गर्मी और पसीने में कर्ली बाल बन रहे हैं परेशानी, तो ये 5 स्टेप कर सकते हैं आपकी मदद 

Published on: 30 May 2022, 15:00 pm IST

तापमान बढ़ने या बारिश होने की संभावना को आप मौसमी बदलाव कह सकती हैं। ऐसे वक्त में घुंघराले बालों को संभालना काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है। 

Curly hair treatment
कुछ तरीके अपनाकर गर्मी में कर्ली बालों की देखभाल हो सकती है आसान। चित्र: शटरस्टॉक

एक तरफ गर्मी बढ़ रही है, तो कभी-कभी बारिश भी होने लगती, यानी मौसम बदल रहा है। यूं तो घुंघराले बाल, यानी कर्ली हेयर देखने में काफी खूबसूरतत लगते हैं, लेकिन उनकी देखभाल करना कठिन है। यदि गर्मी और बारिश का मौसम है, तो उन्हें संभालना एक टफ टास्क हो सकता है। ऐसी स्थिति में हम क्या करें कि उनकी केयर अच्छी तरह हो सके। इसके लिए हमने बात की हम्बल केयर की स्किन एंड हेयर एक्सपर्ट कांति अग्रवाल से।

मौसमी बदलाव और घुंघराले बाल

पसीने, धूल और गर्मी भरे मौसम में यदि आप उन्हें देर तक खुला छोड़ती हैं, तो कर्ल्स आपस में उलझने लगते हैं। साथ ही, वे रूखे और बेजान भी हो सकते हैं। फिर आगे बालों के टूटने और झड़ने की समस्या हो सकती है। इन दिनों तेज धूप के साथ-साथ बारिश होने की भी संभावना बनी रहती है। इसलिए कर्ली हेयर्स के लिए उमस और नमी की समस्या बन रहती है। यदि आप 5 ट्रिक्स को फॉलों करें, तो आपके कर्ली हेयर भी शाइनी और हेल्दी दिख सकते हैं।

यहां हैं 5 स्टेप्स जो आपको कर्ली बालों को संभालने में मदद करेंगे 

1 सल्फेट फ्री शैंपू के साथ कंडीशनर का इस्तेमाल

गर्मी में धूप, धूल और पसीने के कारण बाल जल्दी गंदे हो जाते हैं। इसलिए बाल कर्ली हों या स्ट्रेट हमें रोज शैंपू करना पड़ता है। अगर आपके बाल कर्ली हैं, तो सल्फेट फ्री शैंपू का ही प्रयोग करें। शैंपू के साथ कंडीशनर का इस्तेमाल जरूर करें। इससे रोज धोने के बावजूद स्कैल्प पर मॉयश्चर बरकरार रहेगा और रूट्स कमजोर नहीं पड़ेंगे। 

यदि बाल ड्राय होंगे, तो कर्ल के सिरे जल्दी प्रभावित होंगे और दो-मुंहें बालों की समस्या बढ़ेगी। बालों को नमीयुक्त बनाने के लिए जेल का प्रयोग करें। चाहें तो शिया बटर या तिल के तेल का प्रयोग करें।

2 मोटी दांत वाली कंघी का करें प्रयोग

बाल धोने के बाद गीले बालों में ही कंघी कर लें। कंघी हमेशा मोटे दांतों वाली ही हो। इससे आपके कर्ल्स आपस में उलझने से बचे रहेंगे और वे टूटेंगे भी नहीं।

combing
कर्ली हेयर को मोटे दांतों वाले कंघी से कॉम्ब करना चाहिए। चित्र:शटरस्टॉक

3 पीएच स्तर को रखें संतुलित

जब सीजन चेंज होता है, तो सबसे अधिक असर ऑयली हेयर और स्कैल्प पर पड़ता है। सल्फेट फ्री शैंपू और कंडीशनर आपके बालों और स्कैल्प के ऑयल को कंट्रोल रखते हैं। ये स्कैल्प के पीएच स्तर को भी बैलेंस करते हैं।

4 स्टाइलिंग टूल्स के इस्तेमाल से करें परहेज 

यदि तापमान लगातार बढ़ रहा है और कर्ली बालों को और अधिक खूबसूरत दिखाने के लिए हीटिंग स्टाइलिंग टूल्स जैसे कि हेयर स्ट्रेटनर, हेयर ड्रायर आदि का इस्तेमाल कर रहीं हैं, तो इन्हें तत्काल रोक दें। इन टूल्स में टेम्प्रेचर सेट करते समय भी ध्यान दें। गीले बालों को ड्रायर की बजाय नेचुरली सूखने दें।

5 ब्लीच या कलर को कहें ना

जब तापमान बढ़ रहा हो या बालों के बारिश में गीले होने के आसार हों, तो बालों पर ब्लीच या कलर करने से बचें। हार्ड कलर बालों की नमी को सोख लेते हैं, जिससे बाल डिहाइड्रेट हो जाते हैं। शहद, गेहूं प्रोटीन, सोर्बिटोल, ग्लिसरीन और पैन्थेनॉल वाले हेयर केयर प्रोडक्ट का चुनाव करें। सप्ताह में कम से कम एक या दो बार बालों की अच्छी तरह तेल-मालिश करें। 

यहां पढ़ें :- बढ़ती उम्र में बालों को कमज़ोर और पतला होने से बचाना है, तो फॉलो करें ये जरूरी टिप्स

स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।