तनाव भी कम करता है अंडा, जानिए मानसून में अंंडे कुक करने का सही तरीका 

Published on: 4 August 2022, 10:00 am IST

बारिश के मौसम में भी एक अंडा खाया जा सकता है, क्योंकि यह एनर्जी और इम्यून बूस्टर है। बस इसे पकाने का सही तरीका मालूम होना चाहिए।

ande pakane ka sahi tarika
यदि अंडे को सही तरीके सेे पकाया जाता है, तभी वह स्वास्थ्य लाभ देता है। चित्र: शटरस्टॉक

अक्सर यह कहा जाता है कि बारिश के मौसम में अंडे न खाएं, इससे पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। ऐसा नहीं है। यदि हम ताजा अंडा खाएं या फिर इसे अच्छी तरह पकाकर संतुलित मात्रा में खाएं, तो यह कभी भी हानिकारक नहीं हो सकता। विशेषज्ञ मानते हैं कि रोज 1 अंडे के सेवन से इम्यूनिटी बूस्ट होती है। अंडे के फायदों और पकाने (the best way to cook eggs) के सही तरीकों के बारे में जानने के लिए हमने बात की न्यूट्रीशनिस्ट और डायटीशियन डॉ. रूचि मल्होत्रा से।

पहले जान लेते हैं कि क्यों जरूरी है अंडे का सेवन 

1 पोषक तत्वों से भरपूर

अंडे में भरपूर मात्रा में प्रोटीन मौजूद होता है। इसके अलावा, मैग्नीशियम, जिंक, आयरन, विटामिन ए, विटामिन बी12, विटामिन बी 6, फोलेट, एमिनो एसिड, फॉस्फोरस, लिनोलिक, ओलिक एसिड जैसे अनसैचुरेटेड फैटी एसिड भी अंडे में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। स्वस्थ शरीर के लिए ये सभी पोषक तत्व जरूरी हैं।

2 एनर्जी बूस्टर है अंडा 

डॉ. रूचि कहती हैं, अंडा बेहतरीन एनर्जी बूस्टर है। 1 अंडा खाने से शरीर में दिन भर एनर्जी बनी रहती है। इसमें मौजूद प्रोटीन, विटामिन डी और कैल्शियम हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाते हैं। अंडे खाने और लगाने से बाल, चेहरे और नाखून भी स्वस्थ होते हैं।

3 इम्यूनिटी भी बूस्ट करता है 

विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन ए, विटामिन बी-12, प्रोटीन से भरपूर भोजन इम्यूनिटी बूस्ट करते हैं। अंडे में न केवल हाई प्रोटीन होता है, बल्कि यह विटामिन डी का बढ़िया स्रोत भी है। साथ ही विटामिन-ए, विटामिन बी-12, कोलीन, सेलेनेयिम जैसे पोषक तत्व भी अंडे में मौजूद होते हैं। इन्हीं पोषक तत्वों की मौजूदगी इसे इम्यूनिटी बूस्टर बनाती है।

4 स्ट्रेस बस्टर

इसमें मौजूद कोलीन मेमोरी पॉवर बढ़ाने में मदद करता है। यह माइंड को एक्टिव रखता है। अंडे खाने से स्ट्रेस और डिप्रेशन होने की संभावना कम हो सकती है।

5 बालों को झड़ने से बचाता है

अंडे में आयरन और प्रोटीन की मौजूदगी बालों की सेहत के लिए फायदेमंद है। जर्दी सहित उबले अंडे खाने और एग मास्क लगाने से भी बाल जड़ से मजबूत और चमकदार होते हैं।

अंडे खरीदते समय इन बातों का जरूर रखें ध्यान 

जब भी अंडे खरीदें, इस बात की तहकीकात कर लें कि अंडों के शेल टूटे नहीं हैं। टूटे हुए शेल में बैक्टीरिया ग्रो कर जाते हैं, जो हमारी गट हेल्थ के लिए नुकसानदायक हैं। अंडों को ठंडे तापमान या फ्रिज में रखने से बैक्टीरया से संक्रमित होने का खतरा कम हो जाता है।

बहुत दिन पुराने अंडे इस्तेमाल करने से बचें। सादे पानी में अंडा डालने पर यदि वह तैरने लगे, तो इसका मतलब वह खराब हो चुका है। पानी में डूबने का मतलब अंडा पूरी तरह सही है।

यहां है अंडे को कुक करने का सही तरीका 

उॉ. रूचि के अनुसार, उबले अंडे, अंडा फ्राय, अंडा बिरियानी, पोच, ऑमलेट-हर रूप में यह स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है।

1 उबालें अच्छी तरह

यदि आप उबले अंडे खाती हैं, तो उसे अच्छी तरह उबालें। प्रेशर कुकर में मीडियम फ्लेम पर 2 सीटी लगाने के बाद ही उतारें।

यदि पैन में उबालती हैं, तो मीडियम फ्लेम पर 15-20 मिनट तक इसे उबलने दें।

यदि वेट कॉन्शियस होने के कारण आप उबले अंडे के योक को हटा देती हैं और सिर्फ सफेद वाले भाग को खाती हैं, तो ऐसा न करें। 1 अंडे का पीला भाग आपको दिन भर पेट भरा हुआ महसूस कराएगा। यह कैलोरी में भी कम होता है।

ande ke fayde
अंडा इम्यूनिटी बूस्ट करता है। चित्र: शटरस्टॉक

2 ढंक कर पकाएं अंडा फ्राय

यदि अंडा फ्राय खा रही हैं, तो 1-2 मिनट तक इसे ढंक कर पकाएं। इससे यह न सिर्फ अच्छी तरह पक जाएगा, बल्कि बैक्टीरिया मुक्त भी होगा।

3 उबले अंडे को न करें डीप फ्राय

कभी भी उबले अंडे को डीप फ्राय कर न खाएं। इससे तेल के रूप में न सिर्फ एक्स्ट्रा फैट आपके पेट में जाएगा, बल्कि इसके जरूरी पोषक तत्व भी नष्ट हो जाते हैं।

उबले अंडे को फ्राय करने का सही तरीका है, पैन में एक टीस्पून तेल डाल लें। नमक और काली मिर्च पाउडर डाल दें। लो फ्लेम पर अंडे कट कर पैन में डाल दें। 1-1 मिनट दोनों तरफ सेंकने के बाद फ्लेम बंद कर दें। यह स्वादिष्ट और पौष्टिक दोनों होगा।

4 लो फ्लेम पर पकाएं ऑमलेट

egg ke fayde
बरसात के दिनों में ऑमलेट को भी अच्छी तरह पकाकर खाएं। चित्र : शटरस्टॉक

बारिश के मौसम में ऑमलेट खा सकती हैं, लेकिन लो फ्लेम पर पका कर ही खाएं। पोच को एवॉयड करना सही होता है। 

यह भी पढ़ें:-इम्युनिटी की ए,बी,सी,डी के सोर्स हैं ये 5 फूड्स, जरूर करें आहार में शामिल 

स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।