ब्लड शुगर लेवल को तुरंत कंट्रोल कर सकते हैं ये 5 सुपर इफेक्टिव तरीके 

Published on: 25 May 2022, 09:30 am IST

यदि आप या आपके परिवार में कोई डायबिटीज से पीड़ित हैं, तो अचानक शुगर लेवल बढ़ना परेशानी भरा हो सकता है। यहां जानिए आप उसे कैसे कंट्रोल कर सकती हैं। 

blood sugar level
बढ़े हुए शुगर लेवल को तुरंत कंट्रोल कर लेना चाहिए।चित्र : शटरस्टॉक

किसी भी व्यक्ति के शरीर में नॉर्मल ब्लड शुगर लेवल 70-99 mg/dl के बीच होता है। ब्लड शुगर का यह लेवल फास्टिंग के बाद होता है। इसका मतलब है कि व्यक्ति ने 8 घंटे के पहले ही कुछ खाया था। यदि व्यक्ति ने 2 घंटे पहले कुछ नहीं खाया है और उसका ब्लड शुगर लेवल 140 mg/dl तक हो गया है, तो यह नॉर्मल माना जा सकता है। इससे अधिक होने पर वे डायबिटीज के पेशेंट माने जाते हैं।

कभी-कभी डायबिटीज पेशेंट का ब्लड शुगर लेवल अचानक बढ़ जाता है। ऐसी स्थिति में उसे कम करना बेहद जरूरी हो जाता है। यदि आप डायबिटीज के पेशेंट हैं और आपका ब्लड शुगर लेवल अचानक बढ़ गया है, तो उसे तुरंत घटाएं (How to Control High Blood Sugar Level immediately)।

इन 5 तरीकों से आप कंट्रोल कर सकती हैं बड़ा हुआ ब्लड शुगर लेवल 

1 करेले का जूस 

यदि आपका ब्लड शुगर लेवल अचानक बढ़ गया है, तो रोज सुबह खाली पेट करेले का जूस पीना शुरू कर दें। इससे ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म प्रभावित होता है और हमारा शुगर घटता है।

2 जामुन का सेवन

जामुन में एंथोसायनिन और एलेजिक एसिड पाया जाता है। बीज में भी ग्लाइकोसाइड जंबोलिन और अल्कलॉइड जंबोसिन पाया जाता है। ये सभी मिलकर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करते हैं। 

3 पानी पिएं 

पानी से भी ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है, क्योंकि यह शरीर से ग्लूकोज को बाहर निकालने में मदद करता है। इसलिए ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रखने के लिए पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड रहना जरूरी है। हाइपरग्लेसेमिया में सामान्य से अधिक पानी की आवश्यकता होती है, ताकि किडनी यूरीन के माध्यम से शरीर से अतिरिक्त शुगर को बाहर निकाल सके। 

4 अपनी फिजिकल एक्टिविटी बढ़ा दें 

शॉर्ट और लॉन्ग टर्म, दोनों में प्रभावी है फिजिकल एक्टिविटीज। फिजिकल एक्टिविटीज या एक्सरसाइज करते समय आपका शरीर इंसुलिन का उपयोग अच्छी तरह से कर पाता है, ताकि एनर्जी के लिए ग्लूकोज का उपयोग हो सके। जब मांसपेशियां सिकुड़ती हैं, तो एनर्जी के लिए सेल्स ग्लूकोज का उपयोग करती हैं। इससे ब्लड शुगर लेवल घटता है। 

benefits of walk.
टहलने से भी आपका ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल होता है। चित्र शटरस्टॉक।

एक्सरसाइज के बाद यह प्रभाव 24 घंटे या उससे अधिक समय तक रह सकता है। हालांकि ब्लड शुगर कंट्रोल करने का यह कोई सही फॉर्मूला नहीं है। क्योंकि हर व्यक्ति अलग-अलग तरीके से एक्सरसाइज करता है। यह समझने के लिए कि आपका शरीर एक्सरसाइज के प्रति कैसी प्रतिक्रिया देता है, एक्सरसाइज से पहले और बाद में नियमित रूप से ब्लड शुगर लेवल की जांच करें। किसी विशेषज्ञ की सलाह लेकर तेज गति से चलना, वॉटर एक्सरसाइज या साइकिल चलाना आदि एक्सरसाइज में क्या आपके लिए ज़्यादा उपयुक्त है, पता कर लें। जिन लोगों का ब्लड शुगर लेवल 240 mg/dL से ऊपर है, उन्हें फिजिकल एक्टिविटी करने से पहले कीटोन्स के लिए अपना यूरीन टेस्ट जरूर करा लेना चाहिए। कीटोन्स होने पर वे एक्सरसाइज न करें।

5 इंसुलिन का प्रयोग

यदि आप तुरंत ब्लड शुगर लेवल घटाना चाहती हैं, तो इंसुलिन लेने से बेहतर कोई उपाय नहीं है। टाइप 1 डायबिटीज के पेशेंट ऑटोमेटिक इंसुलिन पंप के माध्यम से इंसुलिन की डोज ले सकते हैं। ध्यान दें कि यह डोज आपके डॉक्टर ने पहले से निर्धारित की होगी, जिसे आप रोज ले रही होेंगी। टाइप 2 डायबिटीज पेशेंट रुक-रुक कर या लगातार इंसुलिन थेरेपी की मदद ले सकते हैं। 

Subcutaneous यानी स्किन के नीचे इंसुलिन सबसे अधिक तेजी से काम करता है। क्योंकि जहां पर इंजेक्शन दिया जाता है, वहां का ब्लड फ्लो इंसुलिन अब्जॉर्बशन को बढ़ा देता है। नितंबों या जांघ की बजाय इसे पेट, हाथ या डेल्टॉइड में इंजेक्ट करना अधिक प्रभावी होता है, क्योंकि इन जगहों पर ब्लड फ्लो ज्यादा तेजी से हो पाता है।

स्मोकिंग, ओबेसिटी, कम फिजिकल एक्टिविटी एब्जॉर्बशन रेट को घटा भी सकते हैं। इसके अलावा, यदि आपका ब्लड शुगर लेवल 300 mg/dL या उससे अधिक है, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

यहां पढ़ें:-लगातार बैठे रहने से कमर दर्द होने लगा है, तो हर रोज करें ये 7 आसान एक्सरसाइज

स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।