2023 में भी आपको फिट एंड फाइन रखेंगी 2022 की ये 6 अच्छी आदतें

शरीर को फिट रखने के लिए एक्सरसाइज के साथ-साथ खानपान की अच्छी आदतों को फॉलो करना भी जरूरी है। यहां हैं एक्सपर्ट के बताए 6 टिप्स, जिन्हें अपनाकर आप अपने फिटनेस गोल को हासिल कर सकती हैं।

khane ke sath paani soch samajh kar pien
खाने के साथ पानी सोच समझ कर पिएं। चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 20 December 2022, 14:23 pm IST
  • 125

फिट रहने के लिए एक्सरसाइज जरूरी है। फिजिकल एक्टिविटी भी जरूरी है। ये दोनों तभी कारगर होंगे जब खानपान सही होगा। हेल्दी और लंबी उम्र के लिए न केवल पौष्टिक भोजन जरूरी है, बल्कि उसे ठीक तरह से और सही समय पर खाना भी जरूरी है। विशेषज्ञ कहते हैं कि खानपान की अच्छी आदतें ही फिटनेस को अपने लक्ष्य तक पहुंचा सकती हैं। जिंदल नेचर केयर इंस्टीट्यूट की चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. बबीना एन एम से बता रहीं हैं उन 6 अच्छी आदतों के बारे में जिन्होंने आपको इस साल फिट रहने में मदद की। यही आदतें (healthy eating habits to stay healthy) आने वाले कई सालों तक आपको हेल्दी लाइफ दे सकती हैं।

डॉ. बबीना एन एम कहती हैं कि कुछ बातों पर यदि खानपान की कुछ आदतों पर ध्यान दिया जाए, तो फिटनेस का लक्ष्य हासिल करना आपके लिए कठिन नहीं होगा।

यहां हैं एक्सपर्ट के बताये 5 टिप्स, जो फिटनेस गोल हासिल करने में मदद कर सकते हैं

1 भोजन को ध्यान देकर खाएं (mindful eating)

अक्सर घर-ऑफिस की जिम्मेदारी पूरा करने के चक्कर में हमलोग जल्दी-जल्दी खा लेते हैं। हमें यह भी पता नहीं चल पाता है कि हमने क्या खाया और शरीर पर इसके क्या प्रभाव पड़ सकते हैं। जब भी आप खाएं ध्यान देकर खाएं। चबा कर खाएं। चबा कर नहीं खाने से भी मोटापा बढ़ता है। हम एक साथ ढेर सारा खाना लेकर खाने बैठते हैं। कभी-भी एक साथ ढेर सारा खाना नहीं खाएं। थोड़ा-थोड़ा कर खाएं। कई बार थोड़ा-थोडा खाने से पाचन की क्रिया भी ठीक ढंग से हो पाती है। वजन भी कंट्रोल रहता है।

2 पोर्शन कंट्रोल कर खाएं (portion control)

डॉ. बबीना कहती हैं, ‘पोर्शन कंट्रोल करने का अर्थ है सब कुछ खाने की बजाय पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेना। इसकी मात्रा संतुलित होनी चाहिए।

Bhojan ki matra niyantrit kare
भोजन की मात्रा नियंत्रित करने से आपका वजन नहीं बढ़ेगा और आप फिट रहेंगी । चित्र: शटरस्‍टॉक

बहुत बड़ी प्लेट का चुनाव करने की बजाय छोटी प्लेट में भोजन लेना। नियंत्रित रूप से भोजन लेने पर हम ओवरईटिंग से बच जाते हैं।’

3 नाश्ते को स्किप नहीं करें (don’t skip breakfast)

अक्सर हम अपना टास्क पूरा करने के फेर में नाश्ता स्किप कर जाते हैं। फिटनेस गोल हासिल करने में ये ईटिंग हैबिट सबसे बड़ी बाधा बनते हैं। ब्रेकफ़ास्ट स्किप करने पर हम लंबे समय तक भूखे रहते हैं या झटपट मुंह में डाले जाने वाले जंक फ़ूड पास्ता, कुकी और पिज्जा डाल लेते हैं। यह कई रिसर्च से साबित हो चुका है कि ज्यादा देर तक भूखे रहने पर भी वजन बढ़ता है। साथ ही जंक फ़ूड खाने से भी वजन बढ़ जाता है।

4 हाथ को गाइड बनाएं (Hand your guide)

अपने हाथ को ऐसी आदत डालें कि वह हमेशा पोषक तत्वों से भरपूर भोजन देखकर ही आगे बढे़। वह प्रोटीन से भरपूर दालों, बीन्स, मांस, मछली की संतुलित मात्र ही प्लेट पर डाले। हाई-कार्ब फूड्स का भी सेवन करें। कम से कम 1 कप जरूर। साबुत अनाज को 3-6 सर्विंग के रूप में शामिल करें। प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और मिनरल्स जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं साबुत अनाज। इसमें विटामिन, खनिज, फाइटोकेमिकल्स और फाइबर का पूरा पैकेज है जो इन्हें इतना स्वास्थ्यवर्धक बनाता है।

5 मौसमी फलों और हरी सब्जियों को सेवन (green vegetables and fruits)

सब्जी और फल न सिर्फ एनर्जी देते हैं, बल्कि जरूरी मिनरल्स हड्डियों को मजबूत बनाते हैं। इनमें मौजूद फाइबर पेट की अच्छी तरह सफाई कर वजन घटाने में भी मदद करते हैं। समी मौसमी फलों और हरी सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करें।

hari sabziyon ke fayde
हरी पत्तेदार सब्जियों को करें अपनी डाइट में शामिल। चित्र : शटरकॉक

अलग-अलग तरह की सब्जियां खासकर गहरे हरे रंग की सब्जियों को अपने भोजन में जरूर शामिल करें। एक दिन में कम से कम 2 तरह के फलों को अपने दिन भर के आहार में शामिल करें।

6 खूब पानी पीयें

पानी किडनी के माध्यम से शरीर से टोक्सिंस बाहर निकालता है। शरीर की अंदर से सफाई करता है। इसलिए पानी दिन भर पीती रहें। दिन भर में 6-8 ग्लास पानी पीना जरूरी है। पानी से स्किन भी ड्राई नहीं हो पाती है। चमकदार स्किन आपकी फिटनेस में चार चांद लगा देती है। पानी के अलावा, कोई फिटनेस ड्रिंक लेना चाहती हैं, तो फैट फ्री दूध या जिसमें फैट की मात्रा बहुत कम ह, पीना चाहिए। आप लो फैट डेरी प्रोडक्ट्स भी ले सकती हैं।

यह भी पढ़ें :- प्रोटीन की पावर डोज है पिस्ता, पर क्या आप जानती हैं असली और नकली पिस्ता में फर्क?

  • 125
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें