ब्लड प्रेशर कंट्रोल कर हार्ट को हेल्दी रखते हैं तिल-गुड़ के लड्डू, नोट कीजिए हेल्दी रेसिपी

हमारे पारंपरिक खानपान में अकसर मौसम बदलने के साथ कुछ खास चीजों को शामिल किया जाता है। ताकि उस मौसम में होने वाले स्वास्थ्य जोखिमों को कम किया जा सके।
teel aur gud ke laddu ki recipi
यहां है तिल गुड़ के लड्डू की पारंपरिक रेसिपी और इसके फायदे। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published: 13 Dec 2022, 06:23 pm IST
  • 130

सर्दियां शुरू होते ही सर्दी, खांसी और कफ जैसे विभिन्न प्रकार के संक्रमण, दिल से जुड़ी बीमारियां और हाई ब्लड प्रेशर का जोखिम बढ़ जाता है। खास कर सर्दी बच्चे और बुजुर्गों को जल्दी प्रभावित करती है। ऐसे में सभी को सेहत के प्रति अधिक सावधानी बरतनी चाहिए। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए सबसे जरूरी है एक सही डाइट का ध्यान रखना। इसलिए ठंड के मौसम में हमारी मां, नानी और दादी बरसों से कुछ पारंपरिक व्यंजन बनाती आ रहीं हैं। जो न केवल स्वादिष्ट होते हैं, बल्कि इस मौसम में होने वाले स्वास्थ्य संबंधी जोखिमों से भी बचाते हैं। ऐसा ही एक पारंपरिक सर्दियों का व्यंजन है तिल और गुड़ का लड्डू (til gud ladoo recipe)। आइए जानते हैं इसके स्वास्थ्य लाभ और बनाने का तरीका।

आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर तिल और गुड़ दोनों ही सर्दियों में काफी फायदेमंद होते हैं। आयुर्वेद हो या मेडिकल साइंस दोनों में ही प्रमाणित रुप से इनके फायदों का वर्णन किया गया है। इसलिए आज हम लेकर आए हैं गुड़ और तिल से बने लड्डू की स्वादिष्ट रेसिपी। साथ ही जानेंगे यह सेहत के लिए किस तरह काम करती हैं।

यहां जानें तिल और गुड़ के लड्डू की लाजवाब रेसिपी

इसे तैयार करने के लिए आपको चाहिए

तिल
गुड़
मूंगफली
घी
इलायची पाउडर
ड्राई कोकोनट (क्रश किया हुआ)

इन स्टेप्स के साथ तैयार करें पोषक तत्वों से भरपूर तिल गुड़ के लड्डू

एक पैन को माध्यम आंच पर गर्म होने के लिए चढ़ा दें। अब इसमें तिल डालें और इन्हें अच्छी तरह चलाते हुए ड्राई रोस्ट कर लें। फिर तिल को निकाल कर साइड में रख दें।

अब मूंगफली को डालकर ड्राई रोस्ट करें और इसे निकल लें। जब यह थोड़ा ठंडा हो जाये तो इसे ब्लेंडर में डालकर ब्लेंडर को 1 से 2 बार चलाएं और इन्हें दरदरा पीस लें।

ठीक इसी तरह ड्राई कोकोनट को भी हल्के से घी के साथ रोस्ट करके रख लें।

अब पैन में घी डालें और उसे गर्म होने दें, फिर गुड़ डाल दें और जब तक गुड़ पिघल न जाए इसे चारो और से अच्छी तरह चलाती रहें।

जब गुड़ पूरी तरह पिघल जाए, तो इसमें तिल, मूंगफली, कोकोनट और इलाइची पाउडर डाल दें और सभी को साथ में 2 से 3 मिनट तक एक साथ मिलाएं। फिर गैस बंद कर दें।

अब इसे किसी प्लेट में निकल लें और 5 से 7 मिनट तक ठंडा होने के लिए छोड़ दें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

फिर अपनी हथेलियों पर घी लगाएं और लड्डुओं के आकार के अनुसार चम्मच से इस मिश्रण को निकल कर अपनी हथेली पर रखें।

अब दोनों हथेली की मदद से इसे लड्डू का आकार दें। ठीक इसी तरह पूरे मिश्रण से छोटे- छोटे लड्डू तैयार करके किसी ट्रे में रख लें।

ऊपर से कोकोनट पाउडर स्प्रिंकल करते हुए इसे गार्निश करें। सेहत एवं स्वाद से भरपूर लड्डू बनकर तैयार हैं। आप इन्हें एयरटाइट कंटेनर में महीना भर के लिए स्टोर कर सकती हैं। पर इन्हें गर्मागर्म खाने का अपना ही आनंद है।

यह भी पढ़ें : आपको अंदर से गर्म रखती है मूंगफली, जानिए सर्दियों के आहार में इसे शामिल करने का तरीका

til gud ke ladoo apki winters me andar se warm rakhenge
तिल गुड के लड्डू आपको सर्दियों में अंदर से गर्म रखने में मदद करेंगे। चित्र: शटरस्टॉक

जानिए सर्दियों में आपके लिए क्यों फायदेमंद हैं तिल और गुड़ के लड्डू

तिल आपकी सेहत के साथ साथ बालों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। रिसर्चगटे द्वारा तिल के पोषक तत्वों को लेकर प्रकाशित डेटा के अनुसार तिल में आयरन, फाइबर और ओमेगा 6 फैटी एसिड की भरपूर मात्रा मौजूद होती है। यह सभी पोषक तत्व सेहत के लिए काफी फायदेमंद मने जाते हैं।

सर्दी में बाल से जुडी समस्या होना बिलकुल आम है ऐसे में तिल में मौजूद ओमेगा 6 फैटी एसिड बालों से जुडी समस्या जैसे की ड्राइनेस और डैंड्रफ से निजात पाने में मदद करती हैं। साथ ही यह हेयर ग्रोथ को भी प्रमोट करता है।

सर्दियों में तिल का सेवन शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा को बढ़ा देता है। जो इम्युनिटी को बूस्ट करने में मदद करती हैं। जिस वजह से होने वाले संक्रमण से लड़ना आसान हो जाता है। इसके साथ ही यह विंटर स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद होता है।

इस मौसम में हार्ट से जुड़ी समस्यायों का खतरा भी बढ़ जाता है। ऐसे में तिल में मौजूद मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद करता है। साथ ही यह हाई ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल कर सकता है। जिससे हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा भी कम होता है।

यह भी पढ़ें :  इन 4 कारणों से आपको अपनी विंटर डाइट में जरूर शामिल करनी चाहिए काली मिर्च

gond ke laddu banane ka tareeka
गुड़ के कई स्वास्थ्य लाभ है। चित्र-शटरस्टॉक.

सर्दी में शरीर को गर्म रखता है गुड़

आयुर्वेद के अनुसार गुड़ की तासीर गर्म होती है। इसलिए सर्दियों में इसके सेवन को फायदेमंद माना गया है। यह शरीर में मेटाबॉलिज्म को बढ़ा देता है। जिस वजह से बॉडी अंदर से गर्म रहती है। साथ ही यह ब्लड वेसल्स को फैला देता है, जिस वजह से ब्लड फ्लो सही रहता है और दिल से जुड़ी समस्याएं होने का खतरा भी कम हो जाता है।

पब मेड सेंट्रल द्वारा प्रकाशित डेटा की माने तो गुड़ में एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और मिनरल्स मौजूद होते हैं। इसका सेवन शरीर को पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करता हैं और इम्युनिटी को मजबूत बनाने में मदद करता हैं। ऐसे में ठंड में होने वाले सर्दी खांसी के संक्रमण को नियंत्रित रखा जा सकता है।

एक सिमित मात्रा में गुड़ का सेवन रेस्पिरेटरी सिस्टम,लंग्स, पेट और फ़ूड पाइप को डेटोक्सीफाई करने में मददगार हो सकता है। इसलिए इसे शरीर के लिए एक बेहतरीन क्लींजिंग एजेंट के तौर पर जाना जाता है।

ठड में जोड़ों का दर्द बढ़ जाता है। ऐसे में गुड़ में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं जिस वजह से ये जोड़ो के दर्द में फायदेमंद हो सकता है। वहीं सर्दियों में गुड़, घी और अदरक जैसे पदार्थों का सेवन जोड़ों के दर्द को ठीक करने और हड्डियों की सेहत को बनाये रखने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें : सुबह आंख नहीं खुल पाती, तो इन 6 एक्टिविटीज से रखें सर्दियों में खुद को फिट

  • 130
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख