क्या आपको भी पूरा दिन आते रहते हैं डकार, तो एक्सपर्ट के बताए ये 7 टिप्स आएंगे आपके काम

डकार आना एक नेचुरल क्रिया है, यह किसी को भी आ सकता है। लेकिन यदि यह लगातार आ रहा है, तो यह आपके खराब पाचन को दर्शाता है। जिसे आप इन 7 तरीके से सही कर सकते हैं।
burp ya dakar ke karan
ज्यादा डकार आने से हेल्थ प्रॉब्लम होने के संकेत मिलते हैं। चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 2 Jun 2023, 15:08 pm IST
  • 114

सोचें कि आप अपनों के साथ किसी दावत को एंजॉय कर रहे हैं। सबके साथ हंसी-मजाक चल रहा है। एकदम चिलिंग वाला वातावरण बन चुका है। इस दौरान आपको किसी पेय पदार्थ का पीने का मन हुआ और पेय पदार्थ को पीते ही पार्टी हॉल में एक ऐसी आवाज कानों तक आती है जिसे सोचा न गया हो। जी हां, हम बात कर रहे हैं पेय पदार्थ के पीने के बाद डकार आने की। डकार आना कोई गलत बात तो है नहीं है। लेकिन अगर डकार लगातार किसी को आ रहा है तो ऐसा जरूरी है कि जिसे डकार आ रहा, वह अपनी जीवन शैली में कुछ बदलाव करे। जिसे समाजिक पार्टी में अधिक डकार आता है या खाना खाने के बाद लगातार डकार आता है, वह इस खबर को पढ़कर कंट्रोल कर सकता है।

बेल्चिंग या एसिड रिफ्लक्स के नाम से भी डकार को जानते हैं। यह एक प्रकार की नेचुरल प्रक्रिया है, जिससे पेट में बनी गैस मुंह के जरिए निकल जाती है। इसके अलावा यह एक सामान्य शारीरिक काम है जो पाचन के साथ गैस को दूर करने में मदद करता है। पोषण विशेषज्ञ डॉ मनोज कुट्टेरी कहते हैं डकार आना एक सामान्य बात है लेकिन अत्यधिक डकार आना सेहत के लिए सही नहीं है, यह हानिकारक हो सकता है।

डकार रोकने के उपाय

अगर आप खुद में महसूस कर रहे हैं कि डकार लगातार आ रही है, रूक ही नहीं रही है तो कुछ तरीके से इससे बचाव किया जा सकता है। डकार पाचन में सुधार लाता है, परन्तु अधिक डकार नुकसान भी पहुंचा सकता है। ऐसे में डॉ कुट्टेरी से जानते हैं अधिक डकार आने पर क्या करना चहिये।

soda water swasthya ke liye hanikarak ho sakta hai
सोडा पानी आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

कार्बोनेटेड ड्रिंक्स का सेवन न करें

जिसे डकार अधिक आता है, वह लोग सोडा और स्पार्कलिंग पानी यानि जिसमें कार्बनडाइऑक्साइड गैस हो उससे बचाव करना चाहिए। यह डकार को ट्रिगर कर सकती है। इसे कम करने के लिए बिन कार्बोनेटेड पेय पदार्थ को चुने या कार्बोनेटेड पेय धीरे-धीरे और कम मात्रा में पिएं। जिससे पीने से पहले गैस निकल जाए।

धीरे खाएं और पिएं

खाते वक्त ध्यान रखना है कि धीरे खाएं। तेज खाना और पानी पीने से भी डकार आ सकता है। डॉ कुट्टेरी बताते हैं डकार को रोकने के लिए भोजन करते समय जल्दीबाजी न करें। भोजन को अच्छी तरह चबाने के बाद ही निगलें। देर तक चबाने से लार अधिक बनती है जो सेहत के लिए अच्छी होती है। यह पाचन के लिए भी बेहतर होता है। ऐसे पेट में हवा कम जाएगी, तो डकार कम हो जाएगा।

हाई शुगर कैंडी न खाएं

डॉ कुट्टेरी कहते हैं टॉफी या च्यूंगम खाने से व्यक्ति हवा निगल रहा होता है, जिससे बार-बार डकार आता है। ऐसे में डकार आने की संभावना अधिक हो जाती है। इससे बचाव के लिए शुगर फ्री टॉफी खाएं या हाई शुगर कैंडी बंद करें।

डकार लाने वाले पदार्थ से बनाएं दूरी

डॉ कहते हैं ऐसे पदार्थ जिनका सेवन करने से पेट में गैस अधिक बनती हो उनसे दूर रहें। ऐसे में प्याज, दाल, गोभी, बींस सहित मसाले शामिल है। जिनका सेवन डकार की संभावना को बढ़ा सकता है। यह पेट फूलाने के अधिक कारण होते हैं। दाल या बींस का सेवन करना चाहते हैं तो पकाने से पहले इसे भिगो दें। यह प्रक्रिया डकार की संभावना को कम करता है।

पोश्चर सही रखें

डॉ के अनुसार जब भी भोजन करने बैठें तो पोश्चर सही होना जरूरी है। अपनी पीठ को सीधा करके सीधे बैठने से पेट में दबाव कम होता है। जिससे डकार आने की संभावन कम हो जाती है। इसलिए भोजन करते वक्त सीधे पोश्चर को बनाए रखना जरूरी होता है, इसकी आदत बना लें।

तनाव रहित रहें

डकार आने का मुख्य कारण तनाव और नकारात्मक सोच है। यह दोनों पाचन क्रिया को भी प्रभावित करती हैं। बचाव के लिए गहरी सांस के व्याया, योग और ऐसे वर्कआउट करें जो आपको पसंद हों। जिससे आपका तनाव कम होगा और पाचन बेहतर।

डकार से बचाव के लिए ओवर इटिंग से बचें। चित्र शटरस्टॉक

अधिक खाना न खाएं

पेट भर भोजन करना भी डकार आने का मुख्य कारण है। अधिक भोजन करने से अपच या गैस की समस्या हो सकती है। बचाव के लिए कम मात्रा में भोजन करें, और दिन में कई बार करें। ऐसा करने से डकार की समस्या से बचा जा सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

डकार को बढ़ावा देने वाली चीज़ों के बारे में जान लेने से डकार कम करने में मदद मिल सकती है। डकार आना सही है, लेकिन लगतातार डकार आना
सेहत के लिए सही नहीं है ऐसी स्थिति में डॉक्टर का परामर्श जरूर लेना चाहिए। ध्यान देना होगा अगर डकार के सथ सीने में जलन, पेट में दर्द या मल त्यागने में दिक्कत है तो परामर्श की सलाह दी जाती है।

 

  • 114
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख