डेंगू ही नहीं, कई और स्थितियों में भी कम हो सकता है प्लेटलेट्स काउंट, जानिए इसे कैसे बढ़ाना है

रक्त में प्लेटलेट्स की कमी आपको बेवजह की थकान दे सकती है। इसका असर आपके समग्र स्वास्थ्य पर पड़ता है। इसलिए जरूरी है कि आप इन्हें सही स्तर पर रखें।

platelates
जानिए आप जल्दी कैसे बढ़ा सकते हैं प्लेटलेट्स काउंट। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 20 September 2022, 18:06 pm IST
  • 130

प्लेटलेट्स की कमी एक गंभीर समस्या है। इनकी कमी का अर्थ है शरीर में खून की कमी होना। आजकल मौसमी बुखार यानी वायरल फीवर में भी कई बार प्लेटलेट्स कम होने लगते हैं। इसके लक्षण थकान, कमजोरी, कोई भी चोट लगने के बाद खून का न रुकना, त्वचा पर चकत्ते, मूत्र या मल के माध्यम से खून बहने के रूप में नजर आ सकते हैं। मगर जीवनशैली में कुछ बदलाव और कुछ घरेलू उपचारों को अपनाकर ब्लड प्लेटलेट काउंट (Platelet Count) को बढ़ाया जा सकता है।

क्या हो सकता है प्लेटलेट्स में कमी का कारण?

प्लेटलेट्स की संख्या कम होने के पीछे दो कारण हो सकते हैं – या तो वे नष्ट हो रहे हैं या पर्याप्त मात्रा में नहीं बन रहे हैं। यह विभिन्न कारणों से हो सकता है जिनमें शामिल हैं:

एनीमिया (Anemia), वायरल संक्रमण, ल्यूकेमिया, कीमोथेरेपी, अत्यधिक शराब का सेवन और विटामिन B12 की कमी के कारण प्लेटलेट्स का उत्पादन कम होना।

लीवर की किसी गंभीर बीमारी या कैंसर के कारण भी प्लेटलेट्स कम हो सकते हैं।

आईटीपी, टीटीपी, रक्त में जीवाणु संक्रमण, दवाओं के प्रति प्रतिक्रिया और ऑटोइम्यून बीमारी जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के कारण प्लेटलेट्स का न बनना भी शरीर में कम प्लेटलेट काउंट का कारण हो सकता है।

ब्लड प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए आप इन फूड्स को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं :

1. दूध

हम सभी जानते हैं कि दूध कैल्शियम और प्रोटीन का एक समृद्ध स्रोत है और हमारे शरीर में हड्डियों और मांसपेशियों की ताकत को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। दिलचस्प बात यह है कि दूध में विटामिन के होता है, जो हमारे शरीर में रक्त के थक्के जमने के लिए एक आवश्यक विटामिन है।

इसके अलावा, यह माना जाता है कि दूध के नियमित सेवन से कुल रक्त प्लेटलेट काउंट में सुधार करने में मदद मिल सकती है। इसलिए, यदि आप प्लेटलेट्स बढ़ाने के घरेलू उपचार की तलाश में हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप नियमित रूप से एक गिलास दूध पिएं।

कच्चे दूध में होते हैं शानदार गुण। चित्र: शटरस्टॉक

2. नींबू

नींबू हमारे शरीर को अच्छी मात्रा में विटामिन सी प्रदान करता है। विटामिन सी प्लेटलेट काउंट में सुधार करने में मदद करता है। इतना ही नहीं, विटामिन सी हमारी प्रतिरक्षा में भी सुधार करता है जो बदले में प्लेटलेट्स के मुक्त कणों से होने वाले नुकसान को रोकने में बहुत उपयोगी है।

3. हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियां अपने विटामिन के (Vitamin K) के भंडार के लिए जानी जाती हैं। यह रक्त के थक्के जमने के मार्ग में आवश्यक है। मगर इनमें कुछ हद तक प्लेटलेट काउंट बढ़ाने का गुण भी होता है। तुलसी, पालक और अजवाइन के अलावा, अन्य सब्जियां जैसे शतावरी, गोभी और जलकुंभी भी प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में उपयोगी हैं।

4. पपीता

एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, मलेशिया द्वारा 2009 में किए गए एक शोध में कहा गया है कि पपीता और इसकी पत्तियां दोनों ही हमारे शरीर में प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में बहुत मददगार हैं।

इसके लिए आप पके पपीते का भी सेवन कर सकती हैं और इसके पत्तों का रस तब तक पी सकती हैं, जब तक आपका प्लेटलेट काउंट सामान्य नहीं होता है। आप पपीते का रस भी पी सकती हैं और इसमें थोड़ा सा नींबू का रस मिला सकती हैं।

5. व्हीट ग्रास

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ यूनिवर्सल फार्मेसी एंड लाइफ साइंसेज में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, व्हीट ग्रास को ब्लड प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में मदद करने के लिए जाना जाता है। एक कप व्हीट ग्रास में नींबू के रस की एक बूंद मिलाकर पीने से ब्लड प्लेटलेट बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

यह भी पढ़ें : लम्पी डीजीज से ग्रस्त हो रहीं हैं गाय, जानिए इन दिनों कितना सेफ है डेरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल

  • 130
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी,
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें
nextstory