हेल्दी एक्टिविटी है मास्टरबेशन, पर ज्यादा करने लगी हैं, तो इन तरीकों से करें कंट्रोल

ये पूरी तरह आप पर निर्भर है कि आप अपने शरीर को कैसे एक्सप्लोर करना चाहती हैं। पर अगर आपको लगता है कि ये अन्य गतिविधियों को बाधित कर रहा है, तो इसे कंट्रोल करें।

kya hain masturbation ke side effects
हस्तमैथुन करना परेशान कर रहा है, तो जानिए इसे कैसे रोकना है। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 14 September 2022, 23:00 pm IST
  • 151

जब हम बड़े हो रहे होते हैं, तो अपनी बॉडी को एक्सप्लोर (Body Explore) करना शुरू करते हैं। इसी वजह से कई छोटे बच्चे आपको अपने जेनिटल्स (Genitals) से खेलते हुए नज़र आएंगे। जब बच्चे को अपने शरीर के किसी अंग को छूने पर अच्छा लगता है, तो वे इसे बार – बार करता है। और इसे ही प्लेजर कहा गया है – जो आगे चलकर मास्टरबेशन का रूप लेता है। ये एक तरह से खुद को जानने – समझने का प्रोसेस है, जिससे हर कोई गुज़रता है। पर कभी-कभी ऐसा लगता है कि मास्टरबेशन आपके पार्टनर के साथ संबंध या डेली रुटीन में बाधा बन रहा है, तो इसे कंट्रोल करना (How to stop masturbation) जरूरी हो जाता है। यहां जानिए आप इसे कैसे कंट्रोल कर सकती हैं।

अकसर, बड़े होकर सोशल कंडीशनिंग (Social Conditioning) की वजह से हम खुद को मास्टरबेट करने के लिए गिल्ट में डालते हैं। खासकर जब महिलाओं यानी फीमेल प्लेजर या मास्टरबेशन की बात आती है, तो ये एक टैबू बन जाता है। इस बारे में लोग खुल कर बात करने से भी कतराते हैं।

इसी वजह से फीमेल मास्टरबेशन को लेकर ज़्यादा जागरूकता नहीं है और हम ये भी नहीं समझ पाते कि क्या मास्टरबेट करना सही है? क्या ये हेल्दी है? क्या ज़्यादा मास्टरबेशन करने के कोई साइड इफैक्ट हैं। तो चलिये आज इस लेख के माध्यम से जानते हैं फीमेल मास्टरबेशन (Female Masturbation) के बारे में कुछ जरूरी तथ्य।

मास्टरबेशन क्या है?

हस्तमैथुन आपके जननांगों को यौन रूप से उत्तेजित करके ऑर्गेज्म तक पहुंचने का एक तरीका है। ये पूरी तरह से सेल्फ – प्लेजर या कहें खुद को खुश करने का एक तरीका है। महिला या पुरुष इसे कोई भी कर सकता है और ये बिल्कुल नॉर्मल है।

भले ही मास्टरबेशन में कुछ भी गलत नहीं है, लेकिन इसे न करना भी ठीक है। कुछ लोगों में स्वाभाविक रूप से सेक्सुअल ड्राइव का स्तर कम होता है। इसलिए वे चाहें तो इसे न करें, ये उन पर निर्भर करता है।

orgasm
कैसे उंगलियां आपको ओर्गाज़्म तक पहुंचने में मदद कर सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक

क्या हस्तमैथुन महिलाओं के लिए हानिकारक है?

नहीं, स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से, मास्टरबेशन महिलाओं लिए बिल्कुल भी हानिकारक नहीं है। कुछ लोग सोचते हैं कि नैतिक कारणों से मास्टरबेट करना बुरा है। मगर, यह एक व्यक्तिगत पसंद है।

महिलाओं के लिए रोजाना हस्तमैथुन करना हेल्दी है?

कुछ महिलाओं के लिए रोजाना हस्तमैथुन करना उनकी उम्र और यौन इच्छा के आधार पर सामान्य हो सकता है। जब तक हस्तमैथुन आपके समग्र ऊर्जा स्तर को प्रभावित नहीं करता है, और आपके दैनिक जीवन और गतिविधियों में बाधा नहीं बनता है, यह बिल्कुल सेफ हैं।

हालांकि, कुछ सेक्सोलॉजिस्ट रोजाना हस्तमैथुन करने को ज़्यादा मानते हैं। पुरुषों में रोजाना हस्तमैथुन करने से कमजोरी, थकान, शीघ्रपतन हो सकता है और आपके साथी के साथ यौन गतिविधियां बाधित हो सकती हैं।

जर्नल सेक्सुअल एंड रिलेशनशिप थेरेपी में प्रकाशित 2018 की समीक्षा में बताया गया है कि हस्तमैथुन के दौरान लिंग पर बहुत अधिक उत्तेजना से सनसनी कम हो सकती है।

zyada porn n dekhin
ज्यादा पोर्न देखना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. चित्र : शटरस्टॉक

यदि आपको लग रहा कि आप ज़्यादा मास्टरबेट करने लगी हैं, तो इसे कंट्रोल करने के लिए आप ये टिप्स अपना सकती हैं

1 पॉर्न देखना कम करें

यदि आप रोज़ाना पॉर्न देखती हैं तो इसे देखना कम कर दें। क्योंकि इसे देखने से शरीरिक उत्तेजना बढ़ती है और बार – बार देखने की वजह से आप मास्टरबेट करने के बारे में सोचेंगी। इसलिए, पॉर्न देखने की आदि हैं तो इसे धीरे – धीरे कम कर दें।

2 एक्सरसाइज़ करें

नियमित व्यायाम आपको मानसिक रूप से मजबूत रख सकता है। दौड़ना, तैरना, टहलना और जॉगिंग जैसे सरल व्यायाम सकारात्मकता बढ़ा सकते हैं। यह तनाव के स्तर को खत्म करता है और आपके दिमाग को शांत रखता है।

3 खुद को अन्य चीजों में शामिल करें

अपना मन किसी और एक्टिविटी में लगाएं, जिसमें आपको मज़ा आता हो। ये डांस, पेंटिंग बुक पढ़ना या मूवी देखना, कुछ भी हो सकता है। इससे आप बार – बार खाली समय में मास्टरबेट करने के बारे में नहीं सोचेंगी।

यह भी पढ़ें : ऑर्गेज्म की यात्रा में आपका पार्टनर बन सकता है वाइब्रेटर, जानिए इस्तेमाल से लेकर देखभाल तक सब कुछ 

  • 151
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory