ब्लड शुगर लो हो गया है, तो एक्सपर्ट के बताए ये 5 फूड्स देंगे इंस्टेंट रिलीफ

लो ब्लड शुगर को मैनेज करें इन फ़ूड आइटम्स, चित्र: शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Published on: 13 September 2022, 15:09 pm IST
  • 112

मधुमेह के रोगियों के लिए, रक्त शर्करा (blood sugar) के स्तर का ध्यान रखना उनके दैनिक जीवन का एक हिस्सा है। शरीर में चीनी की मात्रा कम होना या हाइपोग्लाइसीमिया (Hypoglycemia) एक आम दिक्कत है। यह खास कर उन मधुमेह रोगियों को होती है, जो इंसुलिन और सल्फोनीलुरिया दवाओं पर हैं। भोजन छोड़ना, ज़रुरत से ज़्यादा व्यायाम करना, बहुत अधिक इंसुलिन लेना या शराब का सेवन करना इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। खासकर तब जब आप खाली पेट हों। इस स्थिति का तुरंत उपचार जरूरी है। पर इसके लिए हॉस्पिटल जाने की जरूरत नहीं है, बल्कि कुछ फूड्स के साथ आप घर पर ही इसे ठीक कर सकती हैं। यहां जानिए उन फूड्स के बारे में जो लो ब्लड शुगर या हाइपोग्लाइसीमिया के उपचार में त्वरित राहत दे सकते हैं। 

रक्त शर्करा की निम्न मात्रा के कारण कई बार मामूलीअसुविधा होती है, तो कई बार यह जीवन को जोखिम में भी डाल सकता है। इसलिए लो ब्लड शुगर की समस्या हो, इससे पहले ही उसे बूस्ट करना जरूरी है।

शार्प चुला विस्टा मेडिकल सेंटर में मधुमेह पर शोध कर रही शिक्षिका एंजेला नॉर्टन स्वयं मधुमेह से पीड़ित हैं। इसलिए वे रक्त शर्करा को ट्रैक पर रखने की युक्तियों को पहले से जानती हैं। नॉर्टन का कहना है कि 70 मिलीग्राम / डीएल से ऊपर ब्लड शुगर को सामान्य माना जाता है। मधुमेह के रोगियों को इस स्थिति के खतरनाक होने का  इंतजार नहीं करना चाहिए।

“जब आप लो ब्लड शुगर के लक्षण महसूस करती हैं, तो इसका इलाज जितनी जल्दी हो सके किया जाना चाहिए। इसलिए अगर आपका ब्लड शुगर 100 से कम है, तो इसके ड्रॉप हो कर 70 होने का इंतज़ार न करें। वरना उसके बाद ये और तेजी से गिर सकता है।” 

कैसे पता चलेगा कि ब्लड में शुगर डाउन हो रही है 

ब्लड शुगर लेवल लो होने के कारण घबराहट, चक्कर आना, सिरदर्द और सोने में कठिनाई जैसे लक्षण नजर आते हैं।

janiye 5 diabetic friendly foods ke baare mein
अपनाएं फ्रेंडली फ्रूट्स। चित्र : शटरस्टॉक

नॉर्टन शरीर में रक्त शर्करा के निम्न स्तर का संतुलन बनाए रखने और इन लक्षणों  में मदद करने के लिए तुरंत ही इन 5 चीज़ों को  खाने की सलाह देती हैं ।

यहां वे फूड्स दिए गए हैं जो लो ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस करने में मदद कर सकते हैं

1 कैंडी

डाइटीशियन अनिता जेना इस बारे में बात करते हुए कहती हैं कि हाइपोग्लाइसीमिया होने पर मरीजों को 15-15 के नियम का पालन करना चाहिए । शरीर में ब्लड शुगर का संतुलन बनाए रखने के लिए 15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट का सेवन करें और 15 मिनट के बाद ब्लड शुगर लेवल को फिर से जांचें। 

गमी  कैंडीज में कार्बोहाइड्रेट होते हैं, जो रक्त शर्करा के स्तर पर प्रभाव डालती हैं। नॉर्टन कहती हैं, “शुगर बेस्ड फ़ूड आइटम्स ब्लड में तेजी से घुल जाते हैं और आपके ब्लड शुगर को पांच से 15 मिनट के भीतर बढ़ा सकते हैं।”

2 ताजे फल या मेवे 

कुछ मेवे या फल ज़रूरी  मात्रा में  कार्बोहाइड्रेट प्रदान करते हैं। आधा केला, 15 अंगूर, दो बड़े चम्मच किशमिश या एक छोटा सेब या नारंगी इन फ्रूट्स में शामिल हैं।

3 फलों का रस

फलों का रस भी ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकता है।

honey apki problems ko door kar sakta hai
शहद लो शुगर मैनेज करने में मददगार है। चित्र: शटरस्टॉक

पसंदीदा फलों जैसे कि सेब, संतरा, अनानास या क्रैनबेरी के रस का आधा कप आपकी मदद करेगा।

4 फैट फ्री मिल्क

डाइटीशियन अनिता जेना के अनुसार दूध में विटामिन डी और कार्बोहाइड्रेट होते हैं। इसलिए एक कप वसा रहित दूध पीना आपके ग्लूकोज के स्तर को गिरने से बचा सकता है।

5 शहद

डाइटीशियन जेना कहती हैं, “ब्लड शुगर कम होने पर एक बड़ा चम्मच शहद या जैम लेना ब्लड ग्लूकोज़ के स्तर को संतुलित करने का एक अच्छा तरीका है। मरीजों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे फ्रूट स्नैक्स के छोटे बैग्स चुनें जिनमें फास्ट-एक्टिंग कार्बोहाइड्रेट होते हैं।

यह भी पढ़ें: जानिए क्या है इसबगोल, जो आपकी पेट संबंधी सभी समस्याओं से दिला सकता है राहत

  • 112
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory