और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

क्या मासिक धर्म स्वास्थ्य को सुधारने के उपाय है? जानिए विशषज्ञ क्या कहते हैं

Published on:24 November 2021, 18:48pm IST
मासिक धर्म के स्वास्थ्य (Menstrual Health) और स्वच्छता को अक्सर महिलाएं अनदेखा करती हैं। भले ही यह अत्यंत महत्वपूर्ण हो। यहां कुछ तरीके दिए गए हैं जिनसे आप इसे सुधार सकती हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 104 Likes
Menstrual health hygiene ko ignore na kare
किसी भी कीमत पर अपने मासिक धर्म की स्वच्छता को नजरअंदाज न करें। चित्र:शटरस्टॉक

पीरियड्स आमतौर पर महिलाओं के लिए एक मुश्किल समय होता है। मिजाज से लेकर प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (PMS) तक, महीने का वह समय आपके दैनिक जीवन में हस्तक्षेप कर सकता है। उग्र हार्मोन और विभिन्न प्रकार की क्रेविंग के बीच में, एक चीज जिसे अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है वह है स्वच्छता और मासिक धर्म स्वास्थ्य की देखभाल। 

हालांकि, स्वास्थ्य के इन पहलुओं को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए। मासिक धर्म स्वच्छता और प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना चाहिए। ताकि शारीरिक बीमारियों और संक्रमणों से बचा जा सके। आपका मासिक धर्म स्वास्थ्य कई दैनिक और मासिक कारकों से प्रभावित होता है। इसलिए दैनिक जीवन में स्वच्छता रखना बहुत जरूरी है। 

यहां हैं इंटीमेट हाइजीन को बनाएं रखने के 5 तरीकें 

1. अपने शरीर को एक्टिव रखें 

आम धारणा के विपरीत, पीरियड्स के दौरान व्यायाम और हलचल से बचना अच्छा विचार नहीं है। वास्तव में, हल्के व्यायाम मासिक धर्म, मानसिक और समग्र स्वास्थ्य के लिए चमत्कार कर सकते हैं। मासिक धर्म के तनाव को कम करने के लिए योग एक अच्छे और विश्वसनीय विकल्प के रूप में कार्य करता है। 

Periods ke dauran bhi fitness routine follow kare
पिरियड्स के दौरान भी अपनी फिटनेस रूटीन को जारी रखें। चित्र:शटरस्टॉक

निर्देशित योग अभ्यासों के माध्यम से अपने शरीर को ध्यान से चलाने से तनाव और रक्त प्रवाह में सुधार करने में मदद मिल सकती है। यह मासिक धर्म में ऐंठन और दर्द की तीव्रता को कम करता है।

डिजिटलीकरण की शुरुआत के साथ, कोई भी आसानी से ऑनलाइन योग सत्रों का विकल्प चुन सकता है। अपने घर में आराम से इसके लाभों का आनंद ले सकता है। यह मासिक धर्म को बेहतर बनाने में मददगार हो सकते हैं। 

2. स्वच्छता का अभ्यास करें

हर समय अंतरंग स्वच्छता बनाए रखना महत्वपूर्ण है। खासकर आपके पीरियड्स के दौरान। भले ही योनि एक स्व-सफाई वाला अंग है, फिर भी संक्रमण को दूर रखने के लिए योनि को साफ रखने की जरूरत है। इसे सुनिश्चित करने के लिए, योनि को पीएच-बैलेंसिंग क्लींजर की मदद से धो सकते हैं। यह आपके मासिक धर्म के दौरान गंध को कम करने और स्वच्छता बनाए रखने में मदद कर सकता है।

संक्रमण या जलन के मामले में, जल्द से जल्द डॉक्टर से परामर्श करें। समय पर परामर्श से स्थिति को और अधिक बढ़ने से रोका जा सकता है और अच्छे स्वास्थ्य में मदद मिल सकती है।

3. स्वस्थ आहार का सेवन करें 

पीरियड हाइजीन, वेलनेस के अन्य क्षेत्रों की तरह, आपकी आहार संबंधी आदतों से काफी हद तक प्रभावित होती है। यह महत्वपूर्ण है कि व्यक्ति अपने मासिक धर्म और प्रजनन स्वास्थ्य को विनियमित करने के लिए एक संतुलित आहार का सेवन करे। इसमें महत्वपूर्ण पोषक तत्व शामिल होना आवश्यक है। 

मासिक धर्म शरीर के लिए थकाऊ हो सकता है, जिससे महिलाओं के लिए पौष्टिक आहार बनाए रखना और समय पर भोजन करना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। इससे उनके शरीर को पीरियड्स के साथ आने वाले बदलावों से निपटने में मदद मिलेगी।

Food pattern aapke period health ko affect karta hai
आपका खाने का पैटर्न पीरियड हेल्थ को प्रभावित करता है। चित्र:शटरस्टॉक

4. सप्लीमेंट लें

पीरियड क्रैम्प से राहत पाने के लिए पेन किलर का सेवन एक अच्छा समाधान लग सकता है। लेकिन लंबे समय के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए यह अच्छा विकल्प नहीं हैं। दर्द निवारक दवाओं के कई नकारात्मक प्रभाव होते हैं और लंबे समय तक और नियमित उपयोग के बाद अपना असर खो सकते हैं।

इसके बजाय यह सलाह दी जाती है कि किसी समग्र और प्राकृतिक समाधान का विकल्प चुनें। मासिक धर्म चक्र प्रबंधन में सप्लीमेंट सहायक हो सकते हैं। इनमें आवश्यक पोषक तत्व, विटामिन और खनिज होते हैं, जो अच्छे मासिक धर्म की सुविधा प्रदान करते हैं। यह मासिक धर्म के दर्द को कम करते हैं, जिससे प्राकृतिक और सुरक्षित रूप से मासिक धर्म प्रवाह को नियंत्रित करता है।

हालांकि, सामग्री और विक्रेताओं पर अपना शोध करना महत्वपूर्ण है। ऐसे ब्रांड का चयन करना सबसे अच्छा है, जो विश्वसनीयता सुनिश्चित करने के लिए डॉक्टरों तक पहुंच की अनुमति देते हैं। सुनिश्चित करें कि ब्रांड या विक्रेता को मासिक धर्म की दवाओं और आहार संबंधी आवश्यकताओं के बारे में अच्छी तरह से जानकारी हो। क्योंकि सही पोषक तत्वों का सेवन महत्वपूर्ण है।

5. डॉक्टर से सलाह लें

स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास नियमित रूप से जाना अच्छा अभ्यास माना जाता है। अपनी गाइनी का दौरा करना और समय-समय पर जांच करवाना महत्वपूर्ण है। खासकर 18-20 वर्ष से अधिक आयु वालों के लिए यह अभ्यास जरूरी है। जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, मासिक धर्म का स्वास्थ्य बदलता है। 

यही वजह है कि अपनी सेहत का ख्याल रखना महत्वपूर्ण है। डॉक्टर से परामर्श किसी भी अनियमितता या समस्या का पहले से पता लगाने में मदद कर सकता है। इससे आप खराब मासिक धर्म या प्रजनन स्वास्थ्य के लिए किसी भी अंतर्निहित चिंताओं का प्रबंधन कर सकेंगी।

Doctor consultation jaroor le
नियमित रूप से डॉक्टर की सलाह लें। चित्र : शटरस्टॉक

इसके अतिरिक्त, पीरियड्स और पीएमएस भी मन की शांति और संतुलन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालते हैं। लगातार तनाव भारी महसूस करा सकता है। परामर्श और चिकित्सा के रूप में पेशेवर मदद लेने में कोई शर्म नहीं है। यह किसी के मूड और समग्र स्वास्थ्य में काफी सुधार कर सकता है। सोशल डिस्टेंसिंग और तकनीकी नवाचार के समय में, ऑनलाइन परामर्श तेजी से लोकप्रिय विकल्प बनता जा रहा है। 

तो लेडीज, पीरियड्स के दौरान अपने हाइजीन को नजरअंदाज न करें, क्योंकि यह लंबे समय में स्वास्थ्य जोखिमों का कारण बन सकता है।

यह भी पढ़ें: कंसीव करने की कोशिश कर रही हैं, तो आप दोनों को रखना होगा इन 4 पोषक तत्वों का ख्याल

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।