लोअर बॉडी को टोन करना है तो बस मेंढक की तरह कूदिए, जानिए कैसे करनी है फ्रॉग जंप 

Updated on: 6 July 2022, 09:19 am IST

मेंढक कूद यानी फ्रॉग जंप (Frog Jump) एक प्रकार का प्लायोमेट्रिक व्यायाम है, जिसमें मुख्य रूप से आपके क्वाड्स, ग्लूट्स, हिप फ्लेक्सर्स शामिल होते हैं। जिससे आप लोअर बॉडी को  टोन कर पाती हैं। 

squat karne ka sahi tareeka
जानिए क्या है फ्रॉग जम्प का सही तरीका। चित्र-शटरस्टॉक।

एक आम धारणा है कि अपने वर्कआउट रूटीन में जटिल व्यायामों को शामिल करना ही स्वस्थ और फिट रहने का एकमात्र तरीका है। जबकि, आपकी फिटनेस आपके द्वारा चुने गए व्यायाम की जटिलता से निर्धारित नहीं होती है। शेप में वापस आने के लिए जरूरी नहीं कि आपको हेवी एक्सरसाइज़ करनी पड़े। कभी-कभी साधारण सी दिखने वाली एक्सरसाइज भी आपके लिए कमाल कर सकती हैं। ऐसी ही एक साधारण सी एक्सरसाइज है फ्रॉग जंप। हां वही, जिसे हम बचपन में खेलते हुए दौड़ लगाया करते थे। पर क्या आप जानती हैं कि एक अकेली फ्रॉग जंप आपका वेट लॉस कर कई और भी फायदे दे सकती है। आइए बरसात के मौसम में जानें मेंढक कूद के फायदे (Frog jump benefits)। 

कभी-कभी आसान व्यायाम भी, आपकी मांसपेशियों को आराम देने और उन्हें अधिक लचीला बनाने में मदद कर सकते हैं। जिसे अधिकतर अनदेखा कर दिया जाता है। ऐसा ही एक व्यायाम है मेंढक कूद (frog jump)।

 इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको बस अपने चारों तरफ मेंढक की तरह कूदना है। यह अजीब लग सकता है, लेकिन यकीन मानिए यह एक्सरसाइज काफी असरदार है।

फ्रॉग जंपिंग एक्सरसाइज क्या है?

इस एक्सरसाइज के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए हमने बात की असम की  फिटनेस व योग एक्सपर्ट रूबी दास सेस्टेप से। रूबी कहती हैं कि इस एक्सरसाइज़ को करते हुए आपको मेंढक की तरह कूदना होता है और अपने निचले शरीर पर ज्यादा से ज्यादा दबाव डालना होता है। यह बिना किसी मशीन के इस्तेमाल के किया जाने वाला व्यायाम है, जिसे आप अपने घर में भी आराम से कर सकती हैं। यह व्यायाम आपको कुछ ही मिनटों में अधिकतम कैलोरी जलाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, यह आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है।

क्यों आपके लिए फायदेमंद है फ्रॉग जंप 

एक्सपर्ट दास कहती हैं कि मेंढक कूद एक प्रकार का प्लायोमेट्रिक व्यायाम है, जिसमें मुख्य रूप से आपके क्वाड्स, ग्लूट्स, हिप फ्लेक्सर्स शामिल होते हैं। यह विशेष व्यायाम जोड़ों के भीतर, टखनों, घुटनों, कूल्हों को टार्गेट करता  है। यह आपके कूल्हों और टखनों को रिलैक्स और ईज़ करता है  और आपके पैरों और पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। मेंढक हॉप या क्रॉल आपकी रीढ़ को आराम देता है और पीठ के निचले हिस्से में दर्द की परेशानी से भी छुटकारा पाने में मदद करता है।

यहां है फ्रॉग जंप करने का सही तरीका 

स्टेप 1: अपने पैरों को कंधे की चौड़ाई से अलग करके जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं।

स्टेप 2: एक स्क्वाट मुद्रा में नीचे जाएं (जितना गहरा आप सहज महसूस करें)। आपके पैर की उंगलियां बाहर की ओर होनी चाहिए। हो सके तो अपने हाथों से जमीन को छूने की कोशिश करें।

स्टेप 3: एक छोटी सी छलांग आगे (मेंढक की तरह) लें और अपने पैर की उंगलियों पर स्क्वाट मुद्रा में ही जम्प करें।

स्टेप 4: फिर से इसी तरह आगे की ओर छलांग लगाएं। आगे बढ़ते रहें और जितना हो सके ऊपर की ओर जम्प करें।

फ्रॉग जम्प आपकी लोअर बॉडी को टोंड करती है, चित्र:शटरस्टॉक

याद रखने योग्य बातें

इस व्यायाम से अधिकतम लाभ पाने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए:

स्क्वाट पोज़ में हों तो सांस लेना न भूलें।

जब आप कूदें या आगे की ओर छलांग लगाएं तो सांस छोड़ें।

कोशिश करें कि आप एड़ी पर ज़मीन पर न उतरें क्योंकि इससे आपके टखने में चोट लग सकती है।

शुरुआत में छोटे जम्प लें 

वज़न ज़्यादा होने पर इस एक्सरसाइज़ को करने से बचें क्योंकि यह आपके टखने और घुटने पर अतिरिक्त दबाव डाल सकता है। 

इसे और अधिक चुनौतीपूर्ण कैसे बनाया जाए

आप इस एक्सरसाइज में प्रौप के तौर पर बॉल शामिल कर इस एक्सरसाइज को और चैलेंजिंग बना सकती हैं। फ्रॉग हॉप्स एक्सरसाइज करते समय आप अपने हाथों में बारबेल या डंबल पकड़ सकती हैं। आप जितना हो सके कूदने की कोशिश भी कर सकती हैं, लेकिन कोशिश करें कि आपके टखने में चोट न लगे।

यदि आप जोड़ों के दर्द या हड्डियों से संबंधित अन्य समस्याओं से पीड़ित हैं, तो इस व्यायाम को न करें। 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को भी इससे बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें: स्क्रीन टाइमिंग कंट्रोल करने के साथ ही इन 5 तरीकों से करें खुद को डिजिटल डिटॉक्स

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय