लीकी गट में राहत दिला सकते हैं हेल्दी और टेस्टी जामुन गोंद कतीरा ड्रिंक, नोट करें रेसिपी

अगर आपकी आंत की परत से बैक्टीरिया और विषाक्त पदार्थ ब्लड फ्लो में जा रहे हैं, तो आपको लीकी गट की समस्या हो सकती है। एक गट डायटीशियन से जानें इस समस्या में मददगार हेल्दी और टेस्टी जामुन गोंद कतीरा ड्रिंक तैयार करने की रेसिपी।
Body ko kare detox
इसके सेवन में शरीर में मौजूद टॉक्सिक पदार्थों को भी बाहर निकाला जा सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 12 May 2023, 16:07 pm IST
  • 125

यदि हमारा भोजन सही तरीके से पाच नहीं पाता है, तो हमें कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। लीकी गट सिंड्रोम उनमें से एक है। यह एक पाचन स्थिति है, जिसमें आंतों की परत बैक्टीरिया और विषाक्त पदार्थों को ब्लड फ्लो में जाने देती है। यह आंतों के लाइनिंग की परमियेबिलिटी को प्रभावित करता है। यह क्रोहन और अन्य बीमारियों में भूमिका निभा सकता है। गट न्यूट्रिसनिष्ट बताती हैं कि गर्मी में जामुन और गोंद कतीरा ड्रिंक पीने से लीकी गट की समस्या से राहत मिल सकती है।

क्या है लीकी गट (Leaky Gut)

हार्मोन बैलेंस और गट हेल्थ डायटीशियन मनप्रीत अपने इन्स्टाग्राम पोस्ट में बताती हैं, ‘लीकी गट एक ऐसी स्थिति है, जहां आंतों की लाइनिंग आवश्यकता से बहुत अधिक परमिएबल हो जाती है। इसके कारण बिना पचे हुए खाद्य कण, विषाक्त पदार्थ और अन्य पदार्थ का ब्लड फ्लो में रिसाव होने लगता है। यह इम्यून सिस्टम को ट्रिगर कर सकता है और सूजन को जन्म दे सकता है।

नाश्ते और दोपहर के भोजन के बीच लिया जा सकता है हेल्दी ड्रिंक

कई खाद्य पदार्थ लीकी गट के रिसाव को खत्म करने में मदद कर सकते हैं। मनप्रीत के अनुसार, नाश्ते और दोपहर के भोजन के बीच में जामुन और गोंड कतीरा ड्रिंक को लेना चाहिए। गट हेल्थ को दुरुस्त करने के लिए मध्याह्न भोजन के रूप में लगभग 11 बजे इसका आनंद लिया जा सकता है। यह मैजिकल ड्रिंक इंसुलिन सेंसिटिविटी, इम्युनिटी डाइजेशन और न्यूट्रीएंट के एबजोर्पशन को बढ़ावा देता है।

यहां है जामुन और गोंद कतीरा ड्रिंक तैयार करने की विधि

जरूरी सामग्री
जामुन – 4-5
गोंद कतीरा – 1 बड़ा चम्मच
तुलसी के बीज – 1 छोटा चम्मच (भीगे हुए)
नारियल पानी – 200 मिली

इस तरह करें तैयार

जामुन के बीज निकाल कर अच्छी तरह से मैश कर लें।
गोंद कतीरा को भी 2 स्पून पानी में घुलने के लिए डाल दें।
एक घंटे बाद यह अच्छी तरह घुल जायेगा।
एक गिलास नारियल पानी में मैश किये हुए जामुन और गोंद कतीरा मिक्स कर लें।
इसमें तुलसी के बीज भी मिला लें।
अच्छी तरह मिलने के बाद यह ड्रिंक तैयार हो गई। इसे डायबिटीज के पेशेंट भी ले सकते हैं।

जानिए आपके लिए क्यों फायदेमंद है यह स्पेशल समर कूलेंट (Summer coolant) 

जामुन (Black plum)

जामुन विटामिन ए, विटामिन सी, आयरन, कैल्शियम, फॉस्फोरस जैसे मिनरल्स से भरपूर होता है। यह ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत कर स्किन और बालों में सुधार करता है। यह हृदय स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है।जामुन पाचन को बढ़ावा देकर वजन घटाने में मदद करता है। यह शरीर से अत्यधिक वसा को आसानी से हटा देता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
Jamun ke fayde
जामुन पाचन को बढ़ावा देकर वजन घटाने में मदद करता है। चित्र पिक्साबे

गोंद कतीरा (Gond katira)

गोंद कतीरा में फाइबर, सोडियम और विटामिन डी भी मौजूद होते हैं। ये इम्यून सिस्टम को मजबूत करते हैं। आंत के स्वास्थ्य और पाचन के लिए गोंद कतीरा सबसे बढिया है।

gond katira for skin
आंत के स्वास्थ्य और पाचन के लिए गोंद कतीरा सबसे बढिया है।. चित्र : शटरस्टॉक

इसमें लैक्सेटिव गुण होते हैं। यह जो कब्ज की रोकथाम में सहायता करते हैं। गोंद कतीरा एंजाइम पाचन में सहायता करते हैं और बोवेल मूवेमेंट को नियंत्रित करते हैं

कोकोनट वाटर (Coconut water)

नारियल पानी मिनरल्स और इलेक्ट्रोलाइट्स जैसे- पोटेशियम, कैल्शियम, मैंगनीज, एंटीऑक्सिडेंट, अमीनो एसिड और साइटोकिनिन से भरपूर होता है।

health and beauty benefits of coconut water
कोकोनट वाटर अन्य रसों के विपरीत कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट और शुगर में कम होता है। चित्र शटरस्टॉक।

यह अन्य रसों के विपरीत कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट और शुगर में कम होता है। यह पाचन तंत्र को भी मजबूती देता है

तुलसी सीड्स (Tulsi seeds)

ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं तुलसी के बीज। वजन कम करने, हृदय स्वास्थ्य और पाचन तंत्र में सुधार, तनाव कम करने में यह मदद करता है। तुलसी के बीज ब्लड ग्लूकोज लेवल, ब्लड प्रेशर और लिपिड लेवल को नियंत्रित कर मेटाबोलिज्म में मदद करते हैं।

यह भी पढ़ें :- Makhana Recipes : खाना चाहती हैं कुछ हल्का और हेल्दी, तो ट्राई करें 3 मखाना रेसिपीज

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख