इस मौसम में खाएं स्वाद और सेहत से भरपूर कुल्फा का साग, जानिए इसकी हेल्दी रेसिपी

Published on: 6 February 2022, 14:00 pm IST

घर पर बड़ी आसानी से बनाएं कुल्फा के पत्तों का साग, जो बेहद फायदेमंद और स्वादिष्ट है। हम बता रहे हैं इसकी झट - पट रेसिपी।

banaen kulfa saag
सर्दियों में खाएं हेल्दी कुल्फा साग रेसिपी. चित्र : शटरस्टॉक

सर्दियों के मौसम में तरह-तरह के साग से दुकानें हरी भरी दिखाई देती है, मानो सेहत का खजाना आपको पास बुला रहा है। सरसों का साग, मक्के की रोटी बथुआ के पराठे मैथी की सब्जी चने का साग आपका ध्यान आकर्षित करते हैं ।

ऐसे की कुल्फा के पत्ते भी आपने देखे होगे, इसकी डन्ठल और पत्ते दोनों ही काम में आते हैं, यह आसानी से खेतों और कहीं भी अन्य पौधो के साथ उग आता है। अगर आपने नहीं बनाया है, तो आज ही ट्राई करें कुल्फा का साग। यह स्वाद और सेहत दोनों में भरपूर है।

इसका साग बड़ी ही आसानी से बन जाता है क्योंकि इसे अन्य सागोन की तरह ज़्यादा काटना – छांटना नहीं पड़ता है। तो देर किस बात की चलिये जानते हैं कुल्फा का साग बनाने की रेसिपी

कुल्फा का साग बनाने के लिए आपको चाहिए

कुल्फा के पत्ते, 2 कप धोकर बारीक कतरे हुए
सरसों का तेल 1 बड़ा चम्मच
सरसों के दाने 1 छोटा चम्मच
जीरा 1 छोटा चम्मच
धनिया के बीज 1 छोटा चम्मच
हरी मिर्च, 3 कटी हुई
नमक

कुल्फा का साग बनाने का तरीका

पत्तों को थोड़े से नमक के साथ नरम होने तक उबालें।
पेस्ट में पीस लें। एक तरफ रख दें।
सरसों का तेल गरम करें। राई, जीरा, हरी मिर्च, धनियां और लाल मिर्च को तड़के।
कुल्फा पेस्ट डालें। 2-3 मिनट के लिए भूनें।
नमक और पानी को आवश्यकतानुसार स्वाद और स्थिरता के अनुसार समायोजित करें।
कुल्फा का साग रोटी के साथ परोसें।

अब जानिए आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है कुल्फा

यह अद्भुत हरी पत्तेदार सब्जी कैलोरी और वसा में कम होती है। फिर भी, यह आहार फाइबर, विटामिन और खनिजों में समृद्ध है।

किसी भी अन्य पत्तेदार वनस्पति पौधे की तुलना में कुल्फा आश्चर्यजनक रूप से अधिक ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है। 100 ग्राम ताज़े पर्सलेन के पत्ते लगभग 350 मिलीग्राम α-लिनोलेनिक एसिड प्रदान करते हैं।

अध्ययनों से पता चलता है कि ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थों के सेवन से कोरोनरी हृदय रोग, स्ट्रोक का खतरा कम हो सकता है और बच्चों में एडीएचडी, ऑटिज्म और अन्य विकारों के विकास को रोकने में मदद मिल सकती है।

यह विटामिन-ए का एक उत्कृष्ट स्रोत है। विटामिन-ए एक ज्ञात शक्तिशाली प्राकृति एंटीऑक्सीडेंट और दृष्टि के लिए एक आवश्यक विटामिन है। त्वचा को बनाए रखने के लिए भी यह आवश्यक है।

पर्सलेन भी विटामिन-सी का एक समृद्ध स्रोत है। यह कुछ बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन जैसे राइबोफ्लेविन, नियासिन, पाइरिडोक्सिन और कैरोटीनॉयड से भी समृद्ध है। साथ ही साथ खनिज, जैसे आइरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, पोटेशियम और मैंगनीज से भरपूर है।

यह भी पढ़ें : Benefits Of Oats: ये 8 कारण बनाते हैं ओट्स को ऑलटाइम हेल्दी ब्रेकफास्ट

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें