ऐप में पढ़ें

क्या योनि का सूखापन दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है मॉइस्चराइज़र? चलिये पता करते हैं

Published on:18 October 2021, 18:30pm IST
एक निश्चित उम्र के बाद योनि का सूखापन एक सामान्य समस्या है, लेकिन इसके और भी कई कारण हो सकते हैं। तो, क्या आपको इससे निपटने के लिए वेजाइनल मॉइस्चराइज़र का उपयोग करना चाहिए?
vaginal dryness
उंगलियों के छिलने के पीछे का कारण रूखी त्वचा होती है चित्र : शटरस्टॉक

ड्राईनेस कभी भी हो सकती है। और यह किसी भी हिस्से की त्वचा के लिए परेशान करने वाली स्थिति हो सकती है। पर अगर यही सूखापन योनि में हो तो? यकीनन संभोग के लिए यह दर्दनाक स्थिति हो सकती है। इसके अलावा वेजाइनल इचिंग सहित और भी कई समस्याएं इसके साथ बिन बुलाए चली आती हैं। और जब मौसम बदलता है, तो यह समस्या और भी ज्यादा परेशान कर सकती है। तब क्या आप इसके लिए मॉइश्चराइजराइजर का इस्तेमाल कर सकती हैं? आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

आपकी योनि और उसका प्राकृतिक तरल

योनि की दीवारें तरल पदार्थ की एक पतली परत से चिकनाई युक्त रहती हैं। यह सब हार्मोन एस्ट्रोजन के कारण होता है, जो अस्तर को स्वस्थ और मोटा रखता है। मगर उम्र के साथ (ज्यादातर), आपकी योनि शुष्क और परतदार हो सकती है। जिसमें कभी-कभी खुजली भी हो सकती है। योनि का सूखापन वास्तव में आपके यौन जीवन को प्रभावित कर सकता है। इससे बचने के लिए मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करने से पहले कुछ मूलभूत बातों को जान लें।

योनि सूखापन (vaginal dryness) के कारण क्या हैं?

यह रजोनिवृत्ति का एक सामान्य लक्षण है और हर 3 में से 1 महिला इससे गुजरती है। साथ ही, एस्ट्रोजन के स्तर में गिरावट के कारण, आपकी योनि पतली और कम लोचदार हो जाती है। इसे योनि शोष (vaginal atrophy) भी कहा जाता है। पर इसके अलावा भी कुछ कारण हैं जो आपको वेजाइनल ड्राईनेस दे सकते हैं।

क्या आपको भी होती है वहां खुजली। चित्र: शटरस्टॉक

प्रसव और स्तनपान
कैंसर के लिए विकिरण या कीमोथेरेपी
अंडाशय को हटाना
एंटी-एस्ट्रोजन दवाएं, जिनका उपयोग गर्भाशय फाइब्रॉएड के इलाज के लिए किया जाता है
एलर्जी और सर्दी की दवाएं
एंटीडिप्रेसेन्ट
डूशिंग
सेक्स से पहले फोरप्ले की कमी

क्या वेजाइनल मॉइस्चराइजर का उपयोग करना चाहिए ?

दिल्ली की स्त्री रोग विशेषज्ञ प्रेरणा कुमार कहती हैं, “ऐसे मॉइस्चराइज़र न खरीदें जो रसायनों से लेस हों। आप जानती हैं कि योनि की त्वचा बहुत संवेदनशील होती है। बाजार में मौजूद रसायनयुक्त मॉइश्चराइजर वहां और अधिक जलन पैदा कर सकते हैं। इनमें मौजूद आर्टिफिशियल खुशबू और कैमिकल वास्तव में आपकी योनि को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

वे आगे कहती हैं, “अपनी योनि को साफ करने के लिए हल्के साबुन और पानी का उपयोग करें। एक बार जब आप अपनी योनि को धो लें, तो सुनिश्चित करें कि इसे एक तौलिये से थपथपाकर सुखाएं अथवा हवा में सूखने दें। इसके बाद सामान्यत: योनि अपना प्राकृतिक तरल तैयार कर लेती है।

डिहाइड्रेशन का संकेत हो सकती है क्रोनिक ड्राईनेस

इसके बावजूद अगर आपको ड्राईनेस महसूस होती है तो यह संकेत है कि आपको अपने शरीर पर ध्यान देने की आवश्यकता है। यह भी हो सकता है कि आप डिहाइड्रेटेड हैं। संभवत: आप स्वस्थ खाद्य पदार्थों का सेवन भी नहीं कर रही हैं। जिससे आपके शरीर में पानी की मात्रा कम होने लगी है।

इसे दूर करने के लिए आपको अपने आहार में पर्याप्त फल और सब्जियां शामिल करनी चाहिए। इससे योनि क्षेत्र में सूखापन कम होगा और चिकनाई बनी रहेगी।

वेजाइनल मॉइस्चराइज़र का उपयोग करना चाहिए। चित्र : शटरस्टॉक

नारियल तेल भी हो सकता है मददगार

इसके बावजूद आप योनि में सूखापन महसूस करती हैं, तो आप नारियल तेल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए पानी में नारियल के तेल की कुछ बूंदें मिलाएं। अपनी योनि को सप्ताह में तीन से चार बार लगभग 20 मिनट तक इस पानी से भिगोएं। आप बाथ टब में भी इस पानी को डालकर उसमें कुछ देर बैठ सकती हैं।

क्या इसका कोई गंभीर कारण भी हो सकता है?

योनि में नमी की कमी ज्यादातर हार्मोन के उतार-चढ़ाव के कारण होती है, जैसे कि स्तनपान या रजोनिवृत्ति/ पेरिमेनोपॉज़। यदि योनि का सूखापन आपको लगातार परेशान कर रहा है, तो जल्द ही डॉक्टर को दिखाएं। वे अन्य कारणों के साथ-साथ योनि संक्रमण या यूटीआई की भी जांच कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : यौन एवं संक्रामक रोगों के कलंक को दूर करने में ली जा सकती है युवाओं की मदद

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।