और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

क्या किसी गंभीर बीमारी का संकेत है बार-बार पेशाब आना? आइए जानें कितनी बार पेशाब करना है नॉर्मल

Published on:24 September 2021, 09:30am IST
क्या आपको दिन में कई बार वॉशरूम भागना पड़ता है? जाहिर है, बार-बार पेशाब आना सामान्य बात नहीं है और इसलिए हम चाहते हैं कि आप इसके पीछे के मुख्य कारणों को जानें और स्वस्थ रहें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 101 Likes
baar baar peshab aane ke karan
क्या किसी गंभीर बीमारी का संकेत है बार-बार पेशाब आना? चित्र : शटरस्टॉक

दिन के दौरान बार-बार पेशाब करने से लेकर रात के बीच में पेशाब करने की जरूरत महसूस होना- यह सब इस बात का संकेत हो सकता है कि आपके साथ कुछ गड़बड़ है। अत्यधिक पेशाब हमेशा अत्यधिक पानी पीने का कारण नहीं होता है, यह विभिन्न कारणों से हो सकता है।

आप दिन में कितनी बार पेशाब करते हैं? आपने इसके बारे में कभी नहीं सोचा होगा? मगर आप एक दिन में कितनी बार पेशाब करते हैं, यह आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ बता सकता है।

बार-बार पेशाब आने के कारणों को समझने के लिए, हमने वॉकहार्ट अस्पताल, मीरा रोड की सलाहकार प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ, डॉ सरिता चन्नावर से संपर्क किया।

एक दिन में कितनी बार पेशाब करना सामान्य है?

डॉ चन्नावर कहती हैं, “दिन में लगभग 4-10 बार पेशाब करना सामान्य और आवश्यक है।” हालांकि, ज्यादातर लोग एक दिन में औसतन चार से सात बार पेशाब करते हैं। लेकिन बिल्कुल नहीं जाना या दिन में सिर्फ एक या दो बार पेशाब करना अनहेल्दी है और ऐसा बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए।

उसी तरह, यदि आप देखते हैं कि अचानक, आपका शौचालय जाना बढ़ गया है, तो संभावना है कि आपको बार – बार पेशाब आने की समस्या हो सकती है, जो सामान्य नहीं है। वास्तव में, यह स्थिति कई अन्य चिकित्सीय स्थितियों से संबंधित हो सकती है जिन्हें संबोधित करने की आवश्यकता है। इसलिए आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि आप दिन में कितनी बार पेशाब करती हैं।

urinary tract infection ke karan
यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन का खतरा भी होता है।
चित्र-शटरस्टॉक।

यहां बताया गया है कि बार-बार पेशाब आना आपके स्वास्थ्य के बारे में क्या संकेत दे सकता है

1. कुछ चिकित्सीय स्थितियां

डॉ. चन्नावर का कहना है कि यदि आप अधिक बार पेशाब जा रहे हैं, तो यह ओवरएक्टिव ब्लैडर सिंड्रोम, मूत्राशय कैंसर, यूटीआई, या प्रोस्टेट समस्याओं जैसी कई स्थितियों का लक्षण हो सकता है, और आपकी नींद भी खराब कर सकता है।

2. मूत्र मार्ग में संक्रमण

डॉक्टर चन्नावर कहते हैं, यूरिनरी ट्रैक्ट या ब्लैडर इंफेक्शन होने से भी आपको बार-बार पेशाब आने लगेगा। एक मूत्र पथ संक्रमण (यूटीआई) मूत्र प्रणाली का संक्रमण है। इस स्थिति के लक्षणों में दर्दनाक पेशाब, आपकी तरफ या पीठ के निचले हिस्से में दर्द महसूस होना और बार-बार पेशाब करना शामिल है। अधिकांश यूटीआई का इलाज एंटीबायोटिक से किया जा सकता है।

3. इंटरस्टिशियल सिस्टिटिस

लोगों में इंटरस्टिशियल सिस्टिटिस (एक दर्दनाक मूत्राशय की स्थिति जिसके कारण बार-बार पेशाब आता है) देखा जा सकता है। इसमें हल्की बेचैनी से लेकर गंभीर दर्द होता है। यह स्थिति ब्लैडर सिंड्रोम के रूप में जानी जाने वाली बीमारियों के एक स्पेक्ट्रम का एक हिस्सा है।

4. गर्भावस्था के कारण

गर्भावस्था के दौरान बार-बार पेशाब आना भी देखा जाता है, क्योंकि मूत्राशय सिकुड़ जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बच्चा शरीर के अंदर अधिक जगह लेता है।

pregnancy mein baar baar aati hai peshab
गर्भावस्‍था के कारण बार बार आ सकती है पेशाब. चित्र: शटरस्‍टॉक

5. गुर्दे के रोग

डॉ चन्नावर कहती हैं, “बार-बार पेशाब आना किडनी की बीमारी का संकेत दे सकता है, और पेट में दर्द और बुखार के साथ यूटीआई भी हो सकता है।” जब बार-बार पेशाब आने के साथ कमजोरी या सोने में परेशानी, पेशाब में खून, भूख न लगना और मांसपेशियों में ऐंठन के लक्षण हों, तो आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

6. मधुमेह

ज्यादातर लोग जानते हैं कि बहुत अधिक पेशाब करना मधुमेह के शुरुआती लक्षणों में से एक है। चन्नावर कहती हैं, ” इस समस्या में मूत्राशय सिकुड़ता है, जिससे बार-बार पेशाब आता है।”

coffee peenee ke nuksaan
कॉफी से सतर्क रहें। चित्र: शटरस्टॉक

7. मूत्रवर्धक

एक मूत्रवर्धक एक ऐसी चीज है जो आपके सामान्य से अधिक बार पेशाब करने का कारण बनती है। आप शायद सामान्य मूत्रवर्धक से परिचित हैं – बीयर, वाइन, शराब और कैफीन (कॉफी या चाय)। इसके अलावा, उच्च रक्तचाप जैसी अन्य स्थितियों के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली कुछ दवाओं के मूत्रवर्धक दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

डॉ चन्नावर कहती हैं, “मूत्रवर्धक का चयन करने का मतलब है कि उच्च रक्तचाप का इलाज करने के लिए दवाएं या गुर्दे में द्रव निर्माण कार्य और अतिरिक्त तरल पदार्थ शरीर से बाहर निकाल दिया जाता है। इससे बार-बार पेशाब आता है।”

बार-बार पेशाब आने की समस्या कब होती है?

यदि आपको पूरा यकीन है कि आपके बार-बार पेशाब आने के पीछे ओवर हाईड्रेटशन, बहुत अधिक कैफीन या गर्भावस्था नहीं है – तो यह निश्चित रूप से अपने डॉक्टर से अपॉइंटमेंट शेड्यूल करने का सही समय है। अपनी चिंताओं के बारे में डॉक्टर से बात करना और सटीक निदान प्राप्त करना महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें : जानिए क्यों काला पड़ जाता है वेजाइनल एरिया का रंग, यहां हैं इसके लिए कुछ घरेलू उपाय

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।