और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

इस मानसून हमसे जानिए इम्युनिटी बढ़ाने वाले 4 कुकिंग ऑयल के बारे में

Published on:1 August 2021, 09:00am IST
पकौड़े, भजिया या दाल-सब्जी कुकिंग ऑयल कई माध्यमों से आपके पेट में जाते हैं। तो क्या इनका इस्तेमाल आपकी इम्युनिटी बढ़ाने में नहीं किया जा सकता!
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 94 Likes
सप्ताह में केवल दो से तीन बार ही लोहे की कड़ाही में खाना बनाएं। चित्र: शटरस्‍टॉक
जानिए इम्युनिटी बढ़ाने वाले 4 कुकिंग ऑयल के बारे में। चित्र : शटरस्टॉक

खानपान में कुकिंग ऑयल एक बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। अगर आपके द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला कुकिंग ऑयल हेल्दी है, तो आपका खाना भी हेल्दी बनेगा और अगर खाना पकाने का तेल स्वस्थ नहीं है तो, आप इसमें बना जो कुछ भी खाएंगी वह आपके शरीर को नुकसान ही पहुंचाएगा।

आजकल बाज़ार में कई तरह के कुकिंग ऑयल मिलने लगें हैं, जिनमें प्लांट बेस्ड ऑयल से लेकर सीड ऑयल तक सभी शामिल हैं। इन नये – नये कुकिंग ऑयल को बेहद स्वास्थवर्धक बताया जाता है और दावा किया जाता है कि यह आपकी इम्युनिटी बढ़ाने में भी कारगर हैं। मगर क्या वाकई कुकिंग ऑयल और इम्युनिटी का कोई कनैक्शन है? चलिए पता करते हैं..

क्या है कुकिंग ऑयल और इम्युनिटी का कनेक्शन

भारतीय खानपान में सालों से खाना पकाने के लिए सरसों के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार सरसों – इम्युनिटी बूस्ट करने में कारगर है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी के अनुसार सरसों में एलिल आइसोथियोसाइनेट्स (एआईटीसी) नमक एक रोगाणुरोधी एजेंट मौजूद होता है, जो सर्दी-जुकाम के इलाज और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। सरसों के तेल में जीवाणुरोधी और एंटिफंगल गुण होते हैं और यह हमारे पाचन तंत्र को हानिकारक संक्रमणों से बचाने में मदद करता है।

इसका मतलब यह है कि आप जिस भी खाद्य सामग्री से बना तेल इस्तेमाल करेंगे वह आपकी सेहत को ठीक वैसे ही लाभ पहुंचाएगा। उदाहरण के लिए सरसों के बीज इम्युनिटी बढ़ाने के लिए कारगर हैं, और ठीक ऐसे ही सरसों का तेल भी।

तिल का तेल बालों को पोषण प्रदान करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
तिल का तेल स्वास्थ्य को पोषण प्रदान करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आइये जानते हैं अन्य तेल के बारे में जो आपकी इम्युनिटी बढ़ाने में कारगर हो सकते हैं

1. तिल का तेल

तिल का तेल विटामिन B6, विटामिन E मैग्नीशियम, कैल्शियम, जिंक, कॉपर और फ्लेवोनोइड्स फेनोलिक एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध होता है। ये सभी पोषक तत्व तिल के तेल को एक शक्तिशाली प्रतिरक्षा-उत्तेजक और खाना पकाने के लिए स्वस्थ बनाते हैं।

2. मूंगफली का तेल

मूंगफली का तेल विटामिन E से भरपूर होता है जो एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली प्रदान करने के लिए एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है और यह रक्त के थक्कों को भी रोकता है। मूंगफली के तेल में रेस्वेराट्रोल जैसे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं और आपको वायरल, फंगल और बैक्टीरिया के संक्रमण से बचाते हैं।

3. नारियल का तेल

नारियल का तेल गट हेल्थ के लिए फायदेमंद है। एक अच्छी गट हेल्थ प्रतिरक्षा समारोह का समर्थन करती है और रूमेटोइड गठिया जैसी ऑटोम्यून्यून समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। इसमें लॉरिक एसिड होता है, जिसमें जीवाणुरोधी, एंटीवायरल और एंटीपैरासिटिक गुण होते हैं, जो समग्र स्वास्थ्य के लिए बेहद फादेमंद हैं।

ओलिव ऑयल एक बेहतरीन इम्युनिटी बूस्टर है। चित्र: शटरस्‍टॉक
ओलिव ऑयल एक बेहतरीन इम्युनिटी बूस्टर है। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. ऑलिव ऑयल

यह एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध है जो रक्तचाप को कम करता है और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ाता है। यह सलाद की ड्रेसिंग करने के लिए अच्छा है लेकिन उच्च तापमान पर खाना पकाने के लिए नहीं। ज्यादातर डॉक्टर इसे इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं, क्योंकि यह हार्ट हेल्थ के लिए भी फायदेमंद है।

ऐसे ही आप अन्य ऑयल्स का भी इस्तेमाल खाना पकाने में कर सकती हैं, बस ध्यान रहे कि वे शुद्ध हों और उच्च पोषक तत्वों से भरपूर हों!

यह भी पढ़ें : किडनी को रखना है लंबे समय तक स्वस्थ, तो इन 6 सुपरफूड्स को जरूर करें आहार में शामिल

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।