तनाव की छुट्टी कर सकती है रेड रास्पबेरी टी, शोध बता रहे हैं इसका प्रभाव

किसी कारण तनाव हो गया है, तो रेड रास्पबेरी टी लें। शोध बताते हैं कि रेड रास्पबेरी टी स्ट्रेस बस्टर है। इसमें मौजूद कंपाउंड तनाव घटाने में मदद कर सकते हैं।

रेड रास्पबेरी टी तनाव को कम करने में मदद करते हैं। चित्र : पिक्साबे
स्मिता सिंह Published on: 15 January 2023, 18:30 pm IST
  • 125
इस खबर को सुनें

रोजमर्रा के जीवन में घर-बाहर कई तरह की परेशानियां झेलनी पडती हैं। इससे तनाव, अवसाद होना लाजिमी है। यदि हम लंबे समय तक स्ट्रेस में रहते हैं, तो कई गंभीर मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं। कई दवा स्ट्रेस को कम करते हैं। लेकिन उनके अपने साइड इफ़ेक्ट हैं। इसलिए हमारे पास ऐसा उपचार होना चाहिए, जो स्ट्रेस को कम करने में मदद कर सके। साथ ही कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हो। रिसर्च बताते हैं कि रेड रास्पबेरी तनाव को कम करने में मदद करते (Red raspberry tea for stress) हैं।

क्या कहती है रिसर्च (Research on Raspberry Tea) 

रेड रास्पबेरी या लाल रसभरी (Rubus idaeus folium) एक प्रकार का फल है। इनका चाय के रूप में प्रयोग किया जाता है। रिसर्च के अनुसार इनमें बायोएक्टिव यौगिक मौजूद होते हैं, जिनसे स्वास्थ्य को लाभ मिलता है। बायोमेड रिसर्च इंटरनेशनल जर्नल में रास्पबेरी पर एक शोध आलेख प्रकाशित हुआ। चीन के मेंटल हेल्थ यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता यानहुआ चेन, ज़िया यांग, जियानकुन फ़ेंग ने रास्पबेरी एक्सट्रैक्ट पर शोध किया। इसके लिए उन लोगों ने चूहों पर प्रयोग किया। चूहों को दो ग्रुप में बांटा गया। एक ग्रुप को रेड रास्पबेरी टी (Red Raspberry Tea) दी गई। दुसरे ग्रुप को नहीं दिया गया। कई सप्ताह नियमित रूप से फ्रूट टी देने के बाद जांचा गया। इसके आधार पर उन्होंने यह निष्कर्ष निकाला कि रेड रास्पबेरी एक्सट्रैक्ट इन्फ्लेमेशन और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद की। इससे चूहों में अवसाद जैसे व्यवहार को घटाने में मदद मिली।

कौन- कौन से गुण होते हैं रेड रास्पबेरी में

शोधकर्ताओं ने बताया कि रेड रास्पबेरी में एंटी इन्फ्लेमेट्री और एंटीऑक्सिडेंट गुण पाए जाते हैं। यह कैंसर से बचाव करने में भी एक प्राकृतिक उत्पाद के रूप में कार्य करते हैं। इसमें विभिन्न आवश्यक पोषक तत्व और सक्रिय कंपाउंड शामिल होते हैं। एंथोसायनिन, टैनिन, ब्रास, कार्बनिक एसिड (फेनोलिक एसिड सहित), फैटी एसिड, ज़ाइलान जैसे इसमें प्रमुख कंपाउंड हैं।

इसमें सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेज़ भी पाए गये, जिनमें एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं। जो फ्री रेडिकल्स से बचाव करते हैं। एंटी इन्फ्लेमेट्री और अन्य औषधीय प्रभाव के कारण मोटे चूहों के हार्ट और हार्ट संबंधी एओरटा (Aorta) में सुपरऑक्साइड आयनों के प्रोडक्शन को भी रोकने में रेड रास्पबेरी को सक्षम पाया गया। यह लिवर ग्लूटाथियोन पेरोक्सीडेज और सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेज की गतिविधियों को बढ़ावा दे सकता है।

कैसे घटता है तनाव (Red raspberry tea for stress) 

शोध में तनाव के लक्षणों पर इसके प्रभाव को मापा गया। अलग-अलग ट्रीटमेंट के बाद रेंडम ग्रुपिंग की गई। इसके बाद तनाव और अवसाद जैसे व्यवहार के परीक्षण किए गए। चूहों के हिप्पोकैम्पस टिश्यू की जांच की गई।

तनाव कम करने के लिए  लाल रसभरी की चाय पी सकती हैं । चित्र : शटरस्टॉक

हिप्पोकैम्पस इंसान और अन्य मैमेल के मस्तिष्क का एक प्रमुख भाग है। यह लॉन्ग टर्म मेमोरी और तनाव के बारे में बताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जांच में पाया गया कि हिप्पोकैम्पस टिश्यू में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और इन्फ्लेमेट्री गुणों में कमी आई। इससे तनाव और अवसाद जैसे व्यवहार में सुधार हुआ। चूहों में हिस्टोपैथोलॉजिकल क्षति कम हो पाई।

रेड रास्पबेरी के अन्य पोषक तत्व (Red raspberry nutrients) 

न्यूट्रीएंट जर्नल के अनुसार, रेड रास्पबेरी में जिंक, मैगनीशियम, कैल्शियम, विटामिन ई, विटामिन सी के अलावा, विटामिन बी काम्प्लेक्स भी मौजूद होता है। यह स्ट्रेस को कम करने में मदद करता है।

Raspberry-leaves
रेड रास्पबेरी में जिंक, मैगनीशियम, कैल्शियम, विटामिन ई, विटामिन सी के अलावा, विटामिन बी काम्प्लेक्स भी मौजूद होता है। चित्र: शटरस्टॉक

यह चाय स्ट्रेस दूर कर ओवरआल हेल्थ में सुधार करता है। यह मेटाबोलिज्म को सक्रिय करता है। यह डीटोक्सिफायर का भी काम करता है। जिससे बढ़ा हुआ वजन कम होने में मदद मिलती है। यदि वेट गेन के कारण आपको स्ट्रेस है, तो आप रेड रास्पबेरी टी ले सकती हैं।

कैसे लें रेड रास्पबेरी टी

रेड रास्पबेरी को लो फ्लेम पर उबालें।
इसे छान कर पीयें।

दिन भर में 1-2 बार रेड रास्पबेरी टी पी सकती हैं। ये स्ट्रेस बस्टर का काम करेगी।

यह भी पढ़ें :- आयुर्वेद में बताई ये 7 घरेलू चीजें कर सकती हैं हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल, जानिए कैसे

  • 125
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें