और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

एसिडिटी और छाती में जलन से परेशान हैं, तो वीगन चाय के साथ करें सुबह की शुरूआत, यहां है रेसिपी

Updated on: 22 September 2021, 11:21am IST
चाय पीना किसे पसंद नहीं होगा? सुबह नींद को भगाने वाली गर्म चाय की प्याली से लेकर शाम के स्नैक्स के साथ की चुस्की तक, चाय सबका पसंदीदा बेवरेज है। पर अगर आप वीगन हैं और चाय पीना चाहती हैं, तो आपके लिए लाए हैं वीगन चाय की हेल्दी रेसिपी।
अदिति तिवारी
  • 101 Likes
acidity aur jalan se pareshan hai toh vegan chai peeye
एसिडिटी और छाती में जलन से परेशान हैं तो वीगन चाय पीयें। चित्र: शटरस्टॉक

दुनिया भर में वीगनिज़्म बहुत तेजी से बढ़ रहा है। फिट रहने और वजन कम करने के लिए यह डाइट फिटनेस इंडस्ट्री में काफी फॉलो की जा रही है। अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए आप में से बहुत से लोग भी वीगन डाइट फॉलो करते होंगे। पर क्या वीगनिज़्म के कारण आप अपनी मसाला चाय मिस करती हैं? तो हम आपके लिए लाए हैं टोटल वीगन टी। जो न सिर्फ हेल्दी है, बल्कि टेस्टी भी है। और इसमें आपकी मसाला चाय के सारे गुण हैं। तो फिर देर किस बात की, आइए जानते हैं वीगन चाय की रेसिपी और उसके फायदे। 

क्या है वीगन चाय ? 

दुनिया भर में वीगनिज़्म तेजी से बढ़ रहा है। इसमें लोग केवल प्लांट बेस्ड फूड का ही सेवन करते हैं। जबकि साधारणत: चाय बनाने के लिए डेयरी मिल्क यानी पशुओं से प्राप्त दूध का प्रयोग किया जाता है।

वीगन चाय बनाने के लिए आप पशुओं से प्राप्त दूध की बजाए प्लांट बेस्ड मिल्क जैसे सोया मिल्क या आल्मंड मिल्क का इस्तेमाल किया जाता है। ये चाय उन लोगों के लिए भी फायदेमंद है लो लेक्टोज इंटोलरेंस हैं।   

vegan chai high blood pressure aur madhumeh ke rogiyon ke liye shreshth vikalp hai
वीगन चाय हाई ब्लड प्रेशर और मधुमेह के रोगियों के लिए श्रेष्ठ विकल्प है। चित्र : शटरस्टॉक

क्यों साधारण चाय से ज्यादा स्पेशल है वीगन चाय 

 वीगन चाय के कई स्वास्थ्य-संबंधी लाभ हैं जैसे:

  • यह चाय एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant) से भरपूर होता है, जिससे आप जल्दी बीमार नहीं पड़ेंगे। वीगन चाय हाई ब्लड प्रेशर और मधुमेह के रोगियों के लिए श्रेष्ठ विकल्प है।
  •  दूध की चाय की तुलना में वीगन चाय में कम फैट होता है, जिससे आपका कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) नियंत्रित रहता है। इससे वजन कम और हृदय स्वस्थ रहता है। 
  • दुनिया भर में शाकाहार के प्रति बढ़ते रुझान और जागरुकता के कारण भी इस चाय को पसंद किया जा रहा है। यह आपको पर्यावरण के प्रति ज्यादा संवेदनशील भी बनाती है। यह कार्बन फुटप्रिंट (carbon footprint) को कम करता है। 
  • इस चाय के सेवन से एसिडिटी, जलन या  अन्य पेट के रोग नहीं होते हैं। यह आपके कैलरी इंटेक को भी कम रखता है। 

यहां जानिए वीगन चाय की आसान रेसिपी?   

1. इसके लिए आपको चाहिए : 

  • वीगन मिल्क जैसे बादाम का दूध (almond milk) या सोया मिल्क (soya milk) – 1 कप 
  • पानी – 1/4 कप 
  • चाय पत्ती – 1 छोटी चम्मच  
  • ब्राउन शुगर या गुड़ – स्वादानुसार 
  • चाय मसाला- 1/2 छोटी चम्मच 
  • अदरक – 1 छोटा टुकड़ा 
  • पुदीना पत्ता – 3 या 4 पत्ते
vegan chai mein pudina aapko kayi swasthya labh pradan karti hai
वीगन चाय में पुदीना आपको कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है। चित्र-शटरस्टॉक।

 

2. वीगन चाय बनाने की विधि :

  • एक पतीले में पानी डालकर गैस ऑन कर लें। 
  • अब पानी में चाय पत्ती, ब्राउन शुगर या गुड़ डालकर उबाल आने दें। 
  • पानी उबलते ही उसमें चाय मसाला डालें। अदरक का टुकड़ा भी घिसकर डाल दें।
  • साथ में पुदीने के पत्ते को मसलकर पानी में डालें और थोड़ी देर पकाएं। 
  • रंग और खुशबू आते ही आंच धीमी कर दें। 
  • अब आप बादाम का दूध (almond milk) या सोया मिल्क (soya milk) डाल सकते हैं। 
  • दूध डालते ही बिना रुके चाय को चम्मच से हिलाते रहें। ध्यान रखें कि आंच धीमी ही रहे। 
  • तेज आंच पर पकाने या उबाल आने पर इसमें कड़वापन आने  का डर रहता है। 
  • 2-3 मिनट बाद या उबाल आने से पहले ही गैस बंद कर दें। 
  • चाय को कप में छान लें और गरमा गरम पिएं। 

 तो लेडीज,  अपनी वीगन डाइट को पूरा करने के लिए जल्दी बनाएं यह वीगन चाय। 

यह भी पढ़ें: अल्जाइमर और मेमोरी लॉस के जोखिम से बचा सकती हैं आपकी रसोई में मौजूद ये 5 आयुर्वेदिक हर्ब्स

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !