ये 5 तरीके तनावपूर्ण जिंदगी में भी आपको खुश और रिलैक्स रहने में मदद करेंगे

Published on: 8 June 2022, 15:06 pm IST

इस पूरी दुनिया में कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं है, जिसके जीवन में कभी भी तनाव ने एंट्री न की हो। इसके बावजूद कुछ लोग बहुत स्ट्रेस फ्री दिखते हैं। तो क्या है तनाव को मैनेज करने का उनका तरीका।

stress ko kaise manage karein
खाली पेट चाय आपके अंदर स्ट्रेस और तनाव को बढ़ा सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

हम अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में कई तरह की चुनौतियों का सामना करते हैं। इतना ही नहीं, यह सब चीज़ें हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करती हैं। साथ ही, तनाव का कारण बनती हैं, जिसकी वजह से आगे चलकर हमें कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। पर क्या तनाव को मैनेज किया जा सकता है? जवाब है हां, बस आपको इसके लिए सही तकनीक पता होनी चाहिए। आइए जानते हैं तनाव को मैनेज करने के तरीके (How to manage stress)।

तनाव हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को घातक रूप से प्रभावित कर सकता है। इतना ही नहीं, इसकी वजह से हमारी निजी जिंदगी प्रभावित होने लग जाती है। अक्सर एक दर्दनाक घटना के बाद लोग उस स्ट्रेस से उबर नहीं पाते हैं और बीते कल की बातों में रह जाते हैं। ऐसे में सही देखभाल और समर्थन मिलने से तनावपूर्ण भावनाओं और लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है।

तो यदि आप भी अपने निजी जीवन में तनाव के कारण कई चुनौतियों का सामना कर रही हैं तो जानिए इसे नियंत्रित करने के कुछ तरीके।

1 ध्यान करें (Meditation)

गाइडेड मेडिटेशन (Guided Meditation) दैनिक जीवन के तनाव से खुद को दूर करने का एक शानदार तरीका है। इंटरनेट पर कई गाइडेड मेडिटेशन ट्यूटोरियल उपलब्ध हैं, जो आपको ध्यान करने में मदद करेंगे और मानसिक तनाव से कुछ राहत दिलाएंगे।

meditation karein
मेडिटेशन करें। चित्र शटरस्टॉक।

2 व्यायाम करें और सही पोषण बनाए रखें (Exercise and healthy diet )

जब आपका शरीर स्वस्थ होता है, तो आपका दिमाग भी स्वस्थ रहता है। यह आपके जीवन की समग्र गुणवत्ता में सुधार करने में भी मदद करता है। उचित पोषण बनाए रखने से न केवल आपके शरीर को बेहतर महसूस करने में मदद मिलती है, बल्कि आपका दिमाग भी बेहतर होता है, जिससे आप तनाव से बेहतर तरीके से निपट सकती हैं।

3 सोशल मीडिया टाइम मैनेज करें (Control social media time)

सोशल मीडिया साइटों पर समय बिताना तनावपूर्ण हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां दुनिया भर की नेगेटिव न्यूज़ आपको मिल जाएगी, जो आपका मन विचलित कर सकती है। साथ ही, यह सब आपके मन मस्तिष्क पर गहरा प्रभाव डाल सकता है। इसलिए, इससे बचने की कोशिश करें।

Social detox hai jaroori
सोशल डिटॉक्स है जरूरी। चित्र: शटरस्टॉक

4 डीप ब्रीदिंग करें (Deep Breathing)

डीप ब्रीदिंग करना तंत्रिका तंत्र की सक्रियता को कम करने का एक शानदार तरीका है, जो शरीर की प्रतिक्रिया को नियंत्रित करता है। पांच सेकंड के लिए भी की गई डीप ब्रीदिंग आपके पैरासिम्पेथेटिक तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करने में मदद कर सकती हैं। यह आपके समग्र तनाव और चिंता को कम करने में मदद करती है।

5 ट्रिगर्स को समझें और उनसे दूर रहें (Avoid the triggers)

तनाव को ट्रिगर करने वाले कारणों को समझें और उनसे यथासंभव दूरी बनाए रखें। यदि कोई चीज़ है जो आपको परेशान करती है, तो उससे जितना हो सके दूर रहने की कोशिश करें। यदि कोई व्यक्ति आपके तनाव का कारण बन रहा है तो, उन्हें अपनी जिंदगी से दूर करें। वास्तव में खुद को प्राथमिकता देना ज़रूरी है। इसलिए ऐसे लोगों से दूरी बनाए रखें।

यह भी पढ़ें : Yoga for PCOS : एक्सपर्ट से जानें पीसीओएस को कंट्रोल करने के लिए 4 प्रभावी योगासन

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।