डियर लेडीज, ये आदतें बन सकती हैं आपके पार्टनर में यौन समस्याओं का कारण

Published on: 2 May 2022, 21:00 pm IST

इन खराब आदतों को छोड़ना है आपके पार्टनर की सेक्सुअल हेल्थ के लिए फायदेमंद। जानिए क्या हैं वे खराब आदतें।

ivf
आईवीएफ की प्रक्रिया अब बहुत सुविधाजनक हो गई है। चित्र: शटरस्टॉक

यौन समस्याएं पहले से कहीं ज्यादा बढ़ रही हैं। आंकड़ों के अनुसार, बांझपन लगभग 10 प्रतिशत से 15 प्रतिशत जोड़ों को प्रभावित करता है। यौन समस्याओं को विकसित करने में जीवनशैली कारकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसे ध्यान में रखते हुए, महिलाओं को खुद को स्वस्थ रखने और अपने साथी के यौन स्वास्थ्य को भी नियंत्रण में रखने की जिम्मेदारी लेनी होगी।

यहां 5 कारक हैं जो आपके साथी में यौन स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकते हैं:

1. शराब पीना

मानसिक स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने के अलावा, शराब पीना किसी व्यक्ति के प्रजनन स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचा सकता है। यदि आप या आपका साथी अत्यधिक शराब पीते हैं, तो इसका आपके प्रजनन स्तर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

2. धूम्रपान

इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि धूम्रपान का समग्र स्वास्थ्य की तरह ही यौन स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। यह खराब जीवनशैली की आदत आपके साथी के प्रजनन स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है। इसके परिणामस्वरूप इरेक्टाइल डिसफंक्शन, कम कामेच्छा आदि जैसी स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। महिलाओं में, धूम्रपान लो ओवरी रिजर्व, निषेचन क्षमता, गतिशीलता और खराब प्रजनन क्षमता से जुड़ा हुआ है।

smoking n karein
स्‍मोकिंग करने से आपको हो सकती परेशानी। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. उच्च कैफीन का सेवन

अपने साथी के कैफीन के सेवन पर नजर रखें। विशेषज्ञों के अनुसार, गर्भधारण करने की कोशिश करते समय इसे सीमित करना चाहिए और गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को इससे बचना चाहिए। कुछ अध्ययनों के अनुसार, जो महिलाएं बहुत अधिक कैफीन का सेवन करती हैं, उन्हें गर्भवती होने में अधिक समय लग सकता है और उनमें गर्भपात और भ्रूण के खराब विकास का काफी अधिक जोखिम होता है।

4. अनुचित यौन व्यवहार

हेल्दी सेक्स आपको सेफ सेक्स एक्सपीरियन्स देता है। अच्छी सेक्स लाइफ के लिए एक अच्छा सेक्सुअल बिहेवियर होना बहुत ज़रूरी है। दूसरी ओर, सेफ्टी पर विचार न करना आपको कई समस्याओं में डाल सकता है। असुरक्षित यौन व्यवहार जोड़े को यौन संचारित रोगों (एसटीडी) के लिए उजागर कर सकता है, जिसका दोनों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

5. नींद की कमी

दैनिक कार्य करने और स्वस्थ रहने के लिए आपके साथी को उचित आराम की आवश्यकता होती है। नींद की कमी को हार्मोनल समस्याओं, मानसिक पीड़ा और इरेक्टाइल डिसफंकशन से जोड़ा गया है। खराब स्लीपिंग साइकल महिलाओं में इन्फर्टिलिटी के जोखिम को बढ़ा सकती है।

यह भी पढ़ें : डियर लेडीज, इंटिमेट हेल्थ और सेक्स टिप्स के लिए फॉलो करें 7 इंस्टाग्राम एकाउंट

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें