हड्डियों को ताकत देकर उन्हें मजबूत बनाता है काजू का दूध, जानिए कैसे करना है घर पर तैयार

प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और हेल्दी फैट से भरपूर होने के कारण काजू आपकी बोन हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद हैं। अगर आप हड्डियों में किसी तरह की समस्या का सामना कर रहीं हैं, तो काजू मिल्क को अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

प्रीजरवेटिव नहीं होने के कारण घर पर तैयार काजू मिल्क ताज़ा और अधिक पौष्टिक होगा। चित्र : एडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 3 January 2023, 13:38 pm IST
  • 126
इस खबर को सुनें

ज्यादातर रोगों से बचाव करता है प्लांट बेस्ड फ़ूड। यदि आप वीगन डाइट पर हैं और काऊ मिल्क (Cow Milk) नहीं लेना चाहती हैं, तो प्लांट बेस्ड मिल्क (Plant Based Milk) आप्शन ट्राइ कर सकती हैं। ड्राई फ्रूट (Dry Fruit) काजू (Cashew) से तैयार दूध आपके लिए बेस्ट हो सकता है। यह सुपर क्रीमी होता है। हालांकि इसे आप बाज़ार से भी ले सकती हैं। पर इसे घर पर बनाना भी आसान है। प्रीजरवेटिव (Preservative) नहीं होने के कारण घर पर तैयार काजू मिल्क ताज़ा और अधिक पौष्टिक होगा। काजू से तैयार दूध के साथ एक प्लस पॉइंट भी है। इसे बादाम के दूध की तरह छानने की जरूरत भी नहीं पडती है। काजू दूध के फायदे जानने से पहले आइये जानते हैं घर पर काजू मिल्क तैयार करने की विधि (Cashew Milk Recipe in Hindi) ।

यहां हैं हिंदी में घर पर काजू मिल्क तैयार करने की विधि (Cashew Milk Recipe in Hindi)

200 ग्राम काजू को रात भर भिगो दें।
सुबह अच्छी तरह धो कर छननी में छान लें।
ब्लेंडर में 4 कप पानी के साथ काजू को 1-2 मिनट के लिए अच्छी तरह ब्लेंड कर लें।
यदि काजू दूध का सोंधा स्वाद लेना चाहती हैं, तो काजू को बिना तेल के पैन में भूनने के बाद रात भर के लिए पानी में भिगाे दें।
यदि आप शुगर की मरीज हैं, तो चीनी से परहेज करना बेहतर होगा।
आपका काजू दूध (Cashew Milk) तैयार है।
यदि आप इसे स्टोर करना चाहती हैं, तो स्टोरेज कंटेनर में डाल कर रेफ्रिजरेट कर लें।

यदि आप काजू दूध को स्टोर करना चाहती हैं, तो स्टोरेज कंटेनर में डाल कर रेफ्रिजरेट कर लें। चित्र : एडोबी स्टॉक

काजू के दूध को आप सीधे पी सकती हैं। इसे डेयरी मिल्क (Dairy Milk) के स्थान पर किसी भी रेसिपी में इस्तेमाल किया जा सकता है।

यहां हैं काजू दूध के फायदे (Cashew Milk Benefits)

काजू का दूध अखरोट के दूध की तुलना में अधिक मलाईदार होता है। लेकिन इसमें कम कैलोरी होती है। इसका उपयोग बेकिंग या कई अन्य उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है।

1 कम कैलोरी (Low Calorie of Cashew) वाला काजू दूध

जिन लोगों को लैक्टोज एलर्जी है, उनके लिए यह डेयरी का एक उत्कृष्ट विकल्प है। काजू दूध में डेयरी मिल्क, कोकोनट मिल्क और ओट मिल्क की तुलना में कैलोरी कम होती है। कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए, विटामिन डी, विटामिन ई जैसे पोषक तत्व भी इसमें मौजूद होते हैं। इसमें प्रोटीन, हेल्दी फैट, कार्बोहाइड्रेट भी मौजूद होते हैं।

2 हड्डियों को देता है मजबूती (Bone Health) 

गाय के दूध की तुलना में इसमें कैल्शियम जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व अधिक मात्रा में मौजूद होते हैं। हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है काजू दूध। यह ऑस्टियोपोरोसिस और कैल्शियम की कमी से जुड़ी कई अन्य बीमारियों को रोकने में मदद करता है।

3 खून की कमी (Anaemia) को दूर कर सकता है

आयरन की कमी के कारण एनीमिया हो सकता है। इसमें रक्त में पर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाएं नहीं होती हैं। काजू का दूध पीने या आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थों के सेवन से खून की कमी दूर करने में मदद मिल सकती है।

4 कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) पर नियन्त्रण

गाय के दूध से भी कोलेस्ट्रोल बढ़ सकता है, पर काजू के दूध में कोई कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। यदि आपको दूध पीने की आदत है, तो बिना दूध छोड़े कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रख सकती हैं। आपके लिए काजू और काजू से तैयार प्रोडक्ट एक उत्कृष्ट विकल्प हो सकता है।

5 आंखों (Eye Health) के लिए फायदेमंद

काजू के दूध में विटामिन ए और विटामिन ई भी मौजूद होता है। ये विटामिन आंखों के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अपनी और बच्चों की आंखों की सुरक्षा के लिए काजू दूध को डाइट में शामिल कर सकती हैं।

काजू दूध (Kaju Milk) के लगातार प्रयोग करने से पहले जान लें कुछ जरूरी बातें

यदि आप सुपर मार्केट से काजू दूध लेती हैं, तो यहां सावधान रहने की जरूरत है। इसे मीठा करने के लिए इसमें एक्स्ट्रा शुगर मिलाया जाता है। खरीदने से पहले लेबल की जांच अवश्य करें। डेयरी उत्पादों की तुलना में काजू का दूध कैलोरी में कम हो सकता है। लेकिन इसमें प्रोटीन भी कम होता है। यदि इसे फोर्टिफाइड नहीं किया जाता है, तो कैल्शियम जैसे अन्य पोषक तत्वों की कमी हो सकती है।

यह भी पढ़ें :- सिर से पांव तक की आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है आंवला, यहां जानें चटपटी आंवला लौंजी की रेसिपी

  • 126
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें