सावधान! आपके पार्टनर की आंखों को इन 3 तरह से नुकसान पहुंचा सकती है वियाग्रा

Published on: 4 May 2022, 20:00 pm IST

वियाग्रा भले ही बेड पर उनकी परफॉर्मेंस बढ़ा दे, पर भविष्य में ये उनकी आंखों की रोशनी के लिए खतरा पैदा कर सकती है। एक नई स्टडी में इस बात का दावा किया गया है।

viagra ke side effects
पुरुषों में वियाग्रा के साइड इफेक्ट। चित्र : शटरस्टॉक

महिलाओं और उनके साथी के लिए ये एक चौंका देने वाली खबर है। एक नई स्टडी ने पुरुषों की चिंता बढ़ा दी है जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन की दवाओं का सेवन करते हैं। वैंकूवर, कनाडा, स्टीयर में यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया द्वारा की गई इस नई स्टडी में वियाग्रा और ऐसी अन्य दवाओं के साइड इफेक्ट्स के बारे में बताया गया है।

स्टडी में बताया गया है कि वियाग्रा के सेवन से फायदे तो हो सकते है। मगर, इसके कई नुकसान भी हैं जैसे यदि नियमित रूप से वियाग्रा, सियालिस, लेविट्रा और स्टेंद्र जैसी दवाओं का सेवन किया जाए, तो आंखों की तीन सबसे गंभीर समस्याओं के होने की 85 प्रतिशत संभावना बढ़ जाती है।

जामा ऑप्थल्मोलॉजी में इस स्टडी को विस्तार से बताते हुए ये कहा गया है कि फॉस्फोडिएस्टरेज़ टाइप 5 इनहिबिटर का रोजाना इस्तेमाल करने से ब्लड फ्लो तो बढ़ सकता है। मगर इससे पुरुषों में कई गंभीर समस्या उत्पन हो सकती है जैसे कि –

1. सीरियस रेटिनल डिटैचमेंट : बिना आंसू के रेटिना के पीछे द्रव जमा हो जाना।

2. रेटिनल वैस्कुलर ऑक्लूजन : रेटिना की नसों में खून के थक्के जमा होना।

3. इस्केमिक ऑप्टिक न्यूरोपैथी : ऑप्टिक नसों में खून की सप्लाई अच्छे से न होना।

स्टडी के मुताबिक, 213,033 पुरुषों के अध्ययन के आधार पर इरेक्टाइल डिसफंक्शन की दवाओं का इस्तेमाल करने वालों में तीन आंखों की खतरनाक बीमारियां देखी गई। इसलिए महिलाओं को और उनके पार्टनर को इन दवाओं के सेवन से बचना चाहिए और सतर्क रखना चाहिए। यदि इसके सेवन से आंखों से जुड़ी कुछ समस्या होती है तो तुरंत डॉक्टर और विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए।

यूबीसी फैकल्टी ऑफ मेडिसिन में नेत्र विभाग के एक प्रोफेसर डॉ माहयार एत्मिनन ने इसे दुर्लभ स्थिति बताया है। वे बताते हैं कि लगभग 20 मिलियन प्रेसक्रिपशन हर साल दिये जाते हैं, जिसका मतलब है कि काफी बड़ी संख्या में लोग इससे प्रभावित हो सकते हैं।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्यों होता है?

बहुत सारी महिलाएं ये सोचती है कि इरेक्टाइल डिसफंक्शन से पुरुष गुजरते है इस वजह से वह सेक्स में रूचि खो देते हो। मगर इसके पीछे कई गंभीर वजह हो सकती है। क्योंकि मधुमेह, उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप और इस्केमिक हृदय रोग, अवसाद आदि के अलावा और भी कुछ ऐसे कारण हैं जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन का कारण बन सकते हैं । वहीं क्या आपको ये पता है कि ये शीघ्रपतन के बाद पुरुषों में सबसे आम यौन विकारों में से एक है?

इन सबसे निपटने के लिए एक महिला सबसे बड़ी भूमिका निभा सकती है। इसलिए इसके बारे में उनसे बात करें। दोनों मिल कर इस समस्या से निपट सकते हैं। वहीं जरूरत पड़ने पर किसी डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं। क्योंकि अब आपको पता है कि वियाग्रा का सेवन आपके साथी को क्या नुकसान पहुंचा सकता है।

यह भी पढ़ें : फोर प्ले से लेकर कडलिंग तक, यहां हैं वे चीजें जो आपको ऑर्गेज़्म तक पहुंचा सकती हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें