लॉग इन

नियमित दिनचर्या की कुछ आदतें बन सकती है एक्ने का कारण, यहां हैं त्वचा की देखभाल के 5 टिप्स

त्वचा के प्रति लापरवाही बन सकती है एक्ने और ब्रेकआउट का कारण। यदि इससे निजात पाना चाहती हैं, तो नियमित आदतों में कुछ अहम बदलाव करना जरूरी है।
डेयरी को अक्सर एक्ने पैदा करने के लिए दोषी ठहराया जाता है। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published: 28 Oct 2022, 21:00 pm IST
ऐप खोलें

धूल, गंदगी, सूरज की हानिकारक किरणें और वातावरण में हो रहे बदलाव के कारण एक्ने और ब्रेकआउट की समस्या होना आम होती जा रही है। ऐसे में अपनी त्वचा को एक सही देखभाल देना बहुत जरूरी है। अन्यथा आपकी छोटी सी लापरवाही त्वचा के लिए बड़ी मुसीबत का कारण बन सकती है। इसी के साथ इस बदलते मौसम में स्किन काफी ज्यादा ड्राई हो जाती है और ड्राई स्किन पोर्स को ब्लॉक कर देती हैं। तो इस वजह से भी त्वचा पर एक्ने होने की संभावना बढ़ जाती है। तो आज हम लेकर आये हैं, ऐसे 5 तरीके जो आपको एक्ने की समस्या से निजात पाने में मदद करेंगे। चलिए जानते हैं इनके बारे में थोड़ा और विस्तार से।

यहां जाने एक्ने के कुछ सामान्य प्रकार

डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर सुयोमी शाह ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए एक्ने के कुछ प्रकारों के बारे में विस्तार से बताया है। तो चलिए जानते हैं आखिर एक्ने कितने प्रकार के होते हैं।

1. व्हाइटहेड्स (whiteheads)

व्हाइटहेड्स छोटे बम्प्स और सीबम से भरे हुए पोर्स को कहते हैं। व्हाइटहेड्स हमेसा छोटे समूह में होते हैं और काफी समय तक त्वचा पर बने रहते हैं।

2. ब्लैकहेड्स (Blackheads)

त्वचा के पोर्स में धूल गंदगी भर जाने पर छोटे-छोटे बम्प्स निकलने लगते हैं। जिसे हम ब्लैकहेड्स के नाम से जानते हैं। इसके साथ ही यह त्वचा की बाहरी स्किन को ऑक्सिडाइज कर देता है और काले धब्बे छोड़ जाता है।

एयर पॉल्यूशन के कारण एक्ने और पिंपल्स की समस्या हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

3. पिम्पल (Pimples)

पिंपल छोटे-छोटे बम्प्स को कहते हैं। इनमें पस और अन्य प्रकार की फ्लूइड भरी होती है। वहीं पिंपल्स में आमतौर पर वाइट रंग के बम्पस और उसके आसपास लाल रंग की त्वचा नजर आती है।

4. त्वचा के अंदर सिस्ट होना (cystic lesions)

त्वचा के अंदर होने वाले इस टेस्ट को एक्ने सिस्ट भी कहा जाता है। कई बार त्वचा के स्किन के अंदर पिंपल की तरह पस से भरा सिस्ट निकल आता है। जो काफी ज्यादा दर्दनाक होता है। इसके होने पर त्वचा का वह एरिया सख्त और लाल हो जाता है।

5. त्वचा के अंदर गांठ पड़ना (nodules)

त्वचा के अंदर गांठ पड़ना भी एक्ने का एक प्रकार है। कभी कबार त्वचा की सतह पर सख्त दाने महसूस होते हैं, जो बाहर से नजर नहीं आते। शुरुआत में यह त्वचा के अंदर ही रहते हैं परंतु धीरे-धीरे लाल होने लगते हैं और बम्स के रूप में त्वचा की सतह पर भी नजर आने लगते हैं।

ब्लैकहेड्स की समस्या से छुटकारा पाने के लिए चेहरे की नियमित सफाई है जरूरी। चित्र शटरस्टॉक।

यह जाने एक्ने से निजात पाने के पांच आसान टिप्स

1. खुद को हाइड्रेटेड रखें

यदि आपकी बॉडी डीहाइड्रेटेड है तो ऐसे में ग्लांड्स ज्यादा से ज्यादा ऑयल प्रोड्यूसर करते हैं। इसके साथ ही शरीर के डिहाइड्रेटेड होने पर त्वचा बेजान और मुरझाई हुई नजर आती है। वहीं इन्फ्लेमेशन और पिगमेंटेशन होने की भी संभावना बनी रहती है। इसलिए जब प्यास लगे तो कभी भी इसे नजरअंदाज न करें और शरीर को पर्याप्त पानी दें।

2. दिन में कम से कम 2 बार अच्छी तरह फेस वॉश करें

अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी एसोसिएशन के अनुसार दिन में कम से कम 2 बार अच्छी तरह फेस वॉश करना जरूरी है। क्योंकि त्वचा पर जमे धूल, गंदगी और ऑयल स्किन पोर्स को बंद कर देते हैं जिस वजह से एक्ने होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है।

सादे पानी से फेस वॉश करें। चित्र : शटरस्टॉक

3. त्वचा को प्राकृतिक रूप से हिल होने दें

अक्सर हम अपनी त्वचा पर हुए एक्ने को खुद से ठीक करने में लग जाते हैं। इसके लिए हम तरह-तरह की दवाइयों का प्रयोग करते हैं साथ ही इसके पस को हाथों से दबाकर निकालने की कोशिश करते हैं। ऐसे में अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी एसोसिएशन के अनुसार ऐसा कुछ भी करना आपकी इन समस्यायों को और ज्यादा बढ़ा सकता है। इसलिए इन्हें प्राकृतिक रूप से ठीक होने दें, अन्यथा एक्ने के साथ छेड़छाड़ करना त्वचा पर कभी न मिटने वाला निशान छोड़ सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

4. त्वचा को बार-बार हाथ से न छुएं

अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी एसोसिएशन के अनुसार त्वचा को बार बार हाथों से छूना एक्ने और पिंपल की समस्या का कारण हो सकता है। क्योंकि हाथों से हम हर तरह का काम करते हैं, जिस वजह से इनमें बैक्टीरिया और वायरस का बसेरा होता है। ऐसे में त्वचा को बार-बार हाथों से छूने से बैक्टीरिया चेहरे पर ट्रांसफर हो जाता हैं और यह आपके पोर्स में जमी गंदगी से अट्रैक्ट हो सकता है। जिस वजह से एक्ने की समस्या और ज्यादा बढ़ती है, साथ ही इसे नियंत्रित रख पाना मुश्किल हो जाता है। इसलिए इसे जितना हो सके उतना नजरअंदाज करने की कोशिश करें।

त्वचा को बार बार हाथों से न छुएं। चित्र शटरस्टॉक।

5. मेकअप करने से बचें

जरूरत से ज्यादा मेकअप प्रोडक्ट का इस्तेमाल त्वचा के पोर्स में बैठ जाता है ऐसे में पोर्स बंद हो जाते हैं। जिस वजह से एक्ने की समस्या होने की संभावना बनी रहती है। साथ ही इनमें मौजूद केमिकल स्किन इन्फेक्शन और एलर्जी का कारण बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें : बदलते मौसम में बाल रहने लगे हैं ऑयली तो ट्राई करें ये 5 इंस्टेंट हैक्स

अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख