ठंडा पानी पीने या आईसक्रीम खाने से हो गई है सूखी खांसी, तो 5 घरेलू नुस्खों से पाएं आराम

मौसम में आने वाला बदलाव हमारे शरीर को कई प्रकार से प्रभावित करते है। इसके चलते अधिकतर लोग सूखी खांसी की चपेट में आ जाते हैं। गले में दर्द और खांसी से अगर आप भी परेशान हैं, तो इन नुस्खों को अपनाएं।

home remedies for itchy throat
गले की खराश में अपनाये यह खास घरेलु नुस्खे। चित्र शटरस्टॉक।
ज्योति सोही Published: 23 Apr 2023, 11:00 am IST
  • 141

गर्मी का मौसम आते ही अपने साथ कई बीमारियां लेकर आता है। दिन भर पसीने और त्वचा पर चिपचिपाहट रहने के अलावा सूखी खांसी की समस्या भी ऐसे मौसम में बढ़ने लगती है। बए़ रही तपन के चलते ठण्डी चीजों का सेवन और हवादार कमरों में बैठने से अक्सर बच्चों और बड़ों को इस समस्या से दो चार होना पड़ता है। इसका प्रभाव सबसे पहले गले पर नज़र आने लगता है। देखते ही देखते गले का दर्द खांसी, जुकाम और बुखार में परिवर्तित हो जाता है। इससे गले में पनपने वाला बैक्टिरिया थकान, शरीर में दर्द और कई और समस्याएं बढ़ाने लगता है। जानते हैं इन समस्याओं से मुक्ति पाने के कुछ आसान और कारगर उपाय (How to deal with Dry cough)

यहां हैं सूखी खांसी में राहत दिलाने वाले 5 घरेलू उपाय

1. हल्दी

एंटी बैक्टिरियल और एंटी इंफलामेंटरी गुणों से भरपूर हल्दी गले की खराश और सूजन को दूर करने का काम करती है। इसमें निहित करक्यूमिल सांस की बीमारियों में भी फायदा पहुंचाने का काम करता है।

कैसे करें उपाय

गले में जलन से बचने के लिए दूध में छोटा चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से गले का संकमण दूर होने लगता है। इससे खराश में भी फायदा मिलता है।

Haldi ke fade
हल्दी में मौजूद गुण गले के संक्रमण को दूर करने का काम करते हैं। चित्र अडोबी स्टॉक

2. गर्म पेय पदार्थ

गर्मी में खुद को हाइड्रेट रखना बहुत ज़रूरी है। ऐसे में ठण्डे और प्रिर्जवेटिव्स से युक्त पदार्थों की जगह गुनगुना या सादा पानी पीएं। इसके अलावा गले के दर्द को दूर करने के लिए ग्रीन टी दिन में दो बार अवश्य पीएं। ग्रीन टी में रोज़मेरी की पत्तियां और मिन्ट लीव्स को भी शामिल कर सकती है। पुदीने की पत्तिया गले में जमा होने वाली बलगम को दूर करने का काम करती है।

कैसे करें उपाय

ग्रीन टी पीने में पुदीने की पत्तियों को एड करके सोर थ्रोट की समस्या को दूर किया जा सकता है। इसके अलावा अश्वगंधा, पुदीने की पत्तिया, मुलेठी और सौंठ को उबालकर पीने से भी गले का संक्रमण दूर होता है। आप चाहें, तो इसमें फ्लेवर एड करने के लिए शहद की गुडलेस को भी एड कर सकते हैं। शहद में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंटस शरीर को फायदा पहुंचाने का काम करते हैं। साथ ही गले में मौजूद इंफेक्शन को शांत करता है।

3. कच्चा प्याज

ड्राई कफ की समस्या से निजात पाने के लिए प्याज का सेवन करें। कच्चा प्याज़ कफ की समस्या को दूर करने में मददगार साबित होता है। गले के साथ साथ कच्चा प्याज खाना आंखों के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है।

कैसे खाएं

आप चाहें, तो मिक्सर में प्याज के टुकड़ों को ग्राइंड कर लें और फिर उसे छन्नी से छान लें। इससे निकलने वाले रस की तासीर ठण्डी होती है। जो गर्मियों में शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाता है। साथ ही गले की खराश को मिटाता है। इसके अलावा प्याज के छोटे टुकड़ों को पानी में उबाल लें। कुछ देर उबलने के बाद उसे छान लें। उस रस को सामान्य करने के बाद दिन में दो से तीन बार पी सकती हैं। रस के अलावा आप कच्चा प्याज भी खा सकती हैं।

Onion reduce cough
कच्चे प्याज का सेवन कफ से राहत पाने में मददगार है। चित्र शटरस्टॉक

4.स्टीम लें

ड्राई कफ के साथ साथ अक्सर लोगों को सांस लेने में भी तकलीफ का सामना करना पड़ता है। ऐसे में स्टीम एक बेहतरीन उपाय है। बच्चे हो या बड़े अधिकतर लोग डॉक्टरी सलाह से नेब्यूलाइज़र भी इस्तेमाल करते हैं। इससे भी शरीर बहुत जल्द राहत महसूस करने लगता है।

इसके लिए एक बर्तन में पानी गर्म कर लें और उसमें नमक मिला दें। इससे शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। इसके अलावा स्टीमर में डाक्टर की सुझाई लिक्विड दवाओं से भी आप स्टीम ले सकते हैं। गर्मी के मौसम में गले को राहत देने के लिए आप एंटी बैक्टिरियल गुणों से युक्त तुलसी और नीम की पत्तियों को भी पानी में डालकर भाप ले सकते हैं।

5. गिलोय

गिलोय की पत्तियों से लेकर जड़ और तना, हर चीज़ आयुर्वेद की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। एंटी.इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर गिलोय का रस खांसी के उपचार में कारगर है। इम्यून सिस्टम को मज़बूत करने के लिए आप गिलोय का प्रयोग कर सकते हैं। इसके नियमित सेवन से शरीर संक्रामक बीमारियों से दूर रहता है।

कैसे करें सेवन

आप तीन प्रकार से गिलाय का सेवन कर सकते हैं। इसे पानी में उबालकर, जूस के रूप में और चूरन की तरह। गले में खराश और दर्द को दूर करने के लिए रोज़ाना सुबह एक गिलास पानी के साथ 2 चम्मच गिलोय का रस पीएं। एंटी.एलर्जी के रूप में काम करने वाली गिलोय की पत्तियों को आप घर पर भी गमले में उगा सकते हैं। ये कई प्रकार से हमारे शरीर के लिए लाभदायक साबित होती हैं।

ये भी पढ़ें- इम्यून सिस्टम को मजबूत कर रिकवरी में मदद करते हैं ये 5 पोस्ट कोविड योगासन

  • 141
लेखक के बारे में
ज्योति सोही ज्योति सोही

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें