क्या मास्टरबेशन से बढ़ जाता है हेयर फॉल? आइए दूर करते हैं ऐसे ही कुछ मिथ्स

सेक्स के बारे में जितनी कम जानकारी होगी, समस्याएं और मिथ्स उतने ज्यादा होंगे। इसलिए जरूरी है कि आप मास्टरबेशन के बारे में कुछ जरूरी फैक्ट्स भी जान लें।

Masturbation se judi myth ko kare dur
मास्टरबेशन से जुड़ी मिथ को करें दूर। चित्र: शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 12 November 2022, 20:00 pm IST
  • 149

मास्टरबेशन (Masturbation) पूरी तरह से सामान्य है और यह बेहद आम भी है। सभी उम्र के लोग मास्टरबेशन करते हैं और यह अक्सर उनके लिए पहला यौन अनुभव होता है। हालांकि, हर कोई हस्तमैथुन करने का आनंद नहीं लेता है और ऐसा करने की वजह है इसके पीछे के कुछ मिथ्स हैं। अगर आप भी इसके पीछे फैली हुई ग़लतीफमियों में फसे हैं तो आज हम आपको कुछ ऐसे फैक्ट्स बताएंगे जो हस्तमैथुन को लेकर आपकी सोच बदल सकते हैं।

मास्टरबेशन क्या होता है (How to masturbate)

हस्तमैथुन वह क्रिया होती है जब आप अपने जननांगों को टच करने से यौन सुख की प्राप्ति करते हैं, खासतौर पर अपने हाथ का इस्तेमाल करके। मास्टरबेशन अधिकतर अपने जननांगों को स्पर्श करके किया जाता है लेकिन आप अपने साथी के साथ भी इसे कर सकते हैं। इसकी मदद से ऑर्गज्म (orgasm) की प्राप्ति होती है। बहुत से लोग अपने पार्टनर के साथ हेल्दी सेक्स लाइफ पाने के लिए भी हस्तमैथुन करते हैं।

Periods mein masturbate karna ha healthy
पिरियड्स में मास्टरबेट करना है हेल्दी। चित्र:शटरस्टॉक

पुरुष अपने लिंग (penis) को रगड़कर या हाथ ऊपर नीचे घुमाकर मास्टरबेशन करते हैं। वहीं महिलाएं अपनी वेजाइना (vagina) के आस-पास के भाग को रगड़ने के लिए अपनी उंगलियों का इस्तेमाल करती हैं। मास्टरबेशन करने का कोई सही और गलत तरीका नहीं होता है। जिस प्रकार से आपको यौन सुख की प्राप्ति होती है आप हस्तमैथुन कर सकते हैं।

डॉ. क्यूटरस के नाम से इंस्टाग्राम पर मशहूर डॉ. तनाया नरेंद्र जो कि एक स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं। वह कहती हैं कि यदि आप हस्तमैथुन नहीं करना चाहते हैं – आपके लिए अच्छा है। और यदि आप हस्तमैथुन करना चाहते हैं – तो यह भी आपके लिए अच्छा है। मास्टरबेशन एक व्यक्तिगत पसंद है, और बहुत से लोग ऐसा मानते हैं कि मास्टरबेशन न करने से उन्हें बेहतर नींद, बेहतर एकाग्रता आदि में सहायता मिलती है – यदि आप उन लोगों में से एक हैं, तो मैं आपके लिए बहुत खुश हूं।

यह भी पढ़े- काले होंठों का जादुई उपचार हैं ये घरेलू नुस्खे, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

हालाँकि, यह कहना कि मास्टरबेशन करना बुरा है क्योंकि इससे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है, केवल गलत सूचना है। मास्टरबेशन करने से आपकी ऊर्जा कम नहीं होती है, यह आपको कमजोर नहीं बनाता है। यह सब वैज्ञानिक रूप से गलत है। ऐसे ही कुछ और भी मिथ्स हैं जिसके बारे में आज हम बात करेंगे।

1. क्या मास्टरबेशन से बाल झड़ते हैं।

मिथ: एक्सपर्ट कहती हैं कि यह एक मिथ है कि मास्टरबेशन से हेयर फॉल होने की समस्या होती है। यदि आपके बाल अधिक झड़ रहे हैं तो आपको अपने बालों के लिए सही उपचार की आवश्यकता है।

Thyroid-and-hair-fall
बाल झड़ने का एक कारण तनाव भी हो सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

2. क्या मास्टरबेशन से स्टेमिना कम होता है।

मिथ: डॉ. कहती है कि मास्टरबेशन से स्टेमिना कम होने की समस्या नहीं होती है। आप जब भी सेक्शुअली अराउज्ड फील करती हैं तो आप हस्तमैथुन कर सकती हैं। यह आपके एक्साइटमेंट पर निर्भर करता है कि आप कितनी बार कितना मास्टरबेशन कर रहे हैं। इससे स्टैमिना की कमी नहीं होती है यह एक मिथ है।

3. क्या मास्टरबेशन से बॉडी में प्रोटीन की कमी होती है।

मिथ: डॉ. तनाया कहती है कि हस्तमैथुन करने से सेक्शुअल ऐपेटाइट को शांत किया जा सकता है। लेकिन कुछ लोग मानते हैं कि ऐसा करने से शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है और इससे ग्रोथ पर भी असर होता है। जोकि सच नहीं है।

4. क्या मास्टरबेशन से स्पर्म काउंट पर असर होता है।

मिथ: मास्टरबेशन करते समय बॉडी से निकलने वाला स्पर्म न आपकी इम्युनिटी कमजोर है न ही स्पर्म काउंट पर असर डालता है। बल्कि फैक्ट यह है कि यह एक एक्सरसाइज है जिससे शरीरिक और मानसिक सुख की प्राप्ति होती है। स्पर्म एक ऐसी चीज है जो पुरुषों के शरीर में दिन-रात बनती रहती है। यह बनता ही इसलिए कि यह बाहर निकले, न कि बॉडी में जमा हो।

वास्तव में, हस्तमैथुन के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। लेकिन आप जो भी करना चुनते हैं, बस सुनिश्चित करें कि आपको उचित सुचना प्राप्त है। यदि आप हस्तमैथुन के साथ एक जटिल संबंध रखते हैं और आप इसके बारे में “बहुत अधिक” चिंतित हैं। तो आप किसी विशेषज्ञ से बात कर सकते हैं जो आपकी मदद कर सकता है।

यह भी पढ़े- यहां हैं 5 लाइफस्टाइल रेमेडीज, जिनसे आपकी सेक्स ड्राइव हो सकती है हाई

  • 149
लेखक के बारे में
निशा कपूर निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory