एक योगा एक्सपर्ट बता रहीं हैं अनियमित पीरियड को ठीक करने वाले 5 खाद्य पदार्थों के बारे में

अनियमित पीरियड की समस्या कई कारणों से हो सकती है। इससे आपके शरीर पर भी कई बदलाव दिख सकते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि आप हेल्दी लाइफस्टाल के साथ उन फूड्स के बारे में भी जानें जो आपके मेंस्ट्रुअल साइकल को सेट रखते हैं।
सभी चित्र देखे irregular periods food
एनीमिया से बचने के लिए आयरन महत्वपूर्ण है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 9 Nov 2023, 21:07 pm IST
  • 145

आजकल बदलती जीवनशैली हम सभी की सेहत पर कई तरह से असर डाल रही है। डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, मोटापा आदि कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे में महिलाएं अपने अंदर हो रहे बदलावों को लेकर भी चिंतित रहती हैं। अनियमित पीरियड्स इन्हीं समस्याओं में से एक है, जिससे आज ज्यादातर महिलाएं पीड़ित हैं। अगर आप लंबे समय से अनियमित पीरियड्स की समस्या से जूझ रही हैं तो अपने खान-पान में कुछ बदलाव करके इस समस्या से राहत पा सकती हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे फ़ूड आइटम्स के बारे में जिन्हें आप अनियमित पीरियड्स (food for irregular period) की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अपने आहार में शामिल कर सकती हैं।

क्यों अनियमित हो जाते हैं पीरियड्स?

हर महीने महिलाओं को पीरियड्स की समस्या और असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। जैसे- चक्कर आना,मूड स्विंग्स, थकान महसूस होना, पेट दर्द आदि। जिन महिलाओं को 21 दिन से पहले पीरियड्स आते हैं उन्हें अनियमित पीरियड्स की समस्या होती है। यह समस्या अक्सर अनहेल्दी फूड या स्ट्रेस के कारण हो सकती है। कई लड़कियों को पीसीओडी या पीसीओएस के कारण भी अनियमित पीरियड की समस्या हो सकती है। हार्मोनल असंतुलन और खराब खानपान के कारण हो सकते हैं।

irregular periods ke karan
जानिए आपके अनियमित पीरियड्स के संभावित कारणों के बारे में। चित्र : शटरस्टॉक

इसलिए इनका समाधान भी आपके लाइफस्टाइल और खानपान में ही छुपा है। आहार कैसे आपके पीरियड्स को प्रभावित करता है और अनियमित पीरियड्स के लिए कौन से फूड्स लेने चाहिए, इस बारे में बता रहीं हैं माधवी सोरीया ने। माधवी एक फिटनेस ट्रेनर और योगा एक्सपर्ट हैं।

क्या है फूड और मेंस्ट्रुअल साइकल का कनैक्शन (How food affect your menstrual cycle)

खाद्य पदार्थों का गर्भाशय पर कोई सीधा प्रभाव नहीं पड़ता है क्योंकि एक बार सेवन करने के बाद, वे पेट और आंतों से गुजरते हैं जो गर्भाशय से जुड़े नहीं होते हैं। हालाँकि, कुछ खाद्य पदार्थ पीरियड्स से पहले और उसके दौरान लक्षणों को प्रभावित कर सकते हैं। ऐसे खाद्य पदार्थों का चयन करने की सिफारिश की जाती है जो पीरियड्स के लक्षणों को कम कर सकते हैं।

अनियमित पीरियड में करें इन 5 खाद्य पदार्थों का सेवन

1 साबुत अनाज

साबुत अनाज जैसे ब्राउन राइस, क्विनोआ और साबुत गेहूं जटिल कार्बोहाइड्रेट और फाइबर के अच्छे स्रोत हैं। ये रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करने में मदद कर सकते हैं, जो हार्मोनल संतुलन के लिए महत्वपूर्ण है।

2 हरे पत्तेदार सब्जियां

पालक, केल और स्विस चार्ड जैसी पत्तेदार हरी सब्जियां कई जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर होती है। जो आपके प्रजनन प्रणाली में मदद करती है और आपके पीरियड साइकिल को नियंत्रित कर सकती हैं।

ये आयरन, कैल्शियम और विटामिन बी से भरपूर हैं। एनीमिया से बचने के लिए आयरन महत्वपूर्ण है, जो कुछ महिलाओं में पीरियड के दौरान एक आम समस्या है। विटामिन बी समग्र हार्मोनल स्वास्थ्य का समर्थन करता है। अपने आहार में अधिक पत्तेदार सब्जियां शामिल करने से ये आवश्यक पोषक तत्व मिल सकते हैं।

3 फैटी फिश है लाभदायक

सैल्मन, मैकेरल और सार्डिन जैसी फैटी फिश ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होती हैं। ओमेगा-3 में सूजनरोधी गुण होते है और पीरियड के दर्द और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है। वे हार्मोनल संतुलन बनाए रखने में भी मदद करते है। पीसीओएस जैसी स्थितियों के कारण अनियमित पीरियड का अनुभव करने वाली महिलाओं के लिए फैटी फिश का सेवन विशेष रूप से फायदेमंद हो सकता है।

Adrack hai faydemand
अपने आहार में अदरक का सेवन करके अनियमित पीरियड से राहत पा सकते है। चित्र : शटरकॉक

4 अदरक

अदरक अनियमित पीरियड के लिए एक लोकप्रिय उपाय है जिसके बारे में माना जाता है कि यह पीरियड में लाभदायक हो सकता है। इसे इमेनगॉग माना जाता है, जिसका अर्थ है कि यह पीरियड फ्लो को बढ़ाकर या उत्तेजित कर सकता है। जबकि कुछ लोग अपने आहार में अदरक का सेवन करके अनियमित पीरियड से राहत पाते हैं।

5 बेरी

स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी और रास्पबेरी जैसी बेरी एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी से भरपूर होते हैं। एंटीऑक्सिडेंट सूजन को कम करने में मदद करते हैं, जो अनियमित पीरियड्स के लिए एक महत्वपूर्ण कारक हो सकता है। विटामिन सी आयरन अवशोषण में सहायता के लिए जाना जाता है। पीरियड के दौरान, आपको खून की कमी के कारण आयरन के स्तर में कमी का अनुभव हो सकता है।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें

ये भी पढ़े- High Uric Acid : गाउट की समस्या का कारण बन सकता है हाई यूरिक एसिड, जानिए इसे कैसे कंट्रोल करना है

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख