खट्टी डकार ने परेशान कर दिया है, तो जानिए इससे बचने के आसान और घरेलू उपाय

त्योहारों का मज़ा खाने और खिलाने के साथ आता है। पर अगर आपका हाज़मा गड़बड़ है, तो आप न केवल पार्टी में जाने से घबराते हैं, बल्कि घर पर भी त्योहार का आनंद नहीं ले पाते।

burping
खट्टी डकार और एसिड रिफ्लक्स से बचाव के घरेलू उपाय। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 15 October 2022, 08:00 am IST
  • 132

क्या आपको भी अक्सर खाना खाने के बाद खट्टी डकार आती हैं। या आपके छाती और गले में हमेशा जलन होती है। जिसकी वजह से आपको घबराहट होने लगती है। यदि आपके साथ भी ऐसी समस्याएं हैं, तो यह लेख आपके लिए है। खाना खाने के बाद खट्टी डकार आना (Burping), अक्सर पेट फूला हुआ रहना, बिना बात के वज़न बढ़ना, हर समय हिचकियां आना- एसिड रिफ्लक्स के लक्षण हैं। यदि आपको भी कई दिनों से यही समस्या है, तो यहां आपके लिए कुछ आसान और घरेलू उपाय दिए गए हैं। पर उससे पहले इनके कारणों को जानना है जरूरी।

एसिड रिफ्लक्स का एक सामान्य कारण पेट की असामान्यता है, जिसे हाइटल हर्निया (Hiatal hernia) कहा जाता है। यह तब होता है जब पेट का ऊपरी हिस्सा, डायाफ्राम से ऊपर चला जाता है। यह एक ऐसी मांसपेशी है, जो आपके पेट को छाती से अलग करती है। आमतौर पर डायफ्राम हमारे पेट में एसिड को बनाए रखने में मदद करता है। मगर यदि आपको हाइटल हर्निया है, तो एसिड आपकी अन्नप्रणाली में जा सकता है और एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux) के लक्षण पैदा कर सकता है।

जानिए क्या हो सकते हैं पेट में एसिड रिफ्लक्स के कारण?

ज़्यादा खाना खाना या खाना खाने के बाद लेट जाना
अधिक वजन या मोटापा होना
भारी भोजन करते ही पीठ के बल लेट जाना
रात बहुत देर से खाना खाना
कुछ खाद्य पदार्थ, जैसे कि टमाटर, चॉकलेट, पुदीना, लहसुन, प्याज या मसालेदार या वसायुक्त भोजन खाना
शराब, कार्बोनेटेड ड्रिंक, कॉफी या चाय जैसे पेय पदार्थ ज्यादा पीना
धूम्रपान
गर्भवास्था में भी यह समस्या हो सकती है
ब्लड प्रैशर की दवाएं लेना।

यहां हैं वे उपाय जो खट्टे डकार, एसिडिटी और एसिड रिफ्लक्स से आपको बचा सकते हैं

1. वजन कम करें

मोटापा एसिड रिफ्लक्स का प्रमुख कारण है। पेट की अतिरिक्त चर्बी पेट पर दबाव डालती है और गैस्ट्रिक जूस को आपकी अन्नप्रणाली में धकेलती है। जिसकी वजह से यह समस्या आती है।

2. एसिड रिफ्लक्स पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें

वसायुक्त भोजन, मसालेदार भोजन, एसिडिक खाद्य पदार्थ, जैसे टमाटर और संतरा, पुदीना, चॉकलेट, प्याज, कॉफी या कैफीनयुक्त ड्रिंक, कार्बोनेटेड ड्रिंक से परहेज करें।

एसिडिक डकार का घरेलू उपाय। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. कम भोजन करें

बड़े भोजन पेट भरते हैं और डायफ्राम पर दबाव डालते हैं, जिससे एसिडिटि की संभावना अधिक हो जाती है।

4. खाने के तुरंत बाद न लेटें

भोजन के बाद, कम से कम तीन घंटे तक लेते नहीं। हेल्थ जर्नल के अनुसार गुरुत्वाकर्षण एसिड को विकसित होने से रोकने में मदद करता है। क्योंकि जब आप खाना खाते हैं और फिर झपकी लेते हैं, तो आप गुरुत्वाकर्षण को समीकरण से बाहर होते हैं। नतीजतन, एसिड अधिक आसानी से डायफ्राम के खिलाफ बढ़ता है और एसोफैगस में पहुंच जाता है।

5. धूम्रपान छोड़ें

कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि निकोटीन डायफ्राम की मांसपेशियों को आराम दे सकता है और आपके लार की एसोफैगस से एसिड को साफ करने की क्षमता में भी हस्तक्षेप कर सकता है।

6. शराब का सेवन कम करें

धूम्रपान के साथ शराब डायफ्राम को आराम करने का कारण बन सकती है। शराब भी ग्रासनली की मांसपेशियों में ऐंठन का कारण बन सकती है।

7. ढीले-ढाले कपड़े पहनें

तंग कपड़े या बेल्ट न पहनें जो आपके पेट को संकुचित करते हों। इससे पेट दबता है और खाना ऊपर को चढ़ता है।

8. ग्लूटेन फ्री डाइट लें

एनसीबीआई (NCBI) के अध्ययन में पाया गया है कि जौं, राई और गेहूं जैसे अनाज में पाया जाने वाला प्रोटीन ग्लूटेन, एकिडिटी के लक्षणों का कारण बन सकता है। अपने आहार से ग्लूटेन को खत्म करने की कोशिश करें और देखें कि क्या इससे कोई फर्क पड़ता है।

यह भी पढ़ें : हेल्दी वेट लॉस और इंस्टेंट एनर्जी के लिए ट्राई करें, ये 4 प्री और पोस्ट वर्कआउट मील रेसिपीज

  • 132
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory