बढ़ती सर्दी और प्रदूषण बढ़ा सकते हैं गले और छाती में बलगम, जानिए कैसे करना है बचाव 

जब शरीर में म्यूकस या बलगम अधिक बनने लगता है, तो उसे प्राकृतिक तरीके से रोका भी जा सकता है। यहां है म्यूकस बिल्ड अप को प्राकृतिक तरीके से रोकने के 5 उपाय।

mucus builup se bachen
बलगम मुंह, गले, नाक और साइनस में कोशिकाओं द्वारा तैयार किया जाता है। चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 14 October 2022, 22:50 pm IST
  • 126

दिवाली से पहले ही हवा में प्रदूषण की मात्रा बढ़ने लगी है। धूल, धुआं और प्रदूषक कणों के कारण कभी-कभी हमें बोलने या सांस लेने में भी दिक्कत होने लगती है। बोलने से पहले थूकने या सांस लेने में नाक में कुछ फंसा होने का एहसास होता है। यह दिक्कत शरीर में मौजूद बलगम के कारण हो सकती है। हम बार-बार अपना गला साफ़ करते हैं। बार-बार वॉश बेसिन की तरफ भागते और थूकते हैं। कई बार इससे बहुत झुंझलाहट भी होने लगती है। पर क्या आप जानती हैं कि बलगम और कफ स्वाभाविक रूप से हमारे शरीर में तैयार होते रहते हैं। यह हमारे शरीर द्वारा हर दिन बनाया जाता है। यदि बलगम की समस्या हो रही है, तो इसे घर पर कैसे ठीक किया जा (How to stop mucus build up) सकता है। पर इससे पहले जानते हैं कि बलगम क्या है?

 बलगम या मयूकस(Mucus) क्या है 

हमारे शरीर में बलगम की भूमिका महत्वपूर्ण है। यह मुंह, गले, नाक और साइनस में कोशिकाओं द्वारा तैयार किया जाता है। यह स्लिपरी नेचर का होता है। इससे विभिन्न अंगों की सुरक्षा और मॉइस्चराइज़ करने में मदद मिलती है। वहीं श्वसन तंत्र सूजन से निपटने के लिए कफ (phlegm) बनाता है। इसे मयूकस मेम्ब्रेन द्वारा तैयार किया जाता है।

बलगम के अधिक बनने के कारण

ठंड लगने पर

साइनस (साइनसाइटिस) की समस्या होने पर

फ़ूड एलर्जी या एनवारनमेंट एलर्जी होने पर

धुएं या प्रदूषण के कारण

यदि आप स्वस्थ हैं, तो आपका बलगम पतला होगा। वहीं यदि आप बीमार हैं, तो आपका बलगम गाढ़ा और पतली परतों वाला होगा।

अगर बलगम अधिक बनने लगा है, तो इन 5 उपायों से पाएं इससे छुटकारा 

1 धूल से बचें

यह सबसे पहले और जरूरी नियम है कि आप उन चीजों से बचें, जो बलगम या कफ को ट्रिगर कर सकते हैं। विशेषज्ञ मानते हैं कि धूल और धुएं के कारण म्यूकस ज्यादा बनने लगता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप धूल में जाने से बचें। खासतौर से जहां कंस्ट्रक्शन वर्क चल रहा है या सफेदी हो रही है, उन जगहों से दूर रहें। यदि धूल उड़ रही है और आपको बाहर जाना है, तो मास्क लगाकर जाएं।

घर में धूल और उससे संबंधित समस्याओं को बाहर रखने के लिए होम फिल्टर का प्रयोग करें। उसे नियमित तौर पर साफ़ करें। वह अच्छी तरह से काम कर रहा हो।

2 खूब पानी पियें

सबसे पहले उन सभी चीज़ों को छोड़ दें, जिनसे आपका यूरिनेशन अधिक होता है, जिससे आप डिहाईड्रेट हो जाती हैं। खूब पानी पीयें। यदि आप लगातार प्यास दबाकर ऑफिस वर्क कर रही हैं, तो बलगम दूर करने के लिए उठकर पानी पीयें।

3 गले और नाक के रास्ते को मॉइस्चराइज़ करने की कोशिश करें

गले और नाक के रास्ते को मॉइस्चराइज़ करने के लिए ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे इन अंगों को मॉइस्चराइज़ होने में मदद मिलेगी। इससे बलगम कम बनेगा और कफ प्रोडक्शन भी कम होने में मदद मिलेगी। ह्यूमिडिफायर अच्छी तरह काम करे, इसके लिए सुनिश्चित करें कि इसकी नियमित रूप से सफाई  होती रहती हो।

 4 सुबह-शाम नमक के पानी से गरारे करें 

नमक के पानी से गरारे करना म्यूकस बिल्डअप को कंट्रोल कर सकता है। इसलिए इस मौसम में जब प्रदूषण बढ़ने लगा है तब आपको नमक के पानी से सुबह और शाम गरारे करना शुरू कर देना चाहिए।

Gargle karna bhi ek acha upaay hai
नमक के पानी से गरारे करना म्यूकस बिल्डअप को कंट्रोल कर सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसके लिए 1 गिलास गुनगुना पानी लें। उसमें 1 टी स्पून नमक मिलाएं। इस पानी से गरारे करें। इससे गला साफ़ होगा और गले की जलन भी कम होगी।

5 नेज़ल स्प्रे का इस्तेमाल करें

यह नाक और साइनस के ऊतकों को अच्छी तरह साफ़ करता है। यह हाइड्रेट करने में भी मदद करता है।

dry nose ke upaye
अपनी नाक को हाइड्रेट करने के लिए इन टिप्स को आजमाएं। चित्र: शटरस्‍टॉक

नेज़ल सेलाइन स्प्रे का प्रयोग करें। ध्यान रखें कि उसमें सोडियम क्लोराइड मौजूद हो।

 यह भी पढ़ें :-साइड फैट ने खराब कर दिया है लुक, तो ये 5 एक्सरसाइज करेंगी इसे बर्न 

  • 126
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें