बोरिंग ब्रेकफास्ट से भर गया है मन? नोट कीजिए अक्की रोटी यानी राइस रोटी की रेसिपी

Published on: 18 February 2022, 11:00 am IST

फैंसी ब्रेकफास्ट की बजाए क्यों न इस बार कर्नाटक का ये हेल्दी ब्रेकफास्ट ट्राई करें। ये न केवल पोषण से भरपूर हैं, बल्कि वेट लॉस में भी मददगार है।

Akki roti ki recipe
सुबह के नाश्ते के लिए परफेक्ट है अक्की रोटी। चित्र : शटरस्टॉक

मौसम के बदलने से स्वाद भी बदल जाता है। सर्दियों के मौसम में जहां मटर का नाश्ता ज्यादा पसंद किया जा रहा था, वहीं अब मौसम बदलने के साथ स्वाद में परिवर्तन जरूरी है। लेकिन अगर आप वही पुराने ब्रेकफास्ट बना कर थक चुकी हैं तो अक्की रोटी की रेसिपी आपको और आपके परिवार को उंगलियां चाटने पर मजबूर कर देगी। यह सिर्फ एक टेस्टी रेसिपी ही नहीं है, बल्कि हेल्दी भी है। 

नाम से अगर आपको यह डिनर की रेसिपी लग रही है, तो ऐसा नहीं है, यह कर्नाटक का एक मशहूर ब्रेकफास्ट है। रेसिपी से पहले चलिए आपको अक्की की रोटी के बारे में कुछ विशेष बताते हैं।

जानिए क्या है अक्की रोटी? 

राइस फ्लोर रोटी (Rice flour Roti) या अक्की रोटी (Akki Roti) एक पारंपरिक और प्रसिद्ध व्यंजन है, जिसे चावल के आटे से तैयार किया जाता है। इसको कर्नाटक और दक्षिण भारत के कई हिस्सों में सुबह के नाश्ते का अहम हिस्सा माना जाता है। स्वादिष्ट दिखने के साथ-साथ यह सेहत के लिए भी लाभदायक है। इसे बनाने के लिए चावल के आटे का इस्तेमाल किया जाता है। अक्की रोटी को तीखी लाल चटनी के साथ या नारियल की चटनी के साथ परोसा जाता है। पारंपरिक भाषा में इसे अक्की हिट्टु के नाम से जानते हैं।

वेट लॉस फ्रेंडली है अक्की रोटी या चावल की रोटी 

 2 अक्की रोटियों का एक सामान्य सर्विंग में 430 कैलोरी होती है। जिसमें वसा से कैलोरी 90, कुल कार्बोहाइड्रेट सामग्री 64 ग्राम, कुल वसा सामग्री 30.0 g, प्रोटीन 5.0 g शामिल है।

जानिए आपके लिए क्यों फायदेमंद है चावल के आटे से बनी ये रोटी 

  1. ग्लूटेन फ़्री है चावल का आटा

ग्लूटेन फ्री है चावल का आटा। चित्र : शटरस्टॉक

एनसीबीआई की डाटा के अनुसार राइस फ्लोर ग्लूटेन फ्री होता है। इसकी यहीं खासियत ऐसे आपकी सेहत के लिए लाभदायक बनाता है। यदि आप सीलिएक रोग से पीड़ित हैं तो यह आपके लिए बहुत फायदेमंद है। सीलिएक रोग एक पाचन समस्या है जो ग्लूटेन के संपर्क में आने पर प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करती है।

  1. फाइबर से भरपूर है राइस फ्लोर 

खाने में फाइबर की मात्रा होना कितना अहम है इस बात से सभी वाकिफ हैं। फाइबर की कमी को पूरा करने के लिए चावल का आटा एक बेहतरीन विकल्प है। इसमें मौजूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है, रक्त शर्करा के स्तर में सुधार कर सकता है और पाचन में मदद कर सकता है।

  1. प्रोटीन से भरपूर है राइस फ्लोर 

राइस फ्लोर में विटामिन की मात्रा काफी अधिक होती है जोश के लिए काफी लाभदायक है। वही अगर चावल का आटा ब्राउन राइस तैयार किया गया हो तो उसमें विटामिन बी की मात्रा काफी अधिक होती है।

यहां हैं चावल के आटे में मौजूद पोषक तत्व 

यूएसडीए के अनुसार, 100 ग्राम राइस फ्लोर में, 366 कैलोरी, 1.4 ग्राम कुल वसा, 0 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल, 0 मिलीग्राम सोडियम,76mg पोटेशियम, 80 ग्राम कुल कार्बोहाइड्रेट, 6 ग्राम प्रोटीन, 1% कैल्शियम, 2% लोहा,8% मैग्नीशियम, 20% विटामिन बी-6 होता है।

चलिए बनाते हैं राइस फ्लोर रोटी (Akki Roti )

फटाफट नोट कीजिए सामग्री  ( 2 serving ) 

  1. दो कप चावल का आटा
  2. प्याज और गाजर जरूरत अनुसार (Chopped)
  3. अदरक, हरी मिर्च स्वाद अनुसार (Chopped)
  4. जीरा, धनिया पत्ती
  5. नमक और तेल जरूरत अनुसार 
आसानी से बन जाती है अक्की की रोटी। चित्र : शटरस्टॉक

जानिए अक्की रोटी बनाने की विधि 

  1. सबसे पहले एक कटोरी में चावल का आटा लें। उसमें बारीक कटी हुई प्याज, गाजर, नमक, जीरा, धनिया, मिर्ची शामिल करें।
  2. सभी को अच्छी तरह मिक्स कर लें। अब गर्म पानी शामिल करते हुए एक नरम आटा तैयार कर ले।
  3. आप रोटी का आकार कितना बड़ा रखना चाहती हैं उसके अनुसार लोई बना लें। दूसरी तरफ तवा चढ़ा लें।
  4. रोटी बेलने के लिए। चकले पर सिल्वर फॉयल या बटर पेपर,या कोई पोलिथिन बिछाए और उस पर लोई रखें। अब अपने हाथ को हल्का गीला करके रोटी तैयार करें। यह बिल्कुल वैसे ही है जैसे आप पापड़ बनाती हैं। ध्यान रहे कि आप रोटी के बीच में अपनी उंगली से छेद जरूर करें।
  5. आपका तवा गर्म हो चुका होगा उस पर तेल लगाएं, और पत्नी समेत रोटी को पलट कर रख दें। अपनी रोटी से हटा दें। ऐसे थोड़ी देर के लिए ढककर रख दें। 2 मिनट बाद रोटी पलटे और थोड़ा तेल चुपड़े। आप की रोटी पकने के बाद तैयार हो जाएगी इसे तीखी लाल चटनी के साथ परोसें।

विशेष सलाह 

इस रोटी को बनाने के लिए सिफारिश की जाती है कि आप बारीक पिसा हुआ चावल का आटा ही इस्तेमाल करें। अन्यथा मोटे आटे के साथ रोटी बनाना आपके लिए मुश्किल का काम हो सकता है। यदि आटा मोटा रह जाता है तो आपको बेसन मिलाने की आवश्यकता पड़ सकती है।

यह भी पढ़े : वेट लॉस फ्रेंडली इस स्ट्रॉबेरी हलवे के साथ पूरी करें अपने मीठे की क्रेविंग, नोट कीजिए आसान रेसिपी

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें