर्मल वेजाइनल डिस्चार्ज
  2.  संभोग के दौरान दर्द
  3. पेट के निचले हिस्से में जलन जैसे दर्द, सूजन, ऐंठन
  4. बुखार
  5. दर्दनाक माहवारी
  6. बार-बार यूरीन डिस्चार्ज होना
  7. मतली
  8. स्पॉटिंग (वेजाइनल ब्लीडिंग)

कैसे हो सकता है इस स्थिति का निदान?

गंभीर जटिलताओं से बचने के लिए जितनी जल्दी हो सके अपने चिकित्सक से परामर्श करना महत्वपूर्ण है। आपका डॉक्टर आपके मेडिकल इतिहास और यौन आदतों पर ध्यान देगा। उन लक्षणों के बारे में उन्हें बताएं जो आप अनुभव कर रहे हैं, भले ही वे हल्के हों। सूजन और कोमलता के स्तर को निर्धारित करने के लिए एक शारीरिक परीक्षा के बाद, कुछ परीक्षणों की सिफारिश की जाएगी, जिनमें शामिल हो सकते हैं:

ब्लड एंड यूरीन टेस्ट

संक्रमण के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया के प्रकार की पहचान करने के लिए म्यूकस स्वैब 

फैलोपियन ट्यूब और प्रजनन प्रणाली के अन्य अंगों की छवियों की जांच करने के लिए एक अल्ट्रासाउंड।

पेट या पैल्विक एक्स-रे

लैप्रोस्कोपी, जो एक छोटी शल्य प्रक्रिया है जो डॉक्टर को प्रजनन प्रणाली के ट्यूबों और अन्य अंगों की दृष्टि से जांच करने में मदद करती है।

yeast infection men faydemand hai tea tree oil
लंबी अवधि की जटिलताओं में ट्यूबों के निशान और ब्लॉकेज शामिल हो सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

इसका इलाज़ कैसे किया जा सकता है?

संक्रमण की गंभीरता के आधार पर, ट्यूबल संक्रमण के उपचार में शामिल हो सकते हैं:

एंटीबायोटिक्स का प्रिस्क्रिप्शन जो संक्रमण को दूर करेगा

यदि आवश्यकता हो, तो आपको अस्पताल में भर्ती होना पड़ सकता है।

यदि दवा उपचार से समस्या का समाधान नहीं होता है, तो डॉक्टर ट्यूबों से क्षतिग्रस्त क्षेत्र को निकालने के लिए सर्जरी कर सकते हैं।

अगर इलाज न करवाया गया तो क्या समस्याएं हो सकती हैं? 

इनफर्टिलिटी के अलावा, ट्यूबल क्षति से कुछ गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं जैसे:

क्रॉनिक पेल्विक और एब्डोमेन पेन 

ट्यूब में सूजन और पस बनना

एक्टोपिक गर्भावस्था, एक प्रकार की गर्भावस्था जिसमें एक निषेचित अंडा फैलोपियन ट्यूब को नुकसान या रुकावट के कारण गर्भाशय से नहीं जुड़ता है। यदि अनुपचारित छोड़ दिया जाता है, तो एक अस्थानिक गर्भावस्था के परिणामस्वरूप महिला के जीवन को खतरे में डालते हुए एक चिकित्सा आपात स्थिति हो सकती है।

कुछ अंतिम शब्द 

ट्यूबल संक्रमण के कारण अपने स्वास्थ्य और प्रजनन क्षमता को जोखिम में डालने से बचने के लिए, यौन संचारित रोगों से बचाव के लिए हमेशा कंडोम का उपयोग करके सुरक्षित यौन संबंध बनाएं। 

लक्षणों के बारे में जागरूक होना और एसटीआई के लिए नियमित रूप से जांच कराना भी शीघ्र पता लगाने और उपचार के लिए फायदेमंद होगा। आपको अपने पार्टनर को भी टेस्ट करवाने के लिए कहना चाहिए। जागरूकता और समय पर उपचार महत्वपूर्ण है। इसलिए रोकथाम और उपचार के बारे में जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

यह भी पढ़े :पीरियड सेक्स टैबू: एक यौन स्वास्थ्य विशेषज्ञ से जानिए इसके बारे में

Dr Rohit Gutgutia Dr Rohit Gutgutia

Dr Rohit Gutgutia is Medical Director at Nova IVF Fertility, Eastern India

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें