ये 3 तकनीक आपको अचानक हुए पैनिक अटैक से उबरने में मदद करेंगी

Updated on: 14 July 2022, 22:22 pm IST

पैनिक अटैक की वजह तनाव और श्वास की गड़बड़ी हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि जब किसी को पैनिक अटैक आए तो आप प्राथमिक उपचार के बारे में जानती हों। 

Tips-to-deal-panic-attack
जानिए पैनिक अटैक पर काबू करने के आसान उपाय, चित्र: शटरस्टॉक

पैनिक अटैक के एपिसोड कई बार काफी खतरनाक और अप्रत्याशित दोनों हो सकते हैं। इसका मतलब है कि हमें इसका सामना करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि परामर्श और चिकित्सा सहायता ऐसे में बहुत महत्वपूर्ण है, लेकिन यौगिक श्वास तकनीक आपको आत्म-प्रबंधन (self management) करने और पैनिक अटैक के प्रभाव को कम करने के लिए सशक्त बनाते हैं। 

चूंकि ये आम तौर पर अचानक होते हैं, और इतनी जल्दी चिकित्सीय सहायता उपलब्ध नहीं हो सकती है। इसलिए आपको पता होना चाहिए कि ऐसी स्थिति पर किस तरह लगाम कसनी है। इस बारे में हमने बात की असम की पतंजलि योग गुरू रूबी दास से जिन्होंने ऐसे तीन योगाभ्यास के बारे में बताया जो  बहुत फायदेमंद हो सकते हैं।

डायाफ्रामिक श्वास

योग गुरू रूबी बताती हैं कि हाइपरवेंटिलेशन पैनिक अटैक का एक सामान्य संकेत है, जो तब होता है जब हम फेफड़ों से बहुत अधिक कार्बन डाइऑक्साइड को हटाते हैं और अधिक सांस लेना शुरू कर देते हैं। जिसके परिणामस्वरूप यह दिक्कत आती है। इसके अलावा, इस प्रकार की श्वास हमारी चिंता और असहायता की भावना को बढ़ाती है, जिससे तंत्रिका तंत्र (nervous system) डिस्टर्ब हो जाता है। 

लेकिन अच्छी बात यह है कि डायाफ्रामिक श्वास मैनेज की जा सकती है। तेज, गहरी सांस लेने के बजाय, अपनी सांस को धीमा और लंबा करने का प्रयास करें। जब आप अपनी श्वास को नियंत्रित करती हैं, तो आप अपने आस-पास के मौजूदा तनावों के प्रति अपनी प्रतिक्रिया को भी नियंत्रित कर पाती हैं।

अपने आसपास और वर्तमान पर फोकस करें 

अपने आसपास को अपनी सभी इंद्रियों के साथ देखना, वर्तमान क्षण में खुद को फोकस रखने का एक शानदार तरीका है। पांच चीजों पर ध्यान केंद्रित करें जिन्हें आप देख सकते हैं, जिन्हें आप छू सकते हैं,आवाजें जिन्हें आप सुन सकते हैं, जिन्हें आप सूंघ सकते हैं और एक चीज जिसे आप चख सकते हैं।

yoga karne ke kai fyade hain
प्राणायाम से आप अपने पैनिक अटैक पर काबू रख सकती हैं। चित्र: शटरस्टॉक

यह आपको चिंतित करने वाले विचारों की ओर बढ़ने के बजाय अभी पर ध्यान केंद्रित करने  और अपने काम पर ध्यान लगाने के लिए अपनी पांच इंद्रियों का इस्तेमाल करने में सहायता करता है।

योग अभ्यास करें

योग गुरू रूबी के अनुसार योगा मैट बिछा कर घर के किसी भी कोने में सूर्य नमस्कार जैसे योगासन करना एक बढ़िया तरीका है। यह 12 स्टेप का एक निश्चित सेट हैं, इसलिए आपको इस बारे में सोचने या चिंता करने की ज़रूरत नहीं है कि आप आगे क्या करने जा रहे हैं। 

अपने अनुसार आप इसे घटा या बढ़ा सकती हैं। योगाभ्यास तनाव पैदा करने वाले हार्मोन को संसाधित करने में भी मदद कर सकता है। यदि आप सांस लेने में बहुत अधिक तकलीफ महसूस कर रही हैं, तो आप ताजी हवा में आराम से टहलने भी जा सकती हैं।

 

ध्यान रहे 

जो लोग पैनिक अटैक से पीड़ित हैं, उन्हें प्राणायाम और योग को अपनी दिनचर्या में शामिल कर लेना चाहिए। मानसिक स्वास्थ्य के मामले में दोनों को अविश्वसनीय रूप से फायदेमंद माना जाता है। इससे आप शरीर, मन और आत्मा को ठीक रखने की क्षमता को बेहतर कर पाती हैं।

यह भी पढ़ें : वेट लाॅस और पाचन के लिए बेस्ट ऑप्शन है लौकी, नोट कीजिए लौकी की बेसन वाली रेसिपी 

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय