क्या आप जानती हैं वेजाइना को साफ करने का सही तरीका? ये 5 तरीके करेंगे आपकी मदद 

ये कोई रॉकेट साइंस नहीं है, मगर बेहद संवेदनशील मसला है। अपनी योनि की सफाई के लिए आपको सजग और धैर्यवान होना पड़ेगा। 
योनि की साफ-सफाई पर ध्यान देना उतना ही जरूरी है, जितना शरीर के बाकी अंगों की। चित्र:शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 16 June 2022, 20:01 pm IST
ऐप खोलें

अक्सर मन में सवाल उठता है कि जिस तरह शरीर को साफ करने के लिए हम साबुन का इस्तेमाल करते हैं, बालों की देखभाल के लिए शैंपू-कंडीशनर का प्रयोग करते हैं, यहां तक कि हाथों और पैरों की सफाई के लिए भी कई उपाय अपनाते हैं, तो फिर योनि की सफाई (How to wash vagina properly) पर हम ध्यान क्यों नहीं देते हैं? 

यहां आपके लिए सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि योनि की सफाई किसी भी प्रकार के गंधयुक्त या रंगयुक्त साबुन, लिक्विड या किसी अन्य प्रोडक्ट से करना नुकसानदेह साबित हो सकता है। शरीर का यह विशिष्ट अंग कुदरती तौर पर खुद की सफाई कर लेता है। कुछ विधियां हैं, जिन्हें योनि को साफ रखने के लिए अपनाया जा सकता है।

पहले समझिए अपनी योनि की बनावट

सफाई करने से पहले हमारे लिए योनि की बनावट को जानना जरूरी है। हमारी योनि शरीर के अंदर धंसी होती है। इसकी शुरुआत एक कैनाल से होती है, जो सर्विक्स यानी गर्भाशय ग्रीवा की ओर जाती है। यह गर्भाशय के प्रवेश द्वार का काम करती है।

आपकी योनि बनी होती है

लेबिया यानी योनि के होंठ 

क्लिटोरिस

क्लिटोरल हुड

वेजाइनल कैनाल में हाइपर पीएच होता है, जो वास्तव में थोड़ा यानी मोडरेटली एसिडिक होता है। पीएच ही योनि की सफाई के लिए जिम्मेदार है। प्राकृतिक रूप से न्यूट्रल पीएच 7 होता है, लेकिन सामान्य योनि पीएच 3.8 और 5.0 के बीच हो सकता है। यह मोडरेटली एसिडिक होता है। आपकी योनि में बहुत सारे अच्छे बैक्टीरिया होते हैं। ये बैक्टीरिया आपकी योनि में पीएच बैलेंस रखते हैं।

शोध कहते हैं कि साबुन नेचुरल बैक्टीरियल बैलेंस को बिगाड़ सकते हैं। इससे संक्रमण और सूजन हो सकती है। योनि को साफ रखना चाहिए। लेकिन गलत तरीके से की गई सफाई आपके लिए मुश्किल बढ़ा सकती है। 

5 तरीके हैं, जिससे योनि की सफाई की जा सकती है।

1 वॉशक्लाथ से सफाई

साफ-सुथरे वॉशक्लॉथ से आप योनि की सफाई कर सकती हैं। इसे अपनी उंगलियों पर लगाकर ऐसा कर सकती हैं। यदि वॉशक्लॉथ इस्तेमाल नहीं करना चाहती हैं, तो बिना गंध वाला वेट वाइप आपकी सफाई को आसान बना सकता है। 

एक्सपर्ट बताते हैं कि मार्केट में उपलब्ध इंटरनल सफाई करने वाले किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना योनि के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है।

2 गुनगुने पानी से धोना

गर्म पानी से भी वेजाइना या वल्वा को धोया जा सकता है। अधिक गर्म पानी की बजाय गुनगुना पानी इस्तेमाल करना चाहिए। यदि आपको साबुन का उपयोग करने की आवश्यकता महसूस होती है, तो माइल्ड और बिना गंध वाले साबुन का प्रयोग कर सकती हैं। सुगंधित साबुन योनि के अंदर और आसपास की संवेदनशील त्वचा में जलन पैदा कर सकता है। कभी-भी एक्सफोलिएटिंग स्क्रब का इस्तेमाल न करें।

3 फोल्ड के अंदर की सफाई

योनि की सफाई हल्के हाथों और प्यार से लेबिया और फोल्ड के अंदर करना चाहिए। जल्दबाजी आपको चोट पहुंचा सकती है। अंदर और आसपास साफ करने के लिए अपनी लेबिया को धीरे से फैलाएं। कोशिश करें कि अंदर किसी तरह का साबुन या पानी न रह जाए।

  1. पेरिनेम को धोएं

वह हिस्सा जो आपके बट से लगता है, उसे भी साफ करें। यदि आपका हाथ या वॉशक्लॉथ एनस तक गया है, तो उन्हें साफ करने के बाद ही योनि तक दोबारा आएं। वरना आपके एनस के पास मौजूद बैक्टीरिया योनि तक आ सकते हैं। जो यूटीआई का सबसे बड़ा कारण है। 

5 सुखाना है जरूरी

नमी में ही बैक्टीरिया या यीस्ट पनपते हैं। इसलिए सफाई से भी ज्यादा जरूरी है योनि को अच्छी तरह सुखाना। इसके बाद ही अंडरगारमेंट्स पहनने चाहिए।

यह भी ध्यान रखें 

सेक्स टॉयज को साफ रखें

एक अंडरगारमेंट को जिस तरह लगातार कई दिनों तक नहीं पहना जा सकता है, उसी तरह एक सेक्स टॉय को दिनों या हफ्तों तक धोए बिना इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। टॉयज की सफाई के लिए विशेष साबुन और फैंसी गैजेट आते हैं। इन टॉयज को भी माइल्ड बिना गंध वाले साबुन से साफ करना चाहिए।

सेक्स टॉयज को साफ रखना और टेम्पोन बदलना वेजाइनल हेल्थ के लिए जरूरी है। चित्र:शटरस्टॉक

अपना टैम्पोन बदलना न भूलें

अच्छे वेजाइनल हेल्थ के लिए नियमित रूप से टैम्पोन बदलना जरूरी है। हर चार से आठ घंटे के बीच इसे बदल लेना चाहिए। टैम्पोन पहनकर सोया जा सकता है, लेकिन जगने पर इसे बदलना बेहद जरूरी है।

यहां पढ़ें:-प्रेगनेंसी में कब्ज बन सकती है पाइल्स की वजह, जानिए इससे बचने के उपाय 

लेखक के बारे में
स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी,
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें
Next Story