क्या आपको भी रात को सोते वक़्त पैरों में ऐंठन महसूस होती है, तो जानिए इसके कारण और बचने के उपाय

दिन भर की थकान और कुछ सामान्य शारीरिक स्थितियां इसके लिए जिम्मेदार हो सकती हैं। पैरों की ऐंठन को कम करना बहुत आसान है। आपको केवल थोड़ा ध्यान देने की आवश्यकता है।

tingling in leg and hand
यह पैरों और हाथों में होने वाली असहनीय सेंसेशन है। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Updated: 9 Jun 2023, 15:39 pm IST
  • 134

हम में से ज्यादातर लोगों को रात को सोते वक्त पैरों में दर्द और ऐंठन का अनुभव होता है। यह समस्या अक्सर हमारी नींद में खलल डालती है और हमारी नींद पूरी नहीं हो पाती। क्या आपने कभी इस समस्या पर गौर किया है? यदि नहीं तो इस पर ध्यान देना शुरू कर दें। इसका कोई खास मेडिकल कारण नहीं होता। दिन भर की थकान और कुछ सामान्य शारीरिक स्थितियां इसके लिए जिम्मेदार हो सकती हैं। पैरों की ऐंठन को कम करना बहुत आसान है। आपको केवल थोड़ा ध्यान देने की आवश्यकता है।

लोगों द्वारा पैरों की ऐंठन को लेकर पूछे गए सवालों को ध्यान में रखते हुए आज हेल्थ शॉट्स आपके लिए लेकर आया है, इस समस्या से जुड़ी कुछ अहम जानकारी। जानेंगे आखिर किन कारणों से रात को पैरों में ऐंठन महसूस होता है साथ ही समझेंगे इससे निपटने के कुछ प्रभावी टिप्स (how to avoid leg cramps)।

हेल्थ शॉट्स ने इस विषय पर डी वाई पाटिल प्राइवेट सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, पिंपरी, पुणे के आंतरिक चिकित्सा, सलाहकार चिकित्सक, डॉ प्रसाद कुवलेकर से सलाह ली। तो चलिए जानते हैं इस समस्या का कारन और इसे कैसे कम करना है।

woman-sitting
स्थिर बैठे रहने से होता है पैरों में दर्द। चित्र : एडॉबीस्टॉक

पहले जानें पैरों में ऐंठन के कारण

1. स्थिर बैठे रहने से

मांसपेशियों को एक्टिव रखने के लिए नियमित रूप से स्ट्रेच करने की जरूरत होती है। लंबे समय तक एक ही मुद्रा बैठे रहने से मांसपेशियां जकड जाती हैं और जब आप रात को बेड पर लेटती हैं और शरीर रिलैक्स पॉजिशन में आता है तो आपको पैरों में ऐठन का अनुभव होता है।

2. पोषक तत्वों की कमी

शरीर में कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम की कमी ऐंठन को बढ़ावा देती हैं। यह सभी इलेक्ट्रोलाइट्स शरीर एवं मांसपेशियों में फ्लूइड बैलेंस बनाए रखने में मदद करते हैं। इनका असंतुलित स्तर ऐंठन का कारण बनता है।

3. डिहाइड्रेशन

निर्जलीकरण यानी की डिहाइड्रेशन खून में इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन को बढ़ावा देते हैं, जिसकी वजह से ऐंठन ट्रिगर हो सकती है।

4. लंबे समय तक खड़े रहने से

फ्रांसिस ऑनलाइन द्वारा लंबे समय तक खड़े रहने और पैरों में होने वाले ऐंठन को लेकर प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार जो लोग लंबे समय तक खड़े रहते हैं, उन्हें रात में पैर में ऐंठन होने की संभावना अधिक होती है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

5. नर्व की असामान्य गतिविधियां

इलेक्ट्रोमोग्राफिक अध्ययनों के अनुसार, नर्व की असामान्य गतिविधियां पैर की ऐंठन का एक मुख्य कारण हो सकती हैं।

pair dard door karta hai yog
लगातार चलते रहने या लगातार बैठ कर काम करने से भी पैरों में थकान हो जाती है। चित्र: एडोब स्टॉक

6. टेंडन का छोटा होना

टेंडन मांसपेशियों और हड्डियों को जोड़ते हैं, समय के साथ स्वाभाविक रूप से यह छोटे होने लगते हैं। इससे मांसपेशियों में ऐंठन का अनुभव होता है।

7. व्यायाम की अधिकता से

जरुरत से जयदा व्यायाम करने से मांसपेशियों पर अधिक भार पड़ता है साथ ही मांसपेशियां टूटती हैं, जिसकी वजह से भी दर्द का अनुभव हो सकता है। इसलिए हमेशा समय की पाबंदियों को ध्यान में रखते हुए ही व्यायाम करें।

यह भी पढ़ें : बहुत ज्यादा सब्जियां और बहुत ज्यादा वर्कआउट भी है सेहत के लिए खराब, जानिए ऐसी ही 5 हेल्दी आदतों के साइड इफेक्ट

8. गलत मुद्रा में बैठने से

अपने पैरों को क्रॉस करके या अपने पैर की उंगलियों को लंबे समय तक इंगित करके बैठने से कॉफ की मांसपेशियां छोटी हो जाती हैं, जिससे ऐंठन हो सकती है।

पर यदि यह दिन प्रति दिन बढ़ रही है और आपका कोई भी नुस्खा काम नहीं आ रहा तो डॉक्टर से मिलने की सलाह दी जाती है।

इन टिप्स की मदद से कम कर सकती हैं पैरों का ऐंठन

1. स्ट्रेचिंग से मिलेगी मदद – एक्सपर्ट के अनुसार यदि आपको रात को सोने से पहले पैरों में ऐंठन का अनुभव होता है, तो अपने पैरों को स्ट्रेच करें। अपने पैर की मांसपेशियों में खिंचाव पैदा करने से आपको आराम महसूस होगा।

2. खुद को हाइड्रेटेड रखें – डॉक्टर के अनुसार यह समस्या इलेक्ट्रोलाइट इंबैलेंस के कारण होती है। ऐसे में पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं और खुद को हाइड्रेटेड रखने की कोशिश करें। खासकर गर्मी के मौसम में इसका विशेष ध्यान रखें। सोडियम एवं पोटेशियम युक्त फ्लूइड का सेवन करें।

3. मसाज करें – रात को पैरों में ऐंठन महसूस हो तो खुदके हाथ से पैरों की मसाज कर सकती हैं। यदि आपके पास रोलर है तो उसकी मदद से अपनी मांसपेशियों को अच्छी तरह से मसाज करें इससे आपको आराम मिलेगा।

toenails badhe hue
पैरों के अंगूठे के नाखून बढ़े होने से फंगल इंफेक्शन होने का खतरा बना रहता है। चित्र:शटरस्टॉक

4. हीटिंग पैड का इस्तेमाल करें – दर्द से राहत पाने के लिए एक्सपर्ट हीटिंग पैड का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। इसके साथ ही गर्म पानी में कुछ देर पैरों को डुबोकर छोड़ने से भी राहत मिलेगी। इतना ही नहीं आप चाहें तो गुनगुने पानी से शॉवर ले सकती हैं।

5. कोल्ड कंप्रेस की मदद लें – कुछ आइस क्यूब्स को टॉवल में लपेट लें और जिस भी जगह पर दर्द महसूस हो रहा है वहां पर इस से सिकाई करें। ऐसा करने से आपको कुछ देर में राहत महसूस होगा।

यह भी पढ़ें : Snake gourd for Weight loss : डायबिटीज के दौरान वेट लॉस करना है, तो डाइट में शामिल करें 5 मिनट में तैयार होने वाली ये सब्जी

  • 134
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख