जीवनसाथी का चुनाव करना है, तो जानिए क्या होने चाहिए एक सपोर्टिव पार्टनर में गुण

शादी एक ऐसा फैसला है, जो आपको बहुत सोच-समझकर लेना चाहिए। ज़रा सी झिझक या एक छोटी सी गलती आपको एक टॉक्सिक रिश्ते में फंसा सकती है।

How-to-choose-perfect-life-partner
शादी का फैसला बहुत सोच-समझकर लेना चाहिए। चित्र शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 29 September 2022, 20:13 pm IST
  • 148

शादी जीवन का एक बहुत बड़ा और महत्वपूर्ण निर्णय होता है। किसी के साथ दोस्ती, कैजुअल रिलेशनशिप होना एक बात है और शादी का निर्णय लेना दूसरी। इसलिए यह जरूरी है कि जब आप खुद को मानसिक, भावनात्मक और आर्थिक रूप से इसके लायक पाएं, तभी शादी का फैसला करें। हमारे आसपास बढ़े अलगाव और टॉक्सिक रिलेशनशिप के मामले कभी-कभी बहुत डरा देते हैं। तब मन में आता है कि आखिर ऐसे व्यक्ति का चुनाव कैसे करें, जिसके साथ हम सुखमय और बिना किसी तनाव का जीवन बिता सकें। तो आपकी मदद करने के लिए हम यहां कुछ टिप्स दे रहे हैं, जो आपको जीवनसाथी का चुनाव करने (How to select the right life partner) में मदद कर सकते हैं।

Sahi life partner ke liye in baato ka khyaal rakhe
रिश्ते में एक-दूसरे के प्रति प्यार और सम्मान बेहद जरूरी है। चित्र: शटरस्टॉक

1 सिर्फ लुक्स के आधार पर न करें किसी को पसंद

आप अपने पार्टनर का चुनाव सिर्फ उसकी सुंदरता देख कर न करें। इसके बजाए आपको ये देखना चाहिए कि आपके पार्टनर का व्यक्तित्व कैसा है। ऐसा भी हो सकता है कि आपका पार्टनर दिखने में बहुत ही आकर्षक और अच्छा हो, लेकिन उसके अंदर कुछ ऐसी बुरी आदतें भी हों जो आपको बिल्कुल भी पसंद न आएं। इस स्थिति में आपका ताल-मेल उनके साथ शायद ही बैठे। इसलिए बहुत सोच-समझ करके निर्णय लें।

2 उनके व्यवहार को समझने की कोशिश करें

आपने जिससे भी शादी करने का निर्णय किया है, उसके व्यवहार को ठीक तरह से समझें। शादी से पहले आपका उनके साथ वक्त बिताना जरूरी है, जिसके साथ आपको जीवन बिताने का फैसला करना है।

उनकी अच्छी और बुरी आदतों के बारे में पता करें। जब आप उनको सही तरह से जाने लेंगी, तभी इस बात का सही निर्णय कर पाएंगी कि आपको उनके साथ जीवन बिताना है या नहीं। क्या आप दोनों एक दूसरे के अनुकूल हैं।

3 नेचर और एटिकेट्स का रखें ध्यान

यदि आप पहली बार मिल रही हैं तो, देखें कि क्या वह व्यक्ति बातचीत के दौरान अन्य लोगों या आपकी बात पर खुलकर हावी हो रहा है या आपकी बात को नकार रहा है। यह आपको इस बात का साफ़ संकेत दे सकता है कि परिस्थितियों या समाधानों के मामले में वह कितना ग्रहणशील होगा जो उसकी पसंद के मुताबिक नहीं है।

उसकी हर छोटी बारीकी पर गौर करें। कुछ टेबल एटिकेट्स होते हैं, ध्यान दीजिए कि क्या इनमें वह आपका सहयोग कर रहा है? जैसे आपके लिए बैठने का इशारा करना या कुर्सी खींचकर आपको सहज होने में मदद करना। क्या वह आपके लिए दरवाजा खोलता है या पहले आपकी सेवा करता है। देखें कि मीटिंग के बाद कोई व्यक्ति आपके साथ कैसा व्यवहार करता है। यह देखना भी अच्छा होगा कि क्या वह आपके विचारों का सम्मान कर रहा है। इस बात पर ध्यान दें कि क्या उनका व्यवहार कुछ मुलाकातों के बाद भी आपके साथ पहले जैसा है या नहीं?

यह भी पढ़े- हर दोस्ती उम्र भर साथ नहीं रहती, चेक कीजिए इन 5 में से कौन-कौन से दोस्त हैं आपके पास

4 आसानी से हो सके बात

आपको अपने लिए एक ऐसे व्यक्ति को चुनना है, जिससे आप आसानी से कनेक्ट कर सकें। जरूरी है कि वह ऐसा व्यक्ति हो जिससे आप सहज होकर बात कर सकें। आपको ये डर न लगें कि ये बात उनसे करनी चाहिए या नहीं।

अध्ययन बताते हैं कि जो जोड़े आपस में खुलकर बात कर पाते हैं, उनका रिश्ता ज्यादा सहज और लंबा चलने वाला होता है।

जब आप किसी तरह की असुरक्षा महसूस करती हैं, तब ऐसे व्‍यक्तियों से संबंध बनते हैं। चित्र : शटरस्टॉक
किसी रिलेशनशिप में इमोशनल बॉन्डिंग जरुरी है। चित्र: शटरस्टॉक

5 जांचें कि आप एक जैसे हैं या अपॉजिट हैं

रिलेशनशिप पर हुए विभिन्न अध्ययनों में यह सामने आया है कि ज्यादातर लड़कियों का विवरीत स्वभाव के पुरुष आकर्षित करते हैं। जबकि अच्छी और लंबी रिलेशनशिप के लिए उस व्यक्ति को चुनना बेहतर होता है जिसकी कुछ आदतें और शाैक आपके जैसे हों। दोनों में जितना भी कॉमन होगा, रिश्ता बनाने में उतनी ही आसानी होगी। एक जैसे शौक होने पर आप बहुत से कार्य साथ में और पूरे इंजॉय के साथ करेंगे।

6 उनके इंटलेक्ट का भी रखें ख्याल

यदि आपका हाेने वाला लाइफ पार्टनर आपके मुकाबले करियर में बहुत पीछे हो या फिर ओवर-अचीवर हो, तो यह भी शादी में एक संकट की तरह हो सकता है। हालांकि आप इस तरह किसी के इंटेलेक्ट को जज नहीं कर सकतीं, पर यह कुछ आसान से पैमाने होते हैं जिनसे आप एक-दूसरे के संघर्ष और जरूरतों को बेहतर तरीके से समझ पाते हैं।

7 स्टैंडर्ड में न हो बड़ा फर्क

शादी एक दिन के लिए नहीं होती। इसलिए यह आवश्यक है कि आप अपने होने वाले लाइफ पार्टनर और उनके परिवार के स्तर के हिसाब से खुद को जांच लें। समान स्तर के परिवारों में विवाद का जोखिम कम होता है। वहीं आप दोनों के लिए भी एक-दूसरे को अपनाना ज्यादा आसान हो सकता है।

8 एक-दूसरे का सम्मान है जरूरी

आप ऐसे किसी व्यक्ति के साथ अपनी पूरी जिंदगी नहीं गुजार सकते, जिसके मन में आपके प्रति सम्मान ही न हो। यह भी आवश्यक है कि आपका पार्टनर आपकी प्रायॉरिटी और अन्य चीजों का भी सम्मान करे। इसलिए ऐसे पार्टनर को चुनें, जो पूरी जिंदगी आपका सम्मान करे।

9 जल्दबाजी में न करें निर्णय

अक्सर परिवार वाले जल्दी शादी करने के लिए दबाव बनाने लगते हैं। इस बात को हमेशा याद रखें कि शादी का निर्णय बहुत बड़ा है, जो आपकी जिंदगी को पूरी तरह से बदलने वाला है। इसलिए जब तक आप पूरी तरह से अपने पार्टनर को समझ न लें तब तक शादी करने के लिए हां न करें। घर वाले यदि आप पर किसी से शादी करने के लिए दवाब बनाते हैं, तो उन्हें भी समझाएं कि एक बार लिया गया गलत निर्णय किस तरह से आपकी जिंदगी को पूरी तरह से बर्बाद कर सकता है।

यह भी पढ़े- आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है उपवास, हम बता रहे हैं 7 कारण

  • 148
लेखक के बारे में
निशा कपूर निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory