फॉलो
वैलनेस
स्टोर

डियर लेडीज, ओरल सेक्‍स भी दे सकता है आपको संक्रमण का खतरा, जानिए इससे बचने के 5 तरीके

Updated on: 10 December 2020, 13:29pm IST
बहुत कम ही लोग यह जानते हैं कि ओरल सेक्स करने से भी सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STIs) हो सकते हैं। यही कारण है कि अपने पार्टनर के साथ अनजाने में मस्ती करने से पहले इन सुझावों का पालन करना जरूरी है।
  • 77 Likes
किसी भी स्थिति में डॉक्टर से परामर्श लेना जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आपने अक्सर सुना होगा कि गर्भावस्था और सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STIs) से बचने के लिए हम कंडोम का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं ओरल सेक्स (oral sex) के दौरान भी आप संक्रमण की शिकार हो सकती हैं।

आप में से जो लोग इसके बारे में नहीं जानते हैं कि वास्तव में ओरल सेक्स क्या होता है। तो आइए सबसे पहले आपको इसके बारे में बताते हैं। यह एक ओरल एक्टिविटी है। जिसमें मुंह, जीभ, होंठ का इस्तेमाल किया जाता है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

ओरल सेक्स का मतलब एक पार्टनर का अपने मुंह, जीभ, होंठ आदि का उपयोग करके दूसरे पार्टनर के जननांगों, गुदा या संवेदनशील शारीरिक हिस्सों को उत्तेजित करना होता है। ओरल सेक्स के दौरान प्रेगनेंसी का जोखिम नहीं होता। लेकिन निश्चित रूप से संक्रमण होने का खतरा होता है।

जानिए कैसे आप ओरल सेक्‍स के दौरान भी हो सकती हैं यौन संक्रमण की शिकार

आप ओरल सेक्स के माध्यम से कई यौन संचारित संक्रमण प्राप्त कर सकती हैं, चाहे वह क्लैमाइडिया (chlamydia) हो या ट्राइकोमोनिएसिस (trichomoniasis)।

क्लैमाइडिया (chlamydia)

क्लैमाइडिया (chlamydia) के मामले में संभावित रूप से कोई लक्षण दिखाई नहीं देता। यदि यह आपके जननांगों को प्रभावित करता है, तो पेशाब के दौरान आपकी योनि में से हरा या पीला डिस्चार्ज होने का अनुभव हो सकता है।

यौन रोग का संक्रमण ओरल सेक्‍स से भी हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
यौन रोग का संक्रमण ओरल सेक्‍स से भी हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

साथ ही बीच-बीच में अचानक ब्लीडिंग, योनि में खुजली और जलन भी हो सकती है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अनुसार संक्रमण आपके साथी के लिंग या गुदा पर ओरल सेक्स करने के कारण भी गले को प्रभावित कर सकता है।

गोनोरिया (Gonorrhoea)

गोनोरिया कई मायनों में क्लैमाइडिया (chlamydia) के समान है। इससे प्रभावित योनि से सफेद डिस्चार्ज, पेशाब करते समय जलन, मलाशय में दर्द और गले में खराश जैसे अनुभव हो सकते हैं।

सिफलिस (Syphilis)

सिफलिस वास्तव में इसका कोई विशेष लक्षण नहीं है, लेकिन जब यह होता है तो आपको अपने होंठ, मुंह, गले या जननांगों में दर्द, या घाव हो महसूस हो सकता है। आप अपने मध्य भाग, अपने हाथों की हथेलियों और पैरों के तलवों पर भी चकत्ते महसूस कर सकती हैं।

एचपीवी या मानव पैपिलोमावायरस (HPV or human papillomavirus)

यह आपके शरीर को कई तरीकों से परेशान करता है। कुछ मामलों में यह आपके गले या जननांगों में मस्से पैदा कर सकता है। लेकिन गंभीर मामलों में यह आपके वोकल कोर्ड (Vocal Cord), सांस लेने में तकलीफ और गर्भाशय ग्रीवा, योनि, गुदा, लिंग के सिर या गर्दन के कैंसर का कारण बन सकता है।

सेक्‍स के दौरान प्रोटेक्‍शन से समझौता न करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
सेक्‍स के दौरान प्रोटेक्‍शन से समझौता न करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

ट्राइकोमोनिएसिस (Trichomoniasis)

ट्राइकोमोनिएसिस आपके यौन अंगों को प्रभावित कर सकता है। इससे आप पेशाब करते समय डिस्चार्ज, योनि का लाल होना, उसमें खुजली और जलन को महसूस कर सकती हैं। साथ ही आपको ओरल सेक्स से एचआईवी संक्रमण का भी खतरा होता है। हालांकि इसका जोखिम बहुत कम होता है।

जानें ओरल सेक्स के दौरान आप संक्रमण से कैसे बच सकती हैं

कुछ ऐसे लोग भी हैं जो कहते हैं कि किसी भी रूप में सेक्स से परहेज करना ही बेहतर है। लेकिन हम सभी जानते हैं कि यह संभव नहीं है। तो ऐसे में हम आपको ओरल सेक्स के दौरान खुद को संक्रमण से बचने के लिए 5 तरीके बता रहे हैं।

1. ओरल सेक्स के दौरान भी कंडोम का इस्तेमाल करना

शुरुआत करने के लिए अपने पार्टनर से ओरल सेक्स के दौरान भी कंडोम का इस्तेमाल करने के लिए कहें। हां हम जानते हैं कि लोग उपयोग करते हैं। लेकिन हमारा सुझाव है कि इसका उपयोग हर समय किया जाना चाहिए। इससे थोड़ी परेशानी होती है, लेकिन यह निश्चित रूप से संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करता है।

2. सही कंडोम चुनें और सही उपयोग करें

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ओरल सेक्स के दौरान सुरक्षा के लिए गैर-चिकनाई वाले लेटेक्स कंडोम का उपयोग करने की सलाह देता है। यदि आपको या आपके पार्टनर को लेटेक्स से एलर्जी है। तो आपको एक प्लास्टिक (पॉलीयुरेथेन) कंडोम का इस्तेमाल कर सकते हैं।

कंडोम इस्‍तेमाल करने से पहले आपको उसके अच्‍छे और बुरे पक्ष भी जान लेने चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

याद रखें कि यह केवल कंडोम का उपयोग करने के बारे में नहीं है। बल्कि इसे सही तरीके से इस्तेमाल करने के लिए भी है। आपको एक्सपायर्ड कंडोम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। साथ ही इससे किसी भी यौन गतिविधि से पहले इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। चाहे आप ओरल सेक्स ही क्यों न कर रहे हों।

3. एक डेंटल डैम का इस्तेमाल करें

यदि आप ओरल सेक्स कर रही हैं। तो आपको डेंटल डैम का उपयोग करना चाहिए। मुंह का कंडोम या डेंटल डैम लेटेक्स या पॉलीयुरेथेन (polyurethane) जैसे स्ट्रेच मैटीरियल से बना होता है, जिसका प्रयोग ओरल सेक्स के दौरान संक्रमण एवं यौन रोगों से बचने के लिए किया जाता है।

दरअसल, ओरल सेक्स के दौरान योनि, लिंग और जननांगों के आसपास मुंह, होंठ और जीभ का इस्तेमाल किया जाता है जिसके कारण यौन संचारित रोग फैलने का खतरा रहता है। इन समस्याओं से बचाव के लिए डेंटल डैम का इस्तेमाल किया जाता है।

4. अपने मुंह को साफ रखें

मुंह को साफ रखना बहुत जरूरी है। दांतों की समस्या, मसूड़ों की बीमारी या मसूड़ों में ब्लीडिंग सभी सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STIs) को जन्म दे सकते हैं।

ओरल सेक्‍स में भी प्रोटेक्‍शन होना बहुत जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
ओरल सेक्‍स में भी प्रोटेक्‍शन होना बहुत जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

यही कारण है कि नियमित रूप से ब्रश करने और दांतों को धागे से अच्छी तरह साफ करना बहुत जरूरी है। ये आदतें आपको ओरल सेक्स के दौरान सुरक्षित रखने में बहुत फायदेमंद है।

5. नियमित रूप से अपना टेस्ट करवाएं

आप कई सावधानियां बरतने के बावजूद संक्रमित हो सकते हैं। यदि आप यौन रूप से सक्रिय हैं तो हर बार जांच करवाना भी महत्वपूर्ण है।

तो महिलाओं, इन सुझावों का पालन करें और दुनिया में बिना किसी चिंता के ओरल सेक्स का आनंद लें!

यह भी पढ़ें – ये हैं वे 4 गलतियां जो आप वेजाइना को साफ करते हुए आप करती हैं, जानिए क्‍या है सही तरीका

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *