वैलनेस
स्टोर

Vaginal infection : योनि में होने वाले यीस्ट इंफेक्शन के इन 6 कारणों को जानें और सावधान रहें

Updated on: 10 December 2020, 15:16pm IST
मानसून में वेजाइना में इंफेक्‍शन होने के कई कारण हो सकते हैं। पर इनमें सबसे ज्‍यादा होता है वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन। इसके बारे में हम आपको दे रहे हैं ए टू जेड जानकारी।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes
अंडरवियर हाइजीन का भी ध्‍यान रखें। चित्र : शटरस्टॉक

मानसून में आपका वेजाइना काफी परेशान हो जाता है। अगर आपकी योनि यानी वेजाइना में जलन, खुजली, दर्द या सफ़ेद डिस्चार्ज हो रहा है, तो यह यीस्ट इंफेक्शन के लक्षण हो सकते हैं।

रोचक तथ्य यह है कि यह यीस्ट कहीं बाहर से नहीं आती, हमारे शरीर में पहले से ही मौजूद होती है। कैंडिडा नामक यीस्ट हमारे शरीर में होती है, और इसके वातावरण में असंतुलन होने पर यह हमारी वेजाइना में इन्फेक्शन पैदा करती है।

लेकिन क्या अंसतुलन है जिसके कारण यह यीस्ट इतना बढ़ जाती है? और इस असंतुलन के कारण क्या हैं? आइये जानते हैं।

1. एंटीबायोटिक्स

यह तो आप जानती ही होंगी कि हमारे शरीर में जरूरी बैक्टीरिया होते हैं। हालांकि एंटीबायोटिक दवा खतरनाक बैक्टीरिया को मारने के लिए होतीं हैं, लेकिन कभी-कभी यह हेल्दी बैक्टीरिया को भी खत्म कर देतीं हैं।

एंटीबायोटिक्‍स का सेवन भी यीस्‍ट इंफेक्‍शन का कारण हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की रिसर्च में पाया गया कि वेजाइना का नेचर हल्का सा एसिडिक होता है और एंटीबायोटिक दवाईयां उसे डिस्टर्ब कर देती हैं। वेजाइना के कम एसिडिक होने पर यह यीस्ट इंफेक्शन का रूप ले लेता है।

2. अनियंत्रित शुगर

ब्लड शुगर लेवल ज्यादा होने पर भी यीस्ट इंफेक्शन हो सकता है। 2014 की एक रिसर्च के अनुसार जिन महिलाओं को टाइप 2 डायबिटीज होती है, उन्हें वेजाइनल इन्फेक्शन्स होने का खतरा ज्यादा होता है। इसका कारण है शुगर, जो यीस्ट के लिए अनुकूल नहीं होती। डायबिटीज में जब आपका शुगर लेवल अचानक बढ़ जाता है तो यह यीस्ट इंफेक्शन की समस्या पैदा कर देता है।

3. मोटापा

क्या आप जानती हैं कि आपका बढ़ा हुआ वज़न यीस्ट इन्फेक्शन्स का कारण बन सकता है। यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन के शोध के अनुसार बॉडी फैट ब्लड में शुगर बढ़ाता है और यीस्ट को शुगर लुभाती है। यह तो हमने आपको बता ही दिया। इसलिए आपका हेल्दी होना कई तरह से आपके लिए ज़रूरी होता है।

मोटापा आपकी बहुत सारी परेशानियों का कारण हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. कमजोर इम्यून सिस्टम

कमजोर इम्यूनिटी तरह-तरह की बीमारियों का कारण होती है। इम्यूनिटी कमजोर होने पर शरीर का अच्छे और बुरे बैक्टीरिया का संतुलन बिगड़ जाता है, जिसके कारण यीस्ट इंफेक्शन की संभावना बढ़ जाती हैं।

5. टाइट अंडर गारमेंट्स

अगर आप टाइट या सिंथेटिक अंडरवियर पहन रहीं हैं तो आपकी वेजाइना सांस नहीं ले पाती। मतलब यह है कि हवा का बहाव वेजाइना के लिए ज़रूरी है। इसलिए कॉटन की अंडरवेयर पहनने की सलाह दी जाती है। इसके साथ ही गीला स्विमसूट या टाइट जीन्स से भी दूरी बनाएं रखें।

वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन : अपने अंडरगारमेंट्स की हाइजीन पर सबसे ज्यादा ध्यान दें ताकि ये बैक्टीरियाज का घर न बनने पाए। चित्र : शटरस्टॉक

6. हॉर्मोन्स का असंतुलन

प्रेगनेंसी हो या बर्थ कंट्रोल दवाईयां, यह हमारे हॉर्मोन्स का संतुलन बिगाड़ देती हैं, जिसके कारण वेजाइना इस प्रकार के इंफेक्शन की चपेट में आ जाती है।

वेजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन से बचने के लिए आपको तीन बातों का ख्याल रखना है। हेल्दी खाएं, एक्सरसाइज करें और सही कपड़ों का चुनाव करें। इन छोटे-छोटे प्रयासों से आप खुद को बड़ी तकलीफ़ से बचा सकती हैं।

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।