क्या वेजाइनल हाइजीन के लिए अलग प्रोडक्ट की जरूरत होती है? एक स्त्री रोग विशेषज्ञ दे रहीं हैं इस सवाल का जवाब

योनि शरीर का एक ऐसा अंग है जिस साफ रखना बेहद जरूरी है हालांकि योनि अपने आप साफ होती है लेकिन उसके बाद भी कई चीजें होती है जिसका हमे ध्यान रखना पड़ता है।
vaginal care hai jaruri
योनि की स्वच्छता को बनाए रखने के लिए नहाने के दौरान योनि को गुनगुने पानी से अवश्य साफ करें। चित्र : एडॉबीस्टॉक
संध्या सिंह Published: 11 Sep 2023, 09:00 pm IST
  • 145

हम लोग योनि के बारे में पर्याप्त बात नहीं करते या खुलकर इस बारे में नही सोचते हैं। वास्तव में, बहुत से लोग योनि स्वास्थ्य के बारे में तब तक नहीं सीखते जब तक वे किसी संक्रमण या असंतुलन का शिकार न हो जाएं। एक स्वस्थ योनि महिलाओं के स्वास्थ के साथ एक अच्छे सेक्स के लिए भी जरूरी है। योनि के स्वास्थ को बनाए रखने के लिए भी आपको बहुत सी चीजों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। पर क्या इसे साफ करने के लिए आपको किसी विशेष प्रोडक्ट की जरूरत होती है? आइए एक स्त्री रोग विशेषज्ञ से जानते हैं इस सवाल का जवाब।

क्यों जरूरी है योनि को साफ और स्वस्थ रखना

योनि को स्वस्थ और साफ रखने से आपको सेक्स से अधिक प्लेजर मिलने की संभावना होती है। योनि को अगर आप स्वच्छ और साप रखते है तो ये योनि के हाइड्रेशन को बनाए रखता है और सेक्स के दौरान आपको कोई इंजरी नही होती है। योनि का साफ रहना पीरियड के समय के लिए भी जरूरी है ताकि आपको किसी भी तरह की जलन का अनुभव न हो। योनि का साफ रहना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि इस क्षेत्र में सबसे ज्यादा नमी होती है और उस नमी के कारण योनि में अधिक बैक्टिरिया होने की संभावना बढ़ जाती है। चलिए जानते है वो चीजें जो आपको योनि के स्वस्थ को बनाने के लिए रोजाना करनी चाहिए।

वेजाइनल हेल्थ को बनाए रखने के लिए आपको क्या करना चाहिए ये जानने के लिए हमने बात की गायनकलॉजिस्ट और आर्केडी वीमेन हेल्थ केयर एंड फर्टिलिटी की डायरेक्टर डॉ पूजा दिवान से।

ab jaanen vaginal pH ko balance rakhne ke kuchh tips.
जानें वेजाइनल पीएच को बैलेंस रखने के कुछ खास टिप्स। चित्र एडॉबीस्टॉक।

योनि के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए ये 5 चीजें रोजाना करनी चाहिए

अपनी योनि के प्रति सौम्य रहें

डॉ. पूजा दिवान बताती है कि योनि खुद से ही साफ होती है इसके लिए आपको कोई अतिरिक्त क्लींजर की अवश्यकता नहीं होती है। आपको सिर्फ बाहत वल्वा को साफ करने की जरूरत होती है। इसलिए आपको केवल बाहर से इसे हल्के हाथों से साफ करना चाहिए। योनि को अगर आप किसी भी कठोर साबुन और डूश से साफ करेंगे तो ये आपके योनि के पीएच में बदलाव कर देगा जिससे अपको योनि में परेशानी हो सकती है।

अपने आहार का ध्यान रखें

आप विश्वास करें या न करें, लेकिन यह सच है कि आपकी योनि आपके आहार से प्रभावित हो सकती है। स्वस्थ आहार योनि स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। एक अच्छी तरह से संतुलित आहार उचित पीएच संतुलन बनाए रखने, प्रतिरक्षा प्रणाली बढ़ाने और यीस्ट संक्रमण और बैक्टीरियल वेजिनोसिस जैसी स्थितियों को रोकने में मदद कर सकता है।

योनि स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आपको प्रतिदिन पर्याप्त पानी पीना, विभिन्न प्रकार के प्राकृतिक फलों और सब्जियों का सेवन करना, नियमित रूप से प्रोबायोटिक्स का सेवन करना, ओमेगा-3 वाले भोजन लेने को प्राथमिकता देना चाहिए।

हवा पास होने वाले अंडरवियर का चुनाव करें

आप जो अंडरवियर पहनते हैं वह आपकी योनि के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालता है। आपको कॉटन के कपड़े के अंडरवियर का चुनाव करना चाहिए। कॉटन का कपड़ा हवा के सर्कुलशन को बेहतर बनाए रखने में मदद कर सकता है। जो नमी को कम करने और हानिकारक बैक्टीरिया के विकास को रोकने में मदद करता है। नायलॉन और पॉलिएस्टर जैसी सिंथेटिक सामग्री नमी और गर्मी पैदा करने का कारण बन सकती है, इसलिए दैनिक उपयोग के लिए इनसे बचने की कोशिश करें।

vaginal infection
सेक्स से पहले और बाद में पेशाब करना बेहद जरूरी है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

सेक्स के दौरान सफाई

कई लोगों को सेक्स के बाद योनि में परेशानी बढ़ने का अनुभव होता है, यही कारण है कि इस दौरान आपको योनि का सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। सेक्स से पहले और बाद में पेशाब करना बेहद जरूरी है, जो सेक्स के दौरान मूत्रमार्ग में प्रवेश करने वाले किसी भी बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद करता है। यह सभी के लिए एक अच्छी आदत है, लेकिन विशेष रूप से उन लोगों के लिए जिन्हें यूटीआई होने का खतरा है।

माहवारी के दौरान सही प्रोडक्ट चुनें

योनि को स्वस्थ बनाए रखने के लिए आपको पीरियड के दौरान भी सफाई का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इसमें आपको पैड, टैम्पोन, पीरियड कप को नियमित रूप से बदलना शमिल करना चाहिए। इससे आपको बैक्टिरिया के विकास को रोकने में मदद मिल सकती है।

ये भी पढ़े- Irritable Bowel Syndrome : पेट में मरोड़ और गैस की वजह हो सकती है यह बीमारी, जानिए इसका कारण और उपचार

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख