हेयर फॉल कंट्रोल नहीं हो रहा, तो इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ये 5 गंभीर कारण, एक्सपर्ट से जानें प्रीवेंशन टिप्स

अक्सर हम हेयर फॉल को सीजनल प्रॉब्लम समझ कर अनट्रीटेड छोड़ देते हैं। परंतु आपको बताएं कि हेयर फॉल के कुछ गंभीर कारण भी हैं। जिनसे जुड़ी जानकारी न होने के कारण लोगों को बाद में गंभीर हेयर फॉल का सामना करना पड़ सकता है।
सभी चित्र देखे Hair fall ke liye jimmedar ho sakte hain ye 5 gambhir karan.
हेयर फॉल के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ये 5 गंभर कारण. चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 9 Jun 2024, 20:00 pm IST
  • 125

आज के समय में बालों का झड़ना एक सामान्य समस्या बन चुका है। ज्यादातर महिलाएं इससे बेहद परेशान हैं, यहां तक की पुरुष भी इस समस्या का शिकार हो रहे हैं। ऐसे में अक्सर हम हेयर फॉल को सीजनल प्रॉब्लम समझ कर अनट्रीटेड छोड़ देते हैं। परंतु आपको बताएं कि हेयर फॉल के कुछ गंभीर कारण भी हैं। जिनसे जुड़ी जानकारी न होने के कारण लोगों को बाद में गंभीर हेयर फॉल का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए हेयर फॉल का कारण बनने वाली इन गंभीर समस्याओं से जुड़ी जानकारी होना बेहद महत्वपूर्ण है, ताकि आप इनिशियल स्टेज पर ही इनका इलाज शुरू कर सकें (Causes of hair fall)।

रेडिकल स्किन और हेयर क्लिनिक, सेक्टर 17, फरीदाबाद की डर्मेटोलॉजिस्ट और हेयर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉक्टर राधिका रहेजा ने हेयर फॉल के कुछ गंभीर कारण बताए हैं। साथ ही उन्होंने इसे नजरअंदाज न करते हुए समय रहते इस पर ध्यान देने की सलाह दी है। तो चलिए जानते हैं, ये कौन सी समस्याएं हैं।

हेयर फॉल के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ये 5 गंभर कारण (Causes of hair fall)

एलोपेसिया, जिसे बालों के झड़ने का दूसरा नाम भी कहा जाता है, कई कारणों से हो सकता है। निम्नलिखित 5 प्रमुख कारणों से बाल झड़ सकते हैं:

Hair fall se kaise rahat paayein
बालों को हो रही परेशानी को कंट्रोल करने के लिए कुछ टिप्स को अवश्य फॉलो करें। चित्र-अडोबीस्टॉक

1. जेनेटिक एलिमेंट (genetic element)

बालों के झड़ने में एक मजबूत जेनेटिक कॉम्पोनेंट होता है। इसका सबसे आम कारण है हेरेडिटरी हेयर लॉस, जिसे कभी-कभी पुरुष या महिला पैटर्न गंजापन कहा जाता है। पुरुष आमतौर पर महिलाओं की तुलना में इससे अधिक प्रभावित होते हैं। अपने शुरुआती चरणों में, यह इलाज योग्य और प्रतिवर्ती है।

जानें क्या है उपचार : जेनेटिक एलिमेंट और हेरेडिटरी डिसऑर्डर से होने वाले हेयर फॉल की समस्या को रोकना आसान नहीं है। यदि आप केवल घरेलू नुस्खों के इस्तेमाल से इस पर नियंत्रण पाना चाहती हैं, तो यह नामुमकिन है। इसके लिए आपको मेडिकल ट्रीटमेंट की आवश्यकता होती है। इसके शुरुआती लक्षण पर नियंत्रण पाना आसान है, इसलिए बिना देर किए डॉक्टर से मिलें।

2. फंगल संक्रमण (fungal infection)

स्कैल्प पर फंगल संक्रमण के कारण बाल झड़ सकते हैं। खासकर यह बच्चों को अधिक प्रभावित करता है। वयस्कों में यह सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस का कारण बनता है, जिसे अक्सर रूसी के रूप में जाना जाता है। इससे बचने के लिए, तुरंत उपचार और अच्छी सफाई बहुत ज़रूरी है।

Dandruff
बाद में गंभीर हेयर फॉल का सामना करना पड़ सकता है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

बचाव के उपाय: स्कैल्प फंगल इन्फेक्शन की वजह से हेयर फॉलिकल्स प्रभावित होती हैं, और आपको हेयर फॉल की समस्या हो सकती है। हालांकि, फंगल इन्फेक्शन जैसे कि डैंड्रफ और छोटे-मोटे संक्रमण को आप घरेलू नुस्खे के साथ ट्रीट कर सकती हैं। नीम की पत्तियां, दही, नींबू आदि डैंड्रफ में कारगर माने जाते हैं। परंतु यदि आपकी समस्या गंभीर है, या समस्या छोटे बच्चों को हुई है, तो फौरन डॉक्टर से मिले और इस पर सलाह लें।

3. हेयरस्टाइल और स्टाइलिंग तकनीक (styling technique)

पोनीटेल, ब्रैड या एक्सटेंशन जैसे टाइट हेयरस्टाइल पहनने पर बालों को खींचने से नुकसान हो सकता है और बाल झड़ सकते हैं। इसके अलावा, केमिकल प्रक्रियाएं (जैसे ब्लीचिंग और पर्म) हेयर फॉलिकल्स को नुकसान पहुंचाते हैं और बालों को जड़ से कमजोर कर देती हैं, जिसकी वजह से इनमें हल्का भी खिंचाव होने से ये पूरी तरह से निकल आती हैं, और बालों की डेंसिटी कम होती जाती है।

यह भी पढ़ें: आपकी त्वचा का दुश्मन है वातावरण में बढ़ रहा फ्री रेडिकल्स का प्रभाव, जानें बचाव के कुछ जरूरी टिप्स

बचाव के तरीके: हेयरस्टाइल और स्टाइलिंग तकनीक से होने वाले हेयर फॉल को रोकने के लिए आपको अपने बालों पर हीटिंग और केमिकल टूल्स के इस्तेमाल को पूरी तरह से कम कर देना चाहिए। साथ ही बालों को खुला रखें या इनमें ढीली पोनीटेल करें, इससे आपके बालों के फॉलिकल्स स्वस्थ रहते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
hair fall ke bahut sare reasons ho sakte hain
हेयर फॉल के बहुत सारे कारण हो सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

4. हार्मोनल परिवर्तन (Hormonal changes)

मेनोपॉज, प्रेगनेंसी और प्रसव के दौरान होने वाले हार्मोनल परिवर्तनों से बालों का विकास प्रभावित हो सकता है। हार्मोनल असंतुलन और थायरॉयड की स्थिति भी बालों के झड़ने का कारण बन सकती है। निष्कर्ष यह है की ऐसी कोई भी समस्या जिनमें आपके हार्मोन में बदलाव आता है, वे हेयर फॉल को उत्तेजित करती हैं। इन्हे हल्के में न लें और डॉक्टर से संपर्क करें।

बचाव के तरीके: सबसे पहले हार्मोनल प्रवर्तन के कारण समझें और उस पर अपने डॉक्टर की सलाह लें। क्योंकि हार्मोन अक्सर किसी बीमारी और गंभीर स्थिति में असंतुलित होते हैं, जिसे स्वयं संतुलित करना मुश्किल हो सकता है। जब तक वे संतुलित न हो जाए हेयर फॉल कंट्रोल करना बेहद मुश्किल होता है। मेडिकल ट्रीटमेंट के साथ-साथ आप चाहे तो घर पर बालों की विशेष देखभाल कर सकती हैं, ताकि रिकवरी और ज्यादा फास्ट हो जाए।

5. अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थितियां (underlying health conditions)

एडिसन रोग, विटिलिगो, थायरॉयड, हॉजकिन लिंफोमा, हाइपोपिट्यूटारिज्म, सोरायसिस और सिस्टमिक ल्यूपस एरिथेमेटोसस (एसएलई) सहित कई बीमारियां बालों के झड़ने का कारण बन सकती हैं।

बचाव के उपाय: यदि आपको लगातार हेयर फॉल हो रहा है, और आप इससे जुड़ी समस्याओं का पता नहीं लग पा रही हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से मिलकर उन्हें अपनी बाल झड़ने की स्थिति के बारे में बताना चाहिए। ताकि वे फौरन इसपर कोई एक्शन लें, और आपके बाल झड़ने के रूट कॉज को खत्म कर सके।

यह भी पढ़ें: रफ और ग्रीसी हेयर का भी उपचार है चिया सीड्स हेयर मास्क, जानिए इसे इस्तेमाल करने का सही तरीका

  • 125
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख