वैलनेस
स्टोर

#DareToChange : चीनी नहीं खानी है? तो चाय-कॉफी में इन चीजों से घोलें मिठास

Updated on: 5 April 2021, 18:18pm IST
मोटापा, डायबिटीज, थकान और सुस्‍त त्‍वचा के जोखिम से बचना है तो आहार में चीनी कम करना जरूरी है। पर इसका अर्थ जीवन से मिठास कम करना नहीं है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
चीनी खाना मना है तो चाय में इस्तेमाल करें ये नेचुरल स्वीटनर. चित्र : शटरस्टॉक

चीनी स्वास्थ्य के लिए कितनी हानिकारक है यह सभी जानते हैं। हम सभी ने कभी-न-कभी अपनी डाइट में से चीनी हटाने के बारे में ज़रूर सोचा होगा। एक बार को मिठाई, केक, चॉकलेट, पेस्ट्री से मन हटा भी लें, फिर भी चाय-कॉफी में चीनी कैसे कम करें?

यह एक ऐसी समस्या है जिसका आपको कोई हल नहीं दिखता होगा! क्योंकि चाय बगैर चीनी के अच्छी नहीं लग सकती और चाय छोड़ना सबके वश की बात नहीं। मगर आपको चिंता करने की कोई ज़रुरत नहीं है, क्योंकि हर बार की तरह हमारे पास आपकी इस समस्या का समाधान है।

आप अपने आहार में नेचुरल स्वीटनर को शामिल कर सकती हैं। यानी चीनी के बजाय इसके प्राकृतिक स्रोत। इन प्राकृतिक स्वीटनर को हम फ्रुक्टोज के नाम से भी जानते हैं, जो शरीर के लिए कम हानिकारक होते हैं। तो, आइये जानते हैं कि आप चाय में चीनी की जगह क्या इस्तेमाल कर सकती हैं।

1 गुड़

चाय में चीनी के बजाय गुड़ का इस्तेमाल करें। यह स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। गुड़ आपके शरीर के तापमान को नियंत्रित रखता है। इतना ही नहीं ये एंटी-एलर्जिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर है, जो अस्थमा के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है।

गुड़ आपके फेफड़ों क लिए लाभदायक है इसलिए ,चाय में करें इस्तेमाल। चित्र: शटरस्‍टॉक
गुड़ आपके फेफड़ों क लिए लाभदायक है इसलिए ,चाय में करें इस्तेमाल। चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आपको खांसी या जुकाम है तो चाय में गुड़ आपको और भी राहत देगा। बस ध्यान रखें कि चीनी की तरह गुड़ को चाय बनाते समय न डालें, बल्कि बाद में मिलाएं जब चाय हल्की गुनगुनी हो।

2 शहद

हम सभी इस बात से अवगत हैं कि शहद गुणों से भरपूर है। यह चीनी की जगह एक बेहतर विकल्प है। शहद को कभी भी दोबारा गर्म नहीं किया जाता, क्योंकि आयुर्वेद के अनुसार एक ही गुणधर्म वाली चीजें साथ में खाने से तबीयत बिगत सकती है। इसलिए, चाय जब बनकर हल्की गुनगुनी हो जाए तभी इसमें स्वादानुसार शहद मिलाएं।

3 किशमिश

आप चाय या कॉफी को मीठा करने के लिए उसमें किशमिश भी उबाल सकती हैं। ऐसा करने से चाय में बढ़िया स्वाद भी आयेगा और ये सेहत के लिए भी फायदेमंद बन जाएगी। बस चाय का दूध उबालते समय इसमें अपने स्वादानुसार किशमिश या छुहारा मिलाएं और बाद में चाय पत्‍ती एड करें। किशमिश का सेवन करने से शरीर में कभी भी खून की कमी नहीं होती। इससे हड्डियां भी मज़बूत रहती हैं।

4 कोकोनट शुगर

जी हां.. आपने सही सुना कोकोनट शुगर यानी नारियल से बनी हुई चीनी। ये आजकल काफी प्रचलन में है और फिटनेस फ्रीक लोगों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। ये आपके ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करती है और अन्य चीनी की तरह रिफाइंड नहीं है। इसलिए, आप चाय में मॉडरेशन में कोकोनट शुगर का भी प्रयोग कर सकती हैं।

चीनी की जगह चाय में इस्तेमाल करने दालचीनी । चित्र-शटरस्टॉक
चीनी की जगह चाय में इस्तेमाल करने दालचीनी । चित्र-शटरस्टॉक

5 दालचीनी

आप चाय में चीनी की जगह दालचीनी भी डाल सकते हैं। हालांकि, कहने को यह एक मसाला है लेकिन, इसमें हल्का मीठा स्वाद होता है जो आपकी चाय को एक अलग और बेहतर स्वाद देगा। दालचीनी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को संक्रमण से बचाते हैं। हमारी सलाह मानिए और चाय में दालचीनी मिलाकर देखिये। सच में आप इसका स्वाद भूल नहीं पाएंगी।

यह भी पढ़ें : पॉलिश्ड बनाम अनपॉलिश्ड : जानिए कौन सी दाल है आपकी सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद 

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।