बदलते मौसम में इम्युनिटी बढ़ानी है, तो आजमाएं ये 2 विंटर ड्रिंक, नहीं पड़ेंगी बार-बार बीमार

रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी के कारण अक्सर लोग जल्दी-जल्दी बीमार होने लगते हैं। इसलिए जरूरी है कि अपनी डाइट का ख्याल रखा जाए। यहां ऐसी ही दो हेल्दी ड्रिंक्स हैं, जो आपको अंदर से मजबूत बनाएंगी।
आंवला समग्र सेहत के लिए फायदेमंद है। चित्र शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 21 November 2022, 16:57 pm IST
ऐप खोलें

बदलते मौसम में सर्दी-खांसी होना आम बात है। लेकिन यह उन लोगों को जल्दी होती है जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) कम होती है। किसी भी बीमारी से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता एक अहम भूमिका निभाती है। यह अच्छी डाइट और व्यायाम से बढ़ाई जा सकती है। इसलिए आज हेल्थशॉट्स की टीम आपके लिए ऐसी दो हेल्दी ड्रिंक्स (Immunity booster drinks) लेकर आयी है, जिससे आप बदलते मौसम में भी स्वस्थ रह सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इन्हें बनाने की विधि।

नोट कीजिए इम्युनिटी बढ़ाने वाली 2 हेल्दी ड्रिंक्स

1. आंवला गाजर का रस

आंवला और गाजर का जूस पीने से एनर्जी मिलती है और शरीर स्वस्थ रहता है। आपको इस जूस का सेवन सुबह खाली पेट करना होता है।

  • इसके बनाने के लिए आपको आंवला और 1/2 कप गाजर लेनी है।
  • इन दोनों को ही 1 गिलास पानी डालकर मिक्सर में पीस लें।
  • बस गाजर और आंवले का जूस तैयार है। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आप हर रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन कर सकती हैं।

2. आंवला, चुकंदर, अदरक पुदीने का रस

इस जूस का सेवन सुबह खाली पेट करने से इम्युनिटी बूस्ट होती है और बीमारियों का जोखिम कम होता है।

  • आंवला- 2
  • चुकंदर- 1/2 कप
  • संतरा- 1
  • अदरक- 1 इंच
  • पुदीना- 1/2 कप
  • पानी-1 गिलास
कच्ची सब्जियां कई पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। चित्र शटरस्टॉक
  • उपरोक्त् सभी सामग्रियों को मिक्सर में पीस लें और इसका जूस बना लें।
  • संतरा मिला होने के कारण यह जूस ज्यादा गाढ़ा नहीं होगा।
  • अगर आप चाहें तो संतरा छोड़ भी सकती हैं।
  • पिस जाने के बाद इन्हें मोटी छननी में छानें और गिलास में डालें।
  • लीजिए तैयार है आपका इम्युनिटी बूस्टर ड्रिंक।

यह भी पढ़े- स्किन की कई समस्याओं से राहत दिला सकता है कपूर, जानें इसके 5 DIY पैक

अब जानिए आपकी सेहत के लिए क्यों खास हैं ये 2 ड्रिंक्स

1. इसमें आंवला है

आंवला विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, आयरन और कैल्शियम से भरपूर होता है। इसका समृद्ध पोषण मूल्य आपको अंदर से मजबूत बनाकर बीमारियों से बचाता है।

इम्युनिटी बढ़ाता है- आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है जो इम्यून फंक्शन को मजबूत करने में मदद करता है। विटामिन सी एक एंटीऑक्सीडेंट है जो कोशिका क्षति और सूजन को कम करता है। यह एंटीबॉडी और प्रतिरक्षा कोशिकाओं को विकसित करने में भी मदद करता है।

बालों को पोषण देता है- आंवला विटामिन सी, अमीनो एसिड, टैनिन और आवश्यक फैटी एसिड से भरपूर होता है जो बालों को पोषण देता है। आंवला का तेल बालों के रोम को मजबूत करने और रूसी को कम करने में मदद कर सकता है। यह एक प्राकृतिक हेयर कंडीशनर के रूप में भी काम करता है, बालों के विकास को बढ़ाता है और बालों को समय से पहले सफ़ेद होने से रोकता है।

स्वस्थ त्वचा बनाए रखता है- आंवला को सबसे अच्छा एंटी-एजिंग माना जाता है। इसमें उच्च मात्रा में कोलेजन प्रोटीन होता है जो स्किन को टाइटनिंग और मुलायम बनाता है। आंवला में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट झुर्रियों को कम करने और स्किन एजिंग को रोकने में मदद कर सकते हैं।

यह भी पढ़े- मोटापा बढ़ा सकता है ड्राई फ्रूट्स का ज्यादा सेवन, जानिए एक दिन में कितने मेवे खा सकती हैं आप

दिल की सेहत में सुधार करता है- आंवला में विटामिन सी की मात्रा दिल की सेहत के लिए बहुत अच्छी होती है। आंवला हृदय रोग के लिए कई जोखिम कारकों को कम करने के लिए जाना जाता है जैसे ट्राइग्लिसराइड्स के उच्च स्तर, एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) और हाई ब्लड प्रेशर। यह हृदय रोग से जुड़ी सूजन को कम करता है, और रक्त के थक्के बनने से रोकता है जिससे दिल का दौरा और स्ट्रोक का खतरा कम हो सकता है।

एनीमिया से राहत दिलाता है- आंवला आयरन से भरपूर होता है जो शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या और हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। जिससे एनीमिया का जोखिम कम होता है।

आंखों के लिए भी है फायदेमंद- आंवले का सेवन समग्र नेत्र स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है। सिर्फ इतना ही नहीं यह उम्र के साथ होने वाले मोतियाबिंद और ग्लूकोमा के जोखिम को भी कम करने के लिए जाना जाता है।

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद है अदरक, चित्र: शटरस्टॉक

2. पाचन तंत्र दुरूस्त रखती है गाजर

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन) द्वारा किए गए शोध में यह सामने आया है कि गाजर में एंटीऑक्सीडेंट गुण शामिल होते हैं, जो फ्री रेडिकल्स के प्रभाव से बचा सकते हैं। यह मधुमेह व कैंसर के जोखिम से राहत दिलाने में सहायता कर सकती है। इसका इस्तेमाल विभिन्न प्रकार के हृदय रोगों से बचाने में भी मददगार साबित हो सकता है। इसका सेवन बेहतर पाचन तंत्र के लिए भी किया जा सकता है। वहीं, गाजर डाइटरी फाइबर और कैरोटीनॉयड जैसे बायोएक्टिव कंपाउड से भी भरपूर होती है, जो आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है।

3. एंटी डायबिटिक है चुकंदर

चुकंदर के हाइपोग्लेमिक गुणों की वजह से मधुमेह के प्राकृतिक इलाज के रूप में इसका सेवन किया जा सकता है। चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट तत्व ब्लड प्रेशर को नियंत्रित कर हृदय रोग और हृदयाघात से बचा सकता है। इसके अलावा, चुकंदर में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण शरीर की सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

4. दर्द और ऐंठन से निजात दिलाती है अदरक

एनसीबीआई की साइट पर पब्लिश एक रिसर्च के मुताबिक, अदरक पेट दर्द, कब्ज, पेट की ऐंठन, मरोड़ व गैस जैसी कई परेशानियों से राहत दिलाने में मददगार हैं। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ प्रिवेंटिव मेडिसिन द्वारा की गयी रिसर्च में पाया गया, इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइन्फ्लामेट्री और इम्यूनोन्यूट्रीशन गुण भी शामिल होता है। यह प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा देने में भी सहायता कर सकता है

5. बॉडी हीट को शांत करता है पुदीना

औषधीय गुणों की वजह से इसका इस्तेमाल सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। टफ्ट्स यूनिवर्सिटी द्वारा की गयी रिसर्च के अनुसार, इसमें एंटीवायरस, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल और एंटीट्यूमर के साथ ही एंटी-एलर्जेनिक गुण भी शामिल होते हैं, जो बॉडी के लिए लाभदायक होते हैं।

यह भी पढ़े- 40 के बाद ड्राई होने लगी है स्किन, तो जानिए उसे कैसे बनाना है नेचुरली सॉफ्ट और यंग

लेखक के बारे में
निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story