वेट लॉस कर अपनी ड्रीम ड्रेस में फिट होना है, तो इन 5 साउथ इंडियन फूड्स को करें डाइट में शामिल

साउथ इंडियन खाना अब पूरे देश में पसंद किया जाने लगा है। ये स्वादिष्ट खाना न आपकी क्रेविंग को शांत करता है बल्कि आपके वजन को कम करने में भी मदद करता है।
सभी चित्र देखे south indian for weight loss
उपमा सूजी से बना एक स्वादिष्ट भोजन है, जिसे स्वादिष्ट दलिया के रूप में बनाया जाता है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 7 Feb 2024, 05:24 pm IST
  • 134

क्या आप अपना वजन कम करना चाहते हैं लेकिन सही डाइट नहीं ढूंढ पाते है? क्या आप सिर्फ सलाद या प्रोटीन पाउडर पर जीवित रहकर थक गए हैं? वजन कम करने की कोशिश करते समय अपने पसंदीदा खाद्य पदार्थों से समझौता किए बिना स्वादिष्ट, स्वस्थ और कम कैलोरी वाली डाइट ढूंढना अक्सर चुनौतीपूर्ण हो सकता है। तो, आइए हम वजन घटाने के लिए एक शानदार और कम कैलोरी वाले साउथ इंडियन भोजन के बारे में आपको बताते है।

आप कुछ ही खाद्य पदार्थों से केवल 1200 से 1500 कैलोरी सेवन और कुछ मध्यम शारीरिक गतिविधि करके, आप पोषण और स्वाद से समझौता किए बिना अच्छी मात्रा में वजन कम करने की उम्मीद कर सकते हैं। सर्वोत्तम वजन घटाने के परिणामों का आनंद लेने के लिए नियमित व्यायाम के रूटिन का पालन करना आवश्यक है।

इस बारे में अधिक जानकारी के लिए हमने बात की डॉ. राजेश्वरी पांडा से, डॉ. राजेश्वरी पांडा मेडिकवर अस्पताल, नवी मुंबई में पोषण और आहार विज्ञान विभाग की एचओडी है।

millet idli
इडली साउथ इंडियन व्यंजनों का प्रमुख हिस्सा है। चित्र- अडोबी स्टॉक

वजन कम करने के लिए 5 साउथ इंडियन फूड

1 खूब सारी सब्जियों वाला उपमा

उपमा सूजी से बना एक स्वादिष्ट भोजन है, जिसे स्वादिष्ट दलिया के रूप में बनाया जाता है। इसे आप दलिए के स्थान पर भी खा सकते है, जिसे गाजर, मटर और शिमला मिर्च जैसी पौष्टिक सब्जियों के मिश्रण के साथ बनाया जाता है। यह एक पेट भरने वाला और पौष्टिक व्यंजन है जिसमें कैलोरी हमारे अपेक्षा से बहुत कम होती है, जो इसे वजन घटाने के लिए उपयुक्त बनाती है।

अतिरिक्त फाइबर के लिए, होल ग्रेन सूजी का विकल्प चुनें। यह व्यंजन आमतौर पर नारियल की चटनी या सांबर के साथ परोसा जाता है, लेकिन एक स्वस्थ विकल्प के लिए, आप इसे ताजे फल या दही के साथ खा सकते है।

2 बाजरे से बनी हुई इडली

इडली साउथ इंडियन व्यंजनों का प्रमुख हिस्सा है। फर्मेंटिड चावल और दाल के घोल से बने, इन फूले हुए केक को भाप में पकाया जाता है, जिससे उनमें वसा की मात्रा कम हो जाती है। आपको बाजरे की इडली खानी चाहिए, जिनमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है और यह आपको लंबे संतुष्ट रख सकती है।

बाजरा कई तरीके के होते हैं। ये छोटे-छोटे बीज होते हैं, जिन्हें पीस कर आटा बनाया जाता है। मूल्यवान पोषक तत्वों से भरपूर, ये अनाज न केवल पूरे स्व्स्थ्य के लिए बल्कि एक पौष्टिक और हेल्दी डाइट विकल्प है जो वजन कम करने के लिए बहुत अच्छा है।

3 सूप के जैसा रसम

रसम एक तीखा और चटपटा सूप है जो इमली के रस, टमाटर, मसालों और अलग अलग मसालों से बनाया जाता है। इसमें कैलोरी की संंख्या बहुत कम होती है और यह आपके वजन घटाने वाली डाइट का एक संपूर्ण हिस्सा हो सकता है। रसम को आमतौर पर चावल के साथ परोसा जाता है, लेकिन कम कैलोरी वाले विकल्प के लिए, आप इसे सूप के रूप में पी सकते हैं। यह विटामिन ए और सी से भरपूर होता है। ये आपकी इम्यूनिटी के लिए बहुत जरूरी है।

rasam for weight loss
रसम एक तीखा और चटपटा सूप है जो इमली के रस, टमाटर, मसालों और अलग अलग मसालों से बनाया जाता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

4 दाल का डोसा

विभिन्न दालों के पोषक तत्वों के साथ, आप ये उम्मीद जरूर कर सकते हैं कि यह अत्यधिक पौष्टिक होगी और स्वादिष्ट डिनर के रूप में खाया जा सकता है। उड़द दाल के अलावा, हरी मूंग दाल, अरहर दाल, पीली मूंग दाल और चना दाल का उपयोग करके एक शानदार डोसा बैटर बनाया जा सकता है। इससे आप एक स्वादिष्ट डोसा बना सकते है जिसमें बहुत कम कैलोरी होगी।

5 पीरकंगई कूटू

इस व्यंजन को बनाने के लिए मूंग दाल, तुरई और नारियल का उपयोग किया जाता है। एक स्वादिष्ट तड़का इस दाल के व्यंजन का स्वाद बढ़ा देता है। इसे आप चावल, डोसा, चपाती किसी भी चीज़ के साथ खा सकते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

आप इसे सामान्य तौर पर तोरी की दाल भी कह सकते हैं। दक्षिण भारत में इसे ज्यादातर चावल के साथ खाया जाता है। आप चाहें तो इसे डोसा या इडली के साथ भी खा सकते हैं। लो कैलोरी होने के कारण ये वेट लॉस फ्रेंडली फूड है।

ये भी पढ़े- क्या थायराॅइड में नहीं खानी चाहिए मूंगफली? एक आहार विशेषज्ञ से जानते हैं इसका जवाब

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख