अगर कम वजन है आपकी समस्या, तो इस तरह करें अश्वगंधा का उपयोग

बढ़े हुए वजन की ही तरह कम वजन भी स्वास्थ्य के लिए परेशानी माना जाता है। इसलिए अगर आप अंडरवेट हैं, तो अश्वगंधा वजन बढ़ाने में आपकी मदद कर सकता है।

Ashwagandha flavored milk ko apne aahar me kren shamil
प्राकृतिक औषधि है अश्वगंधा। चित्र: शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 27 August 2022, 15:30 pm IST
  • 144

शारीरिक रूप से दुबले-पतले और कमजोर लोगों की चाह होती है कि उनका शरीर भी सामान्य लोगों की तरह ही दिखे। इसके लिए लोग बाजार में मौजूद तरह-तरह के उत्पाद प्रयोग करने लगते हैं। संभव है कि इन उत्पादों के कुछ दुष्प्रभाव भी हों। ऐसे में अश्वगंधा जैसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी का चुनाव काफी लाभकारी हो सकता है। इसलिए आज हम वजन बढ़ाने में अश्वगंधा किस प्रकार मदद करता है, यह वैज्ञानिक प्रमाण के साथ समझाने का प्रयास कर रहे हैं। तो जानिए वेट गेन के लिए कैसे करना है अश्वगंधा का सेवन (How to use ashwagandha for weight gain)।

वजन बढ़ाने में कैसे फायदेमंद है अश्वगंधा

वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा का प्रयोग काफी प्रभावी साबित हो सकता है। यह बात दो अलग-अलग रिसर्च में देखने पर स्पष्ट होती है। NCBI (नेशनल सेंटर ऑफ बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) में मौजूद एक रिसर्च पेपर के अनुसार, यह पाचक रसों की सक्रियता को बढ़ाकर भूख को बढ़ावा देता है।

IVF
पौष्टिक आहार लें. चित्र : शटरस्टॉक

इसके साथ ही यह पाचन प्रक्रिया को भी मजबूती प्रदान करने में सहायता प्रदान करता है। इन दोनों ही खूबियों की वजह से इसे वजन बढ़ाने के उपाय के तौर पर उपयोगी माना जा सकता है।

कैसे करें वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा का सेवन?

1 पाउडर के रूप में

अश्वगंधा चूर्ण या पाउडर बाजार में सरलता से मिलता है। इस चूर्ण या पाउडर को रोज सुबह नाश्ते के साथ और रात में सोते वक़्त एक गिलास दूध में एक चम्मच मिलाकर पीने के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

2 जड़ को घर में पीस कर

अश्वगंधा एक जड़ी-बूटी है। ऐसे में यदि यह किसी के आस-पास के क्षेत्र में आसानी से उपलब्ध है, तो इनका चूर्ण घर पर ही तैयार किया जा सकता है। इसके लिए इस जड़ी-बूटी को पहले अच्छी तरह से धोकर धूप में सुखा लें।

इसके बाद इसे बराबर मात्र में लेते हुए मिक्सी या सिलबट्टे पर बारीक पीस कर पाउडर बना लें। फिर इसे बंद डिब्बे में रख लें। घर पर तैयार अश्वगंधा के इस पाउडर को भी सुबह या शाम को एक गिलास गुनगुने दूध के साथ एक चम्मच मिलाकर प्रयोग कर सकते हैं।

ashwagandha ka istemal kren.
अश्वगंधा का इस्तेमाल कैप्सूल के रूप में भी कर सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

3 गोली या कैप्सूल के रूप में

अश्वगंधा चूर्ण के लाभ तो हैं ही, इसके अलावा अश्वगंधा की गोली और कैप्सूल भी बाजार में सरलता से उपलब्ध हैं। वजन बढ़ाने के लिए इन कैप्सूल को भी डॉक्टर की सलाह पर प्रयोग में लाया जा सकता है।

वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा की प्रतिदिन खुराक क्या होना चाहिए?

अश्वगंधा चूर्ण के फायदे और इसके उपयोग का तरीका जानने के बाद यह समझना भी आवश्यक है कि इसकी प्रतिदिन कितनी खुराक सुरक्षित है। तो बता दें कि अश्वगंधा को दिन में लगभग 3 ग्राम तक लेना सुरक्षित माना जाता है।

दूसरी ओर वजन बढ़ाने में अश्वगंधा के फायदे समझने के लिए मुर्गियों पर आधारित शोध में भी 2।5 ग्राम अश्वगंधा लेने के बारे में बताया गया है। फिर भी व्यक्ति की शारीरिक स्थिति और उम्र के आधार पर इस खुराक में बदलाव संभव है। इसलिए इसे सेवन में लाने से पहले इसकी ली जाने वाली मात्रा के बारे में डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें।

यह भी पढ़े- कैलोरी बर्न करने में पिलाटीज से भी ज्यादा इफेक्टिव है सूर्य नमस्कार, जानिए क्या है इसे करने का सही तरीका 

  • 144
लेखक के बारे में
निशा कपूर निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory